Hindi News »Rajasthan »Ghatol» बरोड़ा में टूटी पाइप लाइन से पानी भरने की मजबूरी

बरोड़ा में टूटी पाइप लाइन से पानी भरने की मजबूरी

उपखंड घाटोल की ग्राम पंचायत सवनिया के बरोड़ा गांव में पिछले दो माह से पानी की नियमित सप्लाई नहीं होने से लोगों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 03:40 AM IST

  • बरोड़ा में टूटी पाइप लाइन से पानी भरने की मजबूरी
    +1और स्लाइड देखें
    उपखंड घाटोल की ग्राम पंचायत सवनिया के बरोड़ा गांव में पिछले दो माह से पानी की नियमित सप्लाई नहीं होने से लोगों को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। सांसद की आदर्श ग्राम पंचायत में ही लोगों को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल रही हैं। रविवार को पेयज समस्या का सामना कर रहे लोगों ने सरपंच फूलवंती देवी और सरपंच पति मणिलाल राणा का घेराव कर पानी की नियमित सप्लाई करने की मांग की।

    ग्रामीणों ने कहा कि साहब हमे तो शुद्ध पानी छोड़ो, कुएं के पानी की ही नियमित सप्लाई करा दो। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए सरपंच पति ने जलदाय विभाग के उच्चाधिकारियों से फोन पर बात कर समस्या का समाधान करने को कहा। बरोड़ा के ग्रामीण पिछले दो माह से टूटी पाइप लाइन का पानी गड्ढो में जा रहा है, उसे उपयोग में ले रहे हैं। सरपंच ने जलदाय विभाग को टूटी पाइप लाइन ठीक करने के लिए कहा है, लेकिन विभागीय लापरवाही का खामियाजा बरोड़ा के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। पानी की किल्लत के चलते ग्रामीण पाइपलाइन से बह रहे गड्डों में भरा पानी उपयोग में लेने को मजबूर हैं। सवनिया ग्राम पंचायत में सरकार की ओर से चार करोड़ की लागत से ग्रामीणों को शुद्ध पानी के लिए फिल्टर प्लांट वाली पानी की टंकी बनवाई थी, विभाग की लापरवाही के कारण लोगों के घरों में नल सूखे पड़े हैं। विभाग के खिलाफ रोष जताने वालों में जसवंतसिंह, मोतीलाल, मनोहरसिंह, भारतसिंह, किशोरसिंह राज कुंवर, अंबा कुंवर, रीना, नीलू शामिल रहे।

    घाटोल. टूटी पाइप लाइन से लीकेज हो रहे पानी को भरते ग्रामीण।

    बरोड़ा गांव में दो माह से पानी की पाइप लाइन टूट गई है। जिस कारण लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। सारा पानी सड़क पर व्यर्थ में बह रहा है। टूटी पाइप लाइन को ठीक कराने व गांव में नियमित पानी की सप्लाई के लिए विभाग को कई बार कहा, ध्यान नहीं दे रहा है। -फूलवंती, सरपंच सवनिया वेसता

  • बरोड़ा में टूटी पाइप लाइन से पानी भरने की मजबूरी
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×