Hindi News »Rajasthan »Ghatol» देहात भी सामाजिक समरसता के रंगों से रंगा, परंपराओं ने बढ़ाया उत्साह

देहात भी सामाजिक समरसता के रंगों से रंगा, परंपराओं ने बढ़ाया उत्साह

बांसवाड़ा| शहर समेत देहात में रंगों का पर्व होली उत्साह के साथ मनाया गया। गुरुवार को शुभ मूहूर्त में होलिका का दहन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 08:10 AM IST

देहात भी सामाजिक समरसता के रंगों से रंगा, परंपराओं ने बढ़ाया उत्साह
बांसवाड़ा| शहर समेत देहात में रंगों का पर्व होली उत्साह के साथ मनाया गया। गुरुवार को शुभ मूहूर्त में होलिका का दहन किया गया। वहीं शुक्रवार को धूलंडी पर अबीर गुलाल संग होली मनाई। वागड़ में बरसों पुरानी परंपराओं और रीति रिवाजों के अनुसार लोगों ने होली खेली।

ढूंढ वाले बच्चों के माता पिता का बिनौला निकाला

शहर के करीब ठीकरिया में होली का तीन दिन का उत्साह उमंग और उत्साह के साथ मनाया। गुरुवार रात होलिका दहन किया। शुक्रवार सुबह धूलंडी पर रंग खेला। दोपहर में ढूंढ वाले बच्चों को माता पिता लेकर होली चौक पर आए और निराेगी व स्वस्थ रहने की कामना की गई। शाम को लक्ष्मीनारायण चौक पर सामूहिक गैर खेली। शनिवार शाम को गैर खेलने के बाद ढूंढ वाले बच्चों के माता पिता का हनुमान मंदिर चौक से लक्ष्मीनारायण चौक पर बिनाैला निकाला और शादी की रस्म भी निभाई।

रोहनवाड़ी : पत्थर और कंडों से खेली राड़

रोहनवाड़ी. होली पर रोहनवाड़ी में युवाओं ने पत्थरों और कंडों की राड़ खेली। इस मेले में पहुंचे बागीदौरा विधायक महेंद्रजीतसिंह मालवीया ने कहा कि इस मेले में राड़ खेलने वालों को कभी ढाल तो कभी पारंपरिक पहनावा देते हैं, ताकि यह परंपरा चलती रहे। मालवीया ने युवाओं संग ढोल बजाया और राड़ भी खेली। मालवीया ने रोहनेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन कर खुशहाली की कामना।

अरथूना. कस्बे में होली पर कंडों की राड़ खेली गई। गढ़ी विधायक जीतमल खांट और उनकी टीम ने मुख्य चौराहे पर हर साल की तरह कंडों की राड़ खेलकर परंपरा का निर्वहन किया।

बागीदौरा. कस्बे में वैष्णव समाजजनों ने मुख्य चौराहे पर होलिका का दहन किया। महिलाओं ने भी उत्साह के साथ भाग लिया।

छींच. कस्बे में ग्रामीणों ने गुरुवार को ठंडी होली के दर्शन किए। शुक्रवार को ढूंढ़ोत्सव मनाया। शनिवार को रंगोत्सव मनाया। इसके बाद सर्व समाज का स्नेह मिलन हुआ।

अरथूना में दिखा एकता और भाईचारा

अरथूना. कस्बे के पाेरड़ा बसस्टैंड पर हर साल की तरह इस साल भी मुस्लिम युवाओं ने होली पर साफ सफाई की और हिंदू समाज के लोगों के लिए शरबत और ठंडे पानी की व्यवस्था कर एकता और भाईचारे का संदेश दिया। पूरी व्यवस्था में उपसरपंच राजूभाई, वाहिद, जाहिद, सलीम मंसूरी, अयूब खान, रियाज खान ने सहयोग किया।

बड़ोदिया : पापड़ी देती है सामाजिक समरसता का संदेश

बड़ोदिया. कस्बे में होली पर युवाओं ने गढ़ भेदने की परंपरा निभाई गई। साथ ही ढूंढ वाले बच्चों के घरों में जाकर पापड़ी बनाई गई। गांव के मुखिया नाथजी पटेल ने बताया कि सर्व समाजजनों की ओर से पापड़ी बनाई जाती है जो सामाजिक समरसता का संदेश देती है। मोहन जोशी ने बताया कि ढूंढ वाले बच्चों के घरों में जाने वाले पंचों को पापड़ी खिलाकर अभिवादन किया जाता है।

आनंदपुरी. आनंदपुरी में ठाकुर राजेद्रसिंह चौहान ने होलिका दहन किया। शनिवार सुबह होली चौक पर स्नेह मिलन हुआ। दोपहर में पाटन नदी किनारे पारंपरिक गैर मेले का आयोजन हुआ। इसमें हजारों लोगों ने भाग लिया।

माहीडैम. निचला घंटाला में अबीर गुलाल संग होली खेली।

नवागांव. कस्बे में होली पर बच्चों को ढूंढाने की परंपरा निभाई गई। बच्चों के साथ माता पिता ने हाेली के सात फेरे लिए। पूर्व राजपरिवार के ठाकुर पुष्पेंद्रसिंह सिसोदिया की आगवानी में सभी ग्रामवासी होली चौक पर पूजा अर्चना और दर्शन करने गए।

तलवाड़ा में होली की परिक्रमा की

तलवाड़ा. कस्बे के लक्ष्मीनारायण मंदिर के पास, बड़ा चौक, पुलिस चाैकी के पास और जैन मोहल्ला में होलिका का दहन किया। गौ सेवा प्रदेश उपाध्यक्ष संत रघुवीरदासजी महाराज के सानिध्य में ग्रामीणों ने जलती होली की परिक्रमा की। शुक्रवार को गोकर्णेश्वर मंदिर परिसर में ढूंढ़ोत्सव मनाया। वागड़ में होली का उत्सव पारंपरिक रीति रिवाज के साथ मनाते हैं। तलवाड़ा में देशी व्यंजन हुवारी फाफ्टा बनाकर गांव में रिश्तेदारों के घरों में बांटने की सोमपुरा समाज की बरसों पुरानी परंपरा आज भी कायम है। होली पर यह स्वादिष्ट पौष्टिक आहार हर घर में बनता है। तलवाड़ा में सोमपुरा समाज में जिस घर में ढूंढ़ोत्सव है, वहां की महिलाएं सभी सगे संबंधियों में हुवारी फाफ्टों का वितरण करते हैं।

संसदीय सचिव ने बंदियों के साथ मनाई होली

मोहकमपुरा| कस्बे समेत घाटा क्षेत्र में होली पर्व मनाया। कुशलगढ़ में आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने गली मोहल्लों में जाकर सभी को बधाई दी।

संसदीय सचिव भीमाभाई डामोर, पुलिसकर्मी और भाजपा कार्यकर्ताओं ने जेल में बंदियों के साथ होली मनाई। इसके बाद नगरवासियों को होली की शुभकामनाएं दी। मोहकमपुरा में राजपूत समाजजनों की बैठक हुई इसमें समाज में व्याप्त कुरीतियों को बंद करने के प्रस्ताव लिए।

घाटोल में आमने सामने जलते डंडे फेंककर राड़ खेली

घाटोल. कस्बे के पाेस्ट ऑफिस चौराहे पर धूलंडी के दिन पाटीदार समाज की बरसों पुरानी परंपरा के अनुसार जलते डंडों से राड़ खेली गई। एक तरफ ढोल नगाड़ों बजते रहे और दूसरी ओर युवा जलते डंडे आमने सामने फेंकते रहे। इस राड़ में दो युवक घायल हो गए। जिनका अस्पताल में इलाज कराया गया।

पालोदा में जैन समाज ने गाए कामण गीत

पालोदा. कस्बे में होली पर जैन समाज के युवा और गणमान्य नागरिकों ने मंदिर परिसर में एकत्रित हुए। इसके बाद चंग की थाप के साथ होली चौक पहुंचे और कामण गीत गाकर माहौल खुशनुमा बना दिया। कस्बे समेत आसपास के गांवों में होली पर सामाजिक सदभावना देखने को मिली। दोपहर में होली चौक पर सभी ग्रामीण एकत्रित हुए, साथ ही नवजात बच्चों को ढूंढाया गया।

सज्जनगढ़. कस्बे समेत आसपास के गांवों में तिलक होली खेलकर पानी बचाने का संदेश दिया। होली चौक पर बच्चों को ढूंढाया गया।

लोहारिया. कस्बे में होली का पर्व महिलाओं ने उत्साह के साथ मनाया। महिलाओं ने एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर होली की बधाई दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ghatol News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: देहात भी सामाजिक समरसता के रंगों से रंगा, परंपराओं ने बढ़ाया उत्साह
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×