Hindi News »Rajasthan »Ghatol» सुबह 8 बजे दिया बच्चे को जन्म, फिर 33 किमी दूर आंजना जाकर दी शिक्षक बनने की परीक्षा

सुबह 8 बजे दिया बच्चे को जन्म, फिर 33 किमी दूर आंजना जाकर दी शिक्षक बनने की परीक्षा

भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा/नौगामा शिक्षक भर्ती परीक्षा एक ऐसा इम्तिहान जिससे शायद की वागड़ का कोई घर वंचित...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 12, 2018, 04:30 AM IST

सुबह 8 बजे दिया बच्चे को जन्म, फिर 33 किमी दूर आंजना जाकर दी शिक्षक बनने की परीक्षा
भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा/नौगामा

शिक्षक भर्ती परीक्षा एक ऐसा इम्तिहान जिससे शायद की वागड़ का कोई घर वंचित होगा। 35 हजार पदों के लिए हुई इस परीक्षा में 8 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुए। बागीदौरा उपखंड में स्थित हरिपुरा गांव की महिला अभ्यर्थी तुलसी डामोर के लिए आज का दिन दोहरी खुशी वाला रहा।

सुबह 10 बजे परीक्षा का वक्त और उससे पहले सुबह 7 बजे ही महिला बच्चे काे जन्म दिया। जब सुबह गर्भवती महिला को सुबह दर्द उठा तो परिजन बागीदौरा सीएचसी लेकर पहुंचे। जहां सामान्य प्रसव कराया गया। जच्चा बच्चा दोनों की हालत स्वस्थ है। इधर प्रसव के ढाई घंटे के बाद महिला रीट की परीक्षा देने के लिए गढ़ी पंचायत समिति के आंजना गांव की राउमावि परीक्षा केंद्र पहुंची। जिसकी दूरी घर से 33 किमी है। परीक्षा के बाद वह वापस अस्पताल पहुंची।

अभ्यर्थियों की बाइक वैन से टकराई, तीन घायल

बांसवाड़ा. शहर में रीट की परीक्षा देने आए डूंगरपुर जिले के तीन अभ्यर्थी एक सड़क हादसे में घायल हो गए। अस्पताल चौकी पुलिस के अनुसार तीनों घायल डूंगरपुर जिले के थे। जो पृथ्वीगंज, अरावली कॉलेज और गोविंद गुरु कॉलेज में बने परीक्षा केंद्रों पर जाने वाले थे। लेकिन रास्ते में उनकी बाइक की भिडंत सामने से आ रही वेन से हो गई जिसमें तीनों बाइक सवार घायल हो गए। इस दौरान मौके पर मौजूद लोगों ने 108 एंबुलेंस को सूचना देकर घायलों को तत्काल एमजी अस्पताल पहुंचाया। हालांकि ज्यादा गंभीर चोंट नहीं लगने से तीनों ने प्राथमिक उपचार कराने के बाद रीट का एक्जाम दिया। इस घटना में सरोदा निवासी मगनलाल पुत्र गटूलाल डिडोल, अशोक पुत्र धिरजी कलासुआ और मुकेश पुत्र हूका डिडोल घायल हुए।

पालोदा : परीक्षा देने के कुछ घंटों के बाद शादी

पालोदा. कई महीनों की मेहनत के बाद शिक्षक भर्ती परीक्षा देने के कुछ ही घंटों बाद अभ्यर्थी ने शादी कर घर ली विदाई। ऐसा ही मामला जिले के पालोदा कस्बे में रविवार को सामने आया। कस्बे की भूमिका पंचाेली की रविवार को ही शादी की तय हुर्ई थी। इस कारण उसने सुबह 10 से 12.30 बजे तक बांसवाड़ा शहर में स्थित नूतन स्कूल में परीक्षा दी। परीक्षा देने के बाद गांव बरोड़िया में दोपहर 2 बजे शादी की रस्में शुरू हो गई। जहां शाम को 6 बजे अपने ससुराल के लिए विदाई ली। भूमिका का यह फैसला हर बेटी और पिता के लिए गर्व महसूस कराता है। जिसने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का अच्छा उदाहरण समाज के सामने रखा।

िनचला घंटाला परीक्षा केन्द्र में पेपर में से 20 प्रश्नों वाले दो पृष्ठ गायब

रीट परीक्षा केंद्र राजकीय सीनियर सैकंडरी स्कूल निचला घंटाला के कक्ष संख्या एक में रीट की परीक्षा देेने वाली अभ्यर्थी प्रियंका जैन से होश उस समय उड़े जब प्रश्न पत्र में दो पेज निकले हुए मिले। प्रियंका जैन ने बताया कि जब वह एक-एक कर प्रश्न हल कर रही थी कि उसी दौरान जब उसने एफ सीरीज का प्रश्न पत्र हल करने के लिए पृष्ठ खोजना शुरू किया तो 130 के बाद से लेकर 150 प्रश्नों वाले दो पेज ही गायब मिले। जब उसने वीक्षक से शिकायत की तो उन्होंने परीक्षा केंद्राधीक्षक को बताया। जब उस समय संबंधित अधिकारी वहां आए तो उन्होंने कहा कि आपको प्रश्न पत्र मिलते ही आपने चेक कर बताया होता तो कुछ किया जा सकता था लेकिन पेपर दिए कुछ समय बीतने के बाद बताने पर हम कुछ नहीं कर सकते हैं। इस बारे में समन्वयक प्रमोद वैष्णव ने बताया कि परीक्षा से पहले पेपर में किसी तरह की काट-छांट जांचने के लिए समय दिया जाता है। उसी वक्त बताना चाहिए था।

मंा परीक्षा दे रही थी और बाहर भूखा मासूम रो रहा था, गुहार नहीं मानी

घाटोल. शिक्षक बनने की चाह में रीट दे रहे महिला अभ्यर्थियों के बच्चों को उनके परिजनों ने संभाला। मां ने अंदर परीक्षा दी और बाहर बच्चों की परिजनों ने सार संभाल की। घाटोल बालिका स्कूल में प्रतापगढ़ से परीक्षा देने आई महिला गिरजा मईड़ा के साथ पति और 2 माह का मासूम भी आया था। भूख के कारण रो रहे बच्चे की मांग से मिलवाने के लिए एक परिजन ने पुलिसकर्मी से गुहार तक लगाई, लेकिन नियम आड़े आया। ऐसे में परिजन बच्चे को लेकर इधर उधर घूमते रहे और चुप कराया।

जैन युवा संगठन ने अभ्यर्थियों के लिए अल्पाहार और पानी की व्यवस्था की

घाटोल. जैन युवा संगठन घाटोल की ओर से रीट अभ्यर्थियों के लिए अल्पाहार और पीने के पानी की व्यवस्था की थी। दूरदराज से परीक्षा देने आए अभ्यर्थियों को जैन युवा संगठन के कार्यकर्ताओं ने चाय, नाश्ता और पानी की सुविधा मुहैया कराई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ghatol News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सुबह 8 बजे दिया बच्चे को जन्म, फिर 33 किमी दूर आंजना जाकर दी शिक्षक बनने की परीक्षा
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×