--Advertisement--

शिक्षा, दीक्षा, और परीक्षा से ही जीवन- मुनिश्री

घाटोल| कस्बे में जैन समाज ने रविवार को तप पर्व मनाया गया। श्रद्धालुओं ने नृत्य करते हुए भगवान पार्श्वनाथ की पूजा...

Dainik Bhaskar

Mar 12, 2018, 04:35 AM IST
शिक्षा, दीक्षा, और परीक्षा से ही जीवन- मुनिश्री
घाटोल| कस्बे में जैन समाज ने रविवार को तप पर्व मनाया गया। श्रद्धालुओं ने नृत्य करते हुए भगवान पार्श्वनाथ की पूजा अर्चना की। खांदू कॉलोनी से पहुंचे जैन समाजबंधुओं ने मुनि समतासागरजी को श्रीफल भेंट कर आने का न्योता दिया। साथ ही घाटोलवासियों ने वेदी प्रतिष्ठा, महावीर जयंती, विद्वत संगोष्ठी में मुनिश्री को आने के लिए श्रीफल भेंट किया।

मुनिश्री ने प्रवचन में कहा कि हर मनुष्य शिक्षा ग्रहण करता है, लेकिन जो जितना पढ़ेगा उतना अनुभव बढ़ेगा। जीवन में संयम और अनुशासन भी होना जरूरी है। जीवन में हर पल परीक्षा होती है। अर्थात विवेकवान, ज्ञानवान में सतर्क रहकर सफल होता है। दोपहर में महिलाओं ने कस्बे के घर घर जाकर मंगल गीत गाकर मेहंदी का निमंत्रण दिया। इस दौरान अजीत लालावत, संजय कोठारी, अशोक जैन, निमेष जोधावत, अंकेश सेठ, दीपेश वगेरिया समेत समाजजन मौजूद रहे।

X
शिक्षा, दीक्षा, और परीक्षा से ही जीवन- मुनिश्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..