Hindi News »Rajasthan »Ghatol» डिजिटल इंडिया के सपने को साकार कर रही सवनिया सरपंच

डिजिटल इंडिया के सपने को साकार कर रही सवनिया सरपंच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने में जिले के घाटोल उपखंड की सवनिया पंचायत की सरपंच...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 27, 2018, 04:40 AM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने में जिले के घाटोल उपखंड की सवनिया पंचायत की सरपंच काम कर रही हैं। भले ही सांसद मानशंकर निनामा की गोद ली गई आदर्श ग्राम पंचायत सवनिया को सरकार ने डिजिटल पंचायत घोषित नहीं किया है, लेकिन यहां की सरपंच फूलवंतीदेवी राज्य और केंद्र सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मोबाइल के जरिये लोगों तक पहुंचा रही है।

हालांकि इस काम में सरपंच को उनके पति मणिलाल सहयोग कर रहे हैं। सरपंच पति ग्राम पंचायत में बैठकर अपने मोबाइल से लोगों को सरकारी योजनाओं के आवेदन ऑनलाइन भरवाकर तुरंत रसीद की प्रिंट निकालकर देते हैं। इससे ग्रामीणों को ई मित्र केेंद्र के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ते हैं। सरपंच पति का कहना है कि ई मित्र पर लोगों के काम चार पांच दिन में होते हैं, एक आवेदन ऑनलाइन करने में फोटो कॉपी समेत दूसरे दस्तावेज के लिए 100-150 खर्च होते हैं। वहीं पंचायत में यही काम कुछ ही समय में ऑनलाइन करके दे देते हैं, जिससे समय और धन दोनों की बचत होती है। सरपंच द्वारा पंचायत में दी जा रही सुविधा को लेकर ग्रामीणों ने सराहना की है।

राज्य और केंद्र सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी मोबाइल के जरिए लोगों तक पहुंचा रही

सवनिया में ग्रामीणों को माेबाइल से योजना की जानकारी देतीं सरपंच फूलवंती।

सभी प्रकार के प्रमाण पत्र बनाते हैं

सरपंच और उनके पति अपने मोबाइल के जरिए ग्रामीणों के जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र, जाति, मूल निवास प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना, जियो टैगिंग से संबंधी काम करते हैं। पंचायत में जल्द ही कचरा निस्तारण संयंत्र भी लगवाया जाएगा। इससे कचरे का निस्तारण कर जैविक खाद बनाई जाएगी। पंचायत में अब तक दो गौरव पथ, पीने के पानी के लिए 4 करोड़ की लागत से पाइप लाइन बिछाकर घर-घर फ्लोराइडमुक्त आरओ पानी की सप्लाई के लिए प्लांट भी लगवाया गया है। उल्लेखनीय है कि सवनिया पंचायत को बांसवाड़ा जिले में खुले में शौचमुक्त पंचायत घोषित किया जा चुका है, इसी के तहत इस पंचायत को प्रधानमंत्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×