Hindi News »Rajasthan »Ghatol» शराब के खिलाफ महिलाओं के विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस ने भट्टियां तोड़ी

शराब के खिलाफ महिलाओं के विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस ने भट्टियां तोड़ी

कलिंजरा क्षेत्र में चल रहे अवैध शराब के ढाबों और दुकानों बंद कराने को लेकर पिछले एक सप्ताह से महिलाएं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 10, 2018, 04:05 AM IST

कलिंजरा क्षेत्र में चल रहे अवैध शराब के ढाबों और दुकानों बंद कराने को लेकर पिछले एक सप्ताह से महिलाएं विरोधप्रदर्शन कर रही है।

महिलाओं के विरोध को देखते हुए कलिंजरा पुलिस ने शराब तस्करों के खिलाफ सख्ती दिखाते हुए शुक्रवार को देशी शराब की भट्टियां तोड़ी। साथ ही 200 बोतल देशी शराब, 26 बोतल बीयर और 1 हजार लीटर महुआ वाश को नष्ट किया।

थानाधिकारी देवीलाल ने दावा किया कि क्षेत्र में चल रहे शराब के ढाबों और दुकानों को हर हाल में बंद कराएंगे। साथ ही शराब तस्करों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करेंगे। देशी शराब के अड्डों को बंद कराने के लिए पुलिस ने विशेष टीम बनाई है।

पाटन में तस्कर गिरफ्तार

बड़ोदिया. अवैध शराब बनाते नई पाटन के गोपाल बंजारा को बड़ोदिया चौकी पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर 25 बोतल शराब बरामद की। साथ ही शराब की भट्टी को भी नष्ट किया। यह जानकारी चौकी प्रभारी राजेंद्रसिंह ने दी।

कलिंजरा क्षेत्र में शराब के अड्‌डे से बरामद की गई महुआ वाश।

बागीदौरा में 8 भट्टियां नष्ट कर 500 लीटर शराब बरामद की

बांसवाड़ा| बागीदौरा उपखंड क्षेत्र के गांवों में महिलाओं का अवैध शराब को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन ने अब आबकारी विभाग की नींद उड़ाकर रख दी है। महिलाओं के आक्रोश के कारण हरकत में आते हुए विभाग के अधिकारियों ने महज 2 दिन में बागीदौरा क्षेत्र में कई गांवों में कार्रवाई कर 8 अवैध भट्टियां नष्ट कर दी, वहीं 500 लीटर से ज्यादा हथकढ़ शराब बरामद की।

जिला आबकारी अधिकारी हरफुल चंडोलिया ने बताया कि दो दिनों में बागीदौरा, बड़ोदिया, काचरिया, छींच, नौगामा और बोड़ीगामा गांवों में कार्रवाई की गई है। वहीं दूसरी ओर, गढ़ी के सालोता और लांबी डूंगरी गांवों में कार्रवाई कर 60 लीटर हथकढ़ शराब, 12 बोतल बीयर बरामद की गई है। इसमें आरोपी तो माैके से फरार हो गए। दो के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज हुए हैं।

डीईओ ने बताया कि जगह जगह हो रहे विरोध प्रदर्शन के तहत विभाग की ओर से अभियान शुरू कर दिया गया है, जो आगे भी जारी रहेगा। फिलहाल विभाग के सामने भी कई समस्याएं है कि कई पद लंबे समय से खाली पड़े हुए हैं। कुशलगढ़ में सीआई नहीं है। घाटोल में पीओ का अभाव है। वहीं जिले में 32 सिपाहियों की तुलना में महज 12 सिपाही कार्यरत हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×