• Hindi News
  • Rajasthan
  • Hanumangarh
  • फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में तीन दोषियों को पांच साल की सुनाई सजा
--Advertisement--

फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में तीन दोषियों को पांच साल की सुनाई सजा

फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में कोर्ट ने तीन दोषियों को पांच साल की सजा सुनाई है। साथ ही 80-80 हजार रुपए का...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:15 AM IST
फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में तीन दोषियों को पांच साल की सुनाई सजा
फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में कोर्ट ने तीन दोषियों को पांच साल की सजा सुनाई है। साथ ही 80-80 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। यह फैसला मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पवन कुमार वर्मा ने सुनाया। कमरानी टिब्बी के लियाकत अली पुत्र मोहम्मद अली ने 10 अगस्त 2010 को मामला दर्ज करवाया था कि उसके रिश्तेदार पीरबक्स पुत्र हाजी सुलेमान ने श्योकत अली व मोहम्मदीन के साथ मिलकर उसने अपने पुत्र के नाम फर्जी वसीयत तैयार कर ली। पुलिस ने तीनों के खिलाफ जांच के बाद कोर्ट में चालान पेश किया था। कोर्ट ने अलग-अलग धाराओं में दोषी मानते हुए पांच साल की सजा सुनाई।

धोखाधड़ी के मामले में दो साल की सजा

हनुमानगढ़| मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पवन कुमार वर्मा ने धोखाधड़ी के मामले में आरोपी राकेश कुमार को दो साल की सजा सुनाई है। साथ ही 60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। जंक्शन हाउसिंग बोर्ड के सुरेंद्र कुमार अग्रवाल ने जंक्शन पुलिस थाना में 22 जून 2005 को मामला दर्ज करवाया था कि वह रिलीफ केमिकल इंडस्ट्रीज के नाम से फूड प्रोडक्ट का काम करता था। श्रीगंगानगर के राजेश कुमार ने अपने को कृष्ण एसोसिएशन पटेल मार्केट का मालिक बता कर उसके यहां से 58 हजार 336 रुपए का सामान खरीदा था लेकिन पेमेंट नहीं दिया। जब उसने पता करवाया तो पता चला कि इस नाम का कोई मालिक नहीं है। पुलिस ने जांच के बाद आरोपी के खिलाफ अदालत में चालान पेश किया था।

X
फर्जी वसीयत तैयार करवाने के मामले में तीन दोषियों को पांच साल की सुनाई सजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..