• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • ओवरफ्लो होने से नौरंगदेसर वितरिका में 50 फुट आया कटाव, गेहूं व सरसों की फसल जलमग्न
--Advertisement--

ओवरफ्लो होने से नौरंगदेसर वितरिका में 50 फुट आया कटाव, गेहूं व सरसों की फसल जलमग्न

भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़/तलवाड़ा झील गांव मेहरवाला रोही के चक 6 एनडीआर में गुरुवार अलसुबह नौरंगदेसर वितरिका...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:15 AM IST
भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़/तलवाड़ा झील

गांव मेहरवाला रोही के चक 6 एनडीआर में गुरुवार अलसुबह नौरंगदेसर वितरिका ओवरफ्लो होकर टूट गई। करीब 50 फीट कटाव आने से सैकड़ों बीघा में खड़ी गेहूं और सरसों की फसल जलमग्न हो गई। इस बीच किसानों ने ट्रैक्टर से अपने स्तर पर कटाव पाटने का प्रयास किया तो ट्रैक्टर पानी के अंदर जाकर फंस गया। आक्रोशित किसानों ने देरी से पहुंचे जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ धक्कामुक्की की। इस बीच माहौल गर्माने पर एसडीएम व पुलिस अधिकारी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। किसान नहर को दुरुस्त करने से पहले मुआवजे का लिखित में आश्वासन देने की मांग पर अड़ गए। इस पर बीमा कंपनी से क्लेम के तौर पर मुआवजा का आश्वासन देने पर किसान शांत हुए। इसके बाद नहर में पानी आपूर्ति पीछे से बंद करवाकर दोपहर करीब ढाई बजे जेसीबी, ट्रैक्टरों और मिट्टी से भरे थैलों की सहायता से वितरिका को पाटा गया। इस दौरान टिब्बी एसडीएम उम्मेद सिंह र|ू ,तहसीलदार उमा मित्तल, हनुमानगढ़ डीएसपी विरेंद्र जाखड़, तलवाड़ा थानाधिकारी व सिंचाई व कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों को समझाइश कर नुकसान का बीमा दिलाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर मेहरवाला सरपंच राजाराम देग, रणजीतपुरा सरपंच इंद्रजीत शर्मा, नहर अध्यक्ष किशन सहारण, जगदीश पांडर, अशोक कुमार आदि मौजूद थे।

तीन सौ से चार सौ बीघा में हुआ नुकसान, बीमा कंपनी से क्लेम दिलाने का आश्वासन

किसान महावीर, रणवीर, ओमप्रकाश,पप्पूराम, इंद्रसैन, भीम, आईदान, मौजी, आत्माराम, संदीप गोदारा, जोगिंद्र सिंह आदि ने बताया कि नहर टूटने से करीब 300-400 बीघा में खड़ी फसल जलमग्न हो गई। वहीं कई ट्यूबवैल कुओं में भी पानी भर गया।

एसई बोले- केली आने के कारण टूटी नहर

जलसंसाधन विभाग के एसई लखपतराय मेहरड़ा का कहना है कि केली आने के कारण नहर टूट गई। इसमें किसी तरह की अनदेखी का आरोप गलत है।

किसान बोले- ओवरफ्लो होने पर किया था सूचित, दोबारा पानी छोड़ा तो टूटी नहर

प्रभावित किसानों ने सिंचाई विभाग पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि अगर समय रहते अधिकारी ध्यान देते तो नुकसान रोका जा सकता था। रात्रि को करीब दो बजे मोहनमगरिया हैड के पास नहर ओवरफ्लो हो गई थी। इस पर गांव मोहनमगरिया में मंदिर के माइक पर मुनादी की गई तो ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर पीछे से पानी बंद करा दिया था। इसके बाद दोबारा नहर में पानी छोड़ दिया गया। इसके बाद अलसुबह करीब पांच बजे नहर में 50 फुट लंबा कटाव आ गया जिस कारण नुकसान हुआ है।

तलवाड़ाझील. जलमग्न हुई फसल एवं कटाव पाटने के प्रयास में पानी में फंसा ट्रैक्टर।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..