Hindi News »Rajasthan »Ghatol» गर्भवती को किया रैफर, रास्ते में डिलीवरी, बच्चा नहीं बच सका

गर्भवती को किया रैफर, रास्ते में डिलीवरी, बच्चा नहीं बच सका

घाटोल तहसील के मकनपुरा गांव की गर्भवती जिसे परिजन प्रसव कराने के लिए एमजी अस्पताल लाए। यहां से गर्भवती इंदिरा प|ी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 09, 2018, 04:30 AM IST

गर्भवती को किया रैफर, रास्ते में डिलीवरी, बच्चा नहीं बच सका
घाटोल तहसील के मकनपुरा गांव की गर्भवती जिसे परिजन प्रसव कराने के लिए एमजी अस्पताल लाए। यहां से गर्भवती इंदिरा प|ी प्रभुलाल को गंभीर केस बताकर रैफर कर दिया। दोपहर 2 से एंबुलेंस को बुलाकर इंदिरा को उदयपुर के लिए भेज दिया गया।

मार्ग में एंबुलेंस उदयपुर पहुंचती, उसके पहले ही जयसमंद के पास महिला का प्रसव हो गया। ईएमटी हितेष गामोठ, मनोज मईडा और पायलट राजेश शर्मा ने बीच रास्ते में सामान्य प्रसव करा दिया, लेकिन बच्ची मृत पैदा हुई। गामोठ ने बताया कि प्रसव के बाद महिला को उदयपुर के अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है। जिसकी हालत सामान्य है। जब इसे रैफर किया गया तो वह आईयूडी रैफर थी यानी खून बहना, बच्चे का गर्भ में मृत होना और खून की कमी। उसका प्रसव एमजी में ही कराया जा सकता था। बेवजह रैफर किया गया है।

पहले भी कई केस आए सामने

एंबुलेंस में प्रसव का यह कोई पहला केस नहीं। पहले भी कई केस सामने आ चुके हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला अस्पताल से भी रैफर केस बढ़ गए हैं। जहां अधिकांश मौकों पर तो स्टाफ की ओर से ही रैफर कर दिया जाता हैं। नियमों के अनुसार रैफर करते वक्त डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी होता है। नवजातों की मौत के प्रकरण के बाद अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड से बच्चों की रैफर संख्या भी बढ़ गई है।

दुर्घटनाओं में नहीं मिल पाती एंबुलेंस

जिला अस्पताल से बढ़ रहे रैफर केस के कारण शहर की तीन एंबुलेंस हर रोज उदयपुर रैफर होती हैं। कई बार तो आसपास के केंद्रों से भी एंबुलेंस को बुलाकर उदयपुर भेजा जाता है। ऐसे में यहां कई बार सड़क हादसों में समय पर एंबुलेंस की सेवा घायलों को नहीं मिल पाती। बेवजह रैफर करने के संबंध में कई बार जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में भी चर्चा हो चुकी है। समाधान कुछ नहीं निकल सका। ग्रामीण क्षेत्रों में भी अधिक रैफर होने से एमजी अस्पताल पर मरीजों का अधिक भार बढ़ता जा रहा है।

एंंबुलेंस में प्रसव के बाद मृत बच्ची के साथ कर्मचारी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ghatol News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: गर्भवती को किया रैफर, रास्ते में डिलीवरी, बच्चा नहीं बच सका
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×