--Advertisement--

बांसवाड़ा भास्कर

किसी भी धर्म में उसे बनाए रखने और बढ़ाने के लिए दूसरों को मारना अनिवार्य नहीं बताया गया है। -अब्दुल कलाम...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 04:05 AM IST
बांसवाड़ा भास्कर
किसी भी धर्म में उसे बनाए रखने और बढ़ाने के लिए दूसरों को मारना अनिवार्य नहीं बताया गया है।

-अब्दुल कलाम

बांसवाड़ा, शनिवार, 03 फरवरी, 2018

कुशलगढ़
फाल्गुन, कृष्ण पक्ष-3, 2074

पप्पू- पापा मुझे बाजा दिला दो। पापा- नहीं तुम सब को तंग करोगे। पप्पू- नहीं पापा कसम से जब अब सो जाएंगे तब मैं बजाऊंगा।

X
बांसवाड़ा भास्कर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..