• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • 10वीं के परिणाम में शेखावाटी छाया, देवनानी का गृह जिला 16वें स्थान पर
--Advertisement--

10वीं के परिणाम में शेखावाटी छाया, देवनानी का गृह जिला 16वें स्थान पर

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10वीं की परीक्षा के परिणाम में शेखावाटी बेल्ट छाया नजर आ रहा है। परिणाम...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 02:50 AM IST
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10वीं की परीक्षा के परिणाम में शेखावाटी बेल्ट छाया नजर आ रहा है। परिणाम देने में झुंझुनूं जिला 86.99 प्रतिशत परिणाम के साथ सिरमौर बना, जबकि इसी बेल्ट के सीकर जिले का दूसरा नंबर रहा। सीकर का कुल परिणाम 86.88 फीसदी रहा। तीसरे नंबर पर 84.70 प्रतिशत के साथ नागौर जिला रहा। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी का गृह जिला अजमेर 16वें स्थान पर रहा है। अजमेर से आगे भीलवाड़ा और टोंक नजर आ रहे हैं।

बोर्ड ने जिलेवार उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों की संख्या का आंकड़ा भी जारी किया है। परिणाम देने में झुंझुनूं, सीकर और नागौर के बाद चौथे नंबर पर जालौर जिला रहा। यहां के विद्यार्थियों का परिणाम 83.10 प्रतिशत रहा। पांचवे नंबर पर जोधपुर जिला है। यहां का परिणाम 83.08 प्रतिशत रहा। छठे नंबर पर 83.06 प्रतिशत के साथ बाड़मेर जिला रहा। सातवें नंबर पर 82.99 प्रतिशत के साथ चूरू जिला रहा। आठवें नंबर पर 82.61 के साथ जयपुर जिला रहा। नौवें नंबर पर हनुमानगढ़ 81.73 प्रतिशत रहा। 10वें स्थान पर बीकानेर 81.37 के साथ रहा। 11 वें स्थान पर 80.90 प्रतिशत के साथ दो जिले अलवर और भीलवाड़ा रहे हैं। 12वें नंबर पर 80.46 प्रतिशत के साथ श्रीगंगानगर, 13वें स्थान पर 79.86 प्रतिशत के साथ टोंक, 14 वें स्थान पर 79.81 प्रतिशत के साथ चित्तौडग़ढ़ जिला रहा।

7 सब्जेक्ट में अधिकतम अंक 100

दसवीं बोर्ड के परिणाम में विद्यार्थियों के 7 विषयों में अधिकतम 100 आए। इसमें हिंदी विषय भी शामिल है, जिसमें पूरे अंक आना अमूमन मुश्किल माना जाता है। इसके अलावा तृतीय भाषा संस्कृत और उर्दू में भी विद्यार्थियों ने कमाल दिखाते हुए 100 में से 100 अंक तक प्राप्त किए। वहीं अंग्रेजी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और गणित में शत-प्रतिशत अंक हासिल किए।

प्रवेशिका में 62.51% रहा रिजल्ट

अजमेर | माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की ओर से सोमवार को जारी प्रवेशिका परीक्षा 2018 का परिणाम 62.51 फीसदी रहा। प्रवेशिका के परिणाम में छात्राओं ने बाजी मार ली। छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 63.32 तथा छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत 61.56 रहा। परीक्षा के लिए 7041 विद्यार्थी पंजीकृत किए गए थे, जिनमें छात्रों की संख्या 3258 तथा छात्राओं की संख्या 3783 रही। परीक्षा में कुल 6863 परीक्षार्थी बैठे, जिनमें 3150 छात्र तथा 3713 छात्राएं थीं। छात्रों में प्रथम श्रेणी से 432, द्वितीय श्रेणी से 963 तथा तृतीय श्रेणी से 537 उत्तीर्ण हुए, जबकि 7 को सिर्फ उत्तीर्ण घोषित किया गया। पूरक परीक्षा के योग्य 254 परीक्षार्थी माने गए। कुल 1939 छात्रों के साथ उत्तीर्ण प्रतिशत 61.56 फीसदी रहा।



आईटी सब्जेक्ट में बढ़ा रुझान

दसवीं बोर्ड के सोमवार को जारी परिणाम में यह भी सामने आया कि विद्यार्थियों का रुझान अब आईटी के क्षेत्र में बढ़ रहा है। दसवीं में वोकेशनल सब्जेक्ट में सबसे ज्यादा 8745 स्टूडेंट्स आईटी एंड आईटीज सब्जेक्ट के रहे। दसवीं के परिणाम के आधार पर और 11वीं में विषय चयन के साथ ही यह तय कर लिया जाता है कि बच्चे को किस फील्ड में जाना है या कौनसा प्रोफेशन चुनना है। पिछले कुछ सालों में आईटी की ओर विद्यार्थियों का रुझान बढ़ा है, इसका सीधा असर दसवीं में भी अब देखने को मिल रहा है। यहां वोकेशनल सब्जेक्ट में सबसे ज्यादा स्टूडेंट्स आईटी में होना यही बता रहा है। अगर अन्य वोकेशनल विषयों की ओर देखें तो सबसे कम ऑटोमोबाइल में 726 स्टूडेंट्स रहे।इसके अलावा ब्यूटी एंड वेल में 5539, हैल्थ केयर में 7070, रिटेल में 1556, ट्रैवल एंड टूरिज्म में 1258, सिक्यूरिटी में 1969, एप. मेड होम में 1134, इले. एंड इलेक्ट्रोन में 2340 तथा माइक्रो इरिगेशन टेक्नोलॉजी एग्रीकल्चर में 1074 स्टूडेंट्स शामिल हुए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..