घाटोल

--Advertisement--

बांसवाड़ा भास्कर

बाधाएं वो डरावनी चीजें है, जो आप तब देखते हैं जब आप लक्ष्य से अपनी आंखें हटा लेते हैं। -हेनरी फोर्ड बांसवाड़ा,...

Dainik Bhaskar

Feb 24, 2018, 04:30 AM IST
बाधाएं वो डरावनी चीजें है, जो आप तब देखते हैं जब आप लक्ष्य से अपनी आंखें हटा लेते हैं।

-हेनरी फोर्ड

बांसवाड़ा, शनिवार, 24 फरवरी, 2018

कुशलगढ़
फाल्गुन, शुक्ल पक्ष-9, 2074

भिखारी- माता जी, क्या इस गरीब को केक मिलेगा? महिला- क्यों, रोटी से काम नहीं चल सकता? भिखारी- नहीं माता जी, चल सकता है, लेकिन मेरा आज बर्थ डे है।

X
Click to listen..