Hindi News »Rajasthan »Ghatol» तीर्थंकर पद प्राप्त करने वाली 16 भावनाओं के पर्व पर घाटोल जैन मंदिर में धार्मिक उत्सव

तीर्थंकर पद प्राप्त करने वाली 16 भावनाओं के पर्व पर घाटोल जैन मंदिर में धार्मिक उत्सव

घाटोल के जैन मंदिर में गुरुवार को उत्सव के दौरान प्रवचन सुनती महिलाएं। भास्कर संवाददाता| घाटोल कस्बे के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 09, 2018, 04:30 AM IST

घाटोल के जैन मंदिर में गुरुवार को उत्सव के दौरान प्रवचन सुनती महिलाएं।

भास्कर संवाददाता| घाटोल

कस्बे के आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में गुरुवार को तीर्थंकर पद को प्राप्त करने वाली 16 भावनाओं के पर्व पर जैन समाज की ओर से पूजा अर्चना की गई।

कार्यक्रम का प्रारंभ मंगलाचरण से किया। इसमें चित्र अनावरण, दीप प्रज्ज्वलन का सौभाग्य जिनवाणी चैनल के निदेशक राहुल जैन आगरा को प्राप्त हुआ। इस दौरान मुनि समता सागरजी ने तीन शब्द जन, जिन और जैन की व्याख्या करते हुए कहा कि जो मानव रूप में दिखाई दे, वह जन, जिसने इंद्रियों के विषयों को जीत लिया, वह जिन और मनुष्य बाहर से सबकुछ जी लेता है, लेकिन अंदर से कष्टदायक रहे तो उसने कुछ नहीं जीता। ऐलक निश्चय सागरजी ने भी धर्मसभा को संबोधित किया। इस दौरान अजित लालावत, भानु कोठारी, अनिल धीरावत, दीपेश लालावत, अंकेश सेठ, चेतनलाल सेठ, सुमतिलाल कोठारी, प्रवीण पारसोलिया, पिंटू उकावत, अजित मुंगाणिया, अरुण कोठारी, राहुल धीरावत उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×