• Home
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • इनकी आंखेंं देखिए, 1 लाख लोगों में से एकाध की होती है ऐसी दो रंगी आंखें
--Advertisement--

इनकी आंखेंं देखिए, 1 लाख लोगों में से एकाध की होती है ऐसी दो रंगी आंखें

घाटोल। भूरी आंखों वाले इंसान तो खूब देखने को मिलते हैं, लेकिन जब किसी इंसान की दोनों आंखें ही अलग-अलग रंग की हो और वह...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 12:55 PM IST
घाटोल। भूरी आंखों वाले इंसान तो खूब देखने को मिलते हैं, लेकिन जब किसी इंसान की दोनों आंखें ही अलग-अलग रंग की हो और वह भी नीली और काली रंग की। पढ़ने पर ही हैरानी हो रही होगी, लेकिन सच है।

घाटोल उपखंड के केहरी गांव का 13 साल के रितेश बामनिया को मिलने वाला हर इंसान उसकी आंखें देख एक बार ऐसे ही हैरान हो उठता है। रितेश की एक आंख की पुतली नीली तो दूसरी काले रंग की है। रितेश की 2 रंगीन आखें बचपन से ही है। शुरुआत में तो परिजन इसे लेकर फिक्रमंद थे और डॉक्टरों को भी बताया। पिता मानजी बामनिया बताते हैं कि रितेश का जन्म 2004 में हुआ।

उसकी दोनों आंखों का रंग अलग-अलग होने पर पहले तो काफी चिंतित थे, लेकिन जब रितेश को इससे देखने में कोई परेशानी नहीं हुई तो राहत महसूस की। रितेश बताता है कि पहली बार मिलने वाला हर व्यक्ति उसकी आंखों के बारे में जरूर पूछता है। फिलहाल रितेश कक्षा 9वीं का छात्र है और उसे पढ़ने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो रही है। नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. हरीश लालवानी बताते हैं कि यह आनुवांशिक होता है। अंग्रेजी में इसे हैट्रोक्रोमिया कहते हैं। ऐसे व्यक्ति की आंखों की दाेनों पुतलियों का रंग अलग-अलग होता है। ऐसे व्यक्ति एक लाख में एकाध होता है। हालांकि इससे उन्हें देखने में कोई परेशानी नहीं होती है। 10 साल पहले ऐसा ही एक मरीज जांच के लिए आया था।