घाटोल

--Advertisement--

बांसवाड़ा भास्कर

ईमानदारी के रास्ते पे चलकर अमीरी मिले या गरीबी, कोई शर्म की बात नहीं है। -कन्फ्यूसियस बांसवाड़ा, शुक्रवार, 23 फरवरी,...

Dainik Bhaskar

Feb 23, 2018, 05:15 AM IST
ईमानदारी के रास्ते पे चलकर अमीरी मिले या गरीबी, कोई शर्म की बात नहीं है। -कन्फ्यूसियस

बांसवाड़ा, शुक्रवार, 23 फरवरी, 2018

कुशलगढ़
फाल्गुन, शुक्ल पक्ष-8, 2074

पिंटू - कैसा है भाई? चिंटू - ठीक हूं, तू बता। पिंटू - और पढ़ाई-लिखाई कैसी चल रही है? चिंटू - दोस्त है तो दोस्त बन के रह, रिश्तेदारों वाली हरकतें न किया कर।

X
Click to listen..