--Advertisement--

महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर घाटोल में नाटक का मंचन

महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर घाटोल में नाटक का मंचन घाटोल| भगवान महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर बुधवार को...

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 04:25 AM IST
महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर घाटोल में नाटक का मंचन
महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर घाटोल में नाटक का मंचन

घाटोल| भगवान महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर बुधवार को आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर परिसर में नाटक का मंचन किया गया। इसमें माता त्रिशला व सिद्धार्थ की भूमिका निभाने का सौभाग्य शिरीष सेठ परिवार को प्राप्त हुआ। सुबह 6 बजे तक अभिषेक पूजन, 8 बजे महावीर विधान विकास भैया और अजीत लालावत के सानिध्य में हुआ। इसके बाद मुनि समता सागरजी महाराज ने प्रवचन में कहा कि महावीर के जन्म कल्याण की तिथि चैत्र शुक्ल त्रयोदशी है। इस घाटोल नगरी को कुंडलपुरी नगरी बनाकर मन को प्रसन्नता होती है।

उन्होंने कहा कि श्रावक को रोज जिन पूजा और स्वाध्याय करना चाहिए। इस पावन पर्व को प्रत्येक घर दीप जलाकर खुशियों के साथ मनाना चाहिए। इस कार्यक्रम में नगर सेठ राजमल सेठ, बदामीलाल जोदावत, भानु कोठारी, बदामीलाल धीरावत, दीपेश लालावत, निमेश जोदावत समेत जैन समाजजन मौजूद रहे।

घाटोल| भगवान महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर बुधवार को आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर परिसर में नाटक का मंचन किया गया। इसमें माता त्रिशला व सिद्धार्थ की भूमिका निभाने का सौभाग्य शिरीष सेठ परिवार को प्राप्त हुआ। सुबह 6 बजे तक अभिषेक पूजन, 8 बजे महावीर विधान विकास भैया और अजीत लालावत के सानिध्य में हुआ। इसके बाद मुनि समता सागरजी महाराज ने प्रवचन में कहा कि महावीर के जन्म कल्याण की तिथि चैत्र शुक्ल त्रयोदशी है। इस घाटोल नगरी को कुंडलपुरी नगरी बनाकर मन को प्रसन्नता होती है।

उन्होंने कहा कि श्रावक को रोज जिन पूजा और स्वाध्याय करना चाहिए। इस पावन पर्व को प्रत्येक घर दीप जलाकर खुशियों के साथ मनाना चाहिए। इस कार्यक्रम में नगर सेठ राजमल सेठ, बदामीलाल जोदावत, भानु कोठारी, बदामीलाल धीरावत, दीपेश लालावत, निमेश जोदावत समेत जैन समाजजन मौजूद रहे।

मुनि समता सागरजी महाराज ने प्रवचन में कहा कि चैत्र शुक्ल त्रयोदशी हंै महावीरजी के जन्म कल्याण की तिथि

घाटोल. महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर नाटक का मंचन करते बच्चे।

घाटोल| भगवान महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर बुधवार को आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर परिसर में नाटक का मंचन किया गया। इसमें माता त्रिशला व सिद्धार्थ की भूमिका निभाने का सौभाग्य शिरीष सेठ परिवार को प्राप्त हुआ। सुबह 6 बजे तक अभिषेक पूजन, 8 बजे महावीर विधान विकास भैया और अजीत लालावत के सानिध्य में हुआ। इसके बाद मुनि समता सागरजी महाराज ने प्रवचन में कहा कि महावीर के जन्म कल्याण की तिथि चैत्र शुक्ल त्रयोदशी है। इस घाटोल नगरी को कुंडलपुरी नगरी बनाकर मन को प्रसन्नता होती है।

उन्होंने कहा कि श्रावक को रोज जिन पूजा और स्वाध्याय करना चाहिए। इस पावन पर्व को प्रत्येक घर दीप जलाकर खुशियों के साथ मनाना चाहिए। इस कार्यक्रम में नगर सेठ राजमल सेठ, बदामीलाल जोदावत, भानु कोठारी, बदामीलाल धीरावत, दीपेश लालावत, निमेश जोदावत समेत जैन समाजजन मौजूद रहे।

महावीर जन्म कल्याणक पर रथ यात्रा आज

बांसवाड़ा। भगवान महावीर का जन्म कल्याणक आज बांसवाड़ा श्री जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक संघ सूर्यानंद नगर की ओर से गुरुवार को भगवान महावीर का जन्म कल्याणक मनाया जाएगा। संघ के अध्यक्ष जगत सिंह चेलावत ने बताया कि गुरुवार सुबह 8:30 बजे से 9:30 बजे तक नवकारसी का आयोजन रखा गया है। बाद में भगवान की रथ यात्रा निकाली जाएगी। रथ यात्रा के बाद स्नात्र पूजन होगा। दोपहर में 3 बजे प्रवचन होंगे।

X
महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर घाटोल में नाटक का मंचन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..