Hindi News »Rajasthan »Ghatol» बांसवाड़ा भास्कर

बांसवाड़ा भास्कर

अमरता की कुंजी पहले एक याद रखने लायक जीवन जीने में हैं। -ब्रूस ली बांसवाड़ा, बुधवार, 24 जनवरी, 2018 कुशलगढ़

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 24, 2018, 07:50 PM IST

अमरता की कुंजी पहले एक याद रखने लायक जीवन जीने में हैं।

-ब्रूस ली

बांसवाड़ा, बुधवार, 24 जनवरी, 2018

कुशलगढ़ गढ़ी-परतापुर घाटोल बागीदौरा सज्जनगढ़

माघ, शुक्ल पक्ष-7, 2074

पापा- बेटा तेरी गर्लफ्रेंड है? बेटा- नहीं। पापा-आजकल तो सबकी होती है। थोड़ा सोशल बनो। बेटा- वैसे एक है... पापा- दुष्ट.. तभी फेल होता है हर बार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×