• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • कहीं दूध बिखेरा तो कहीं लोगों को पिलाया, पदमपुर केसरीसिंहपुर में तनाव, पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा
--Advertisement--

कहीं दूध बिखेरा तो कहीं लोगों को पिलाया, पदमपुर केसरीसिंहपुर में तनाव, पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा

भास्कर संवाददाता|पदमपुर/केसरीसिंहपुर पदमपुर मंडी में फल सब्जी की दुकान व रेहड़ी पर नुकसान पहुंचाने की घटना के...

Dainik Bhaskar

Jun 02, 2018, 02:55 AM IST
कहीं दूध बिखेरा तो कहीं लोगों को पिलाया, पदमपुर केसरीसिंहपुर में तनाव, पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा
भास्कर संवाददाता|पदमपुर/केसरीसिंहपुर

पदमपुर मंडी में फल सब्जी की दुकान व रेहड़ी पर नुकसान पहुंचाने की घटना के बाद तनाव हो गया। मामला पुलिस थाना तक पहुंच गया। इस बीच किसान नेताओं ने माना कि सही नहीं हुआ। उनका कहना था कि ऐसा किसानों ने नहीं किया। इसके बावजूद भरपाई कर ने का आश्वासन दिया तो मामला शांत हो गया। इस बीच जबरन दूध बिखेरने व ले जाने के दो-तीन मामले सामने आए। इससे पहले लग्जरी गाड़ी में सवार कुछ लोगों ने अरूट चौक पर रेहड़ी से फल नीचे गिरा दिए। जिससे सब्जी व फल विक्रेता आक्रोशित हो गए। नौबत गाली गलोच और हाथापाई तक पहुंच गई। मामला बिगड़ते देख थाना प्रभारी व डीएसपी मौके पर पहुंचे। बाद में दोनों पक्षों को थाने बुलाकर मामला शांत करवाया। केसरीसिंहपुर में किसानों ने मंडी में दूध, सब्जी की सप्लाई नहीं होने दी। दोधियों को रोक कर दूध वहीं बेचा। सब्जियों की स्टाल भी लगाई। मलकाना के पास श्रीगंगानगर से सब्जी लेकर आ रही तीन पिकअप डाला वाहनों को रोककर उनमें लदी सब्जी बांट दी। इससे तनाव हो गया। सब्जी विक्रेता स्थानीय थाना में मामला दर्ज करवाने पहुंच गए। बाद में भरपाई के आश्वासन पर माने। इस बीच दूध एसोसिएशन ने सुभाष पार्क में बैठक कर आंदोलन को समर्थन दिया।

किसानों ने कई नाकों पर सब्जी की स्टाल लगाई , गजसिंहपुर व घड़साना में भी हुई झड़प

पदमपुर

सादुलशहर/ श्रीकरणपुर| किसानों ने कई नाकों पर सब्जी की स्टाल भी लगाई। क्षेत्र में दो-तीन जगह दूध बिखेरने की घटनाएं हुई। सादुलशहर में किसानों ने संगरिया एवं श्रीगंगानगर मार्ग के पास नाका लगाया। किसानों ने सुबह हरी सब्जियों से भरे दो कैंटर रोके, जो शाम को छोड़ दिए। करड़वाला चौक, गद्दरखेड़ा चौक, एसडीएस नहर पुलिया पर पुलिस ने अस्थाई नाके स्थापित किए हैं। श्रीकरणपुर सब्जी मंडी में रात को सब्जी पहुंचने से बंद का असर कम रहा। अलबत्ता दूध बाजार में नहीं आने से लोग प्रभावित रहे। कई जगह महंगे भाव से दूध सप्लाई हुआ। नाकाबंदी के दौरान बुर्जवाला मोड़ पर एक डेयरी संचालक प्रेमकुमार व एक अन्य दूधवाले का दूध किसानों ने अपने कब्जे में ले लिया जिससे झड़प हुई

सूरतगढ़. शहर में दूध की सप्लाई बंद रही। मंडी में आम दिनों की तरह लोगों ने फल सब्जी की खरीदारी की। मानकसर चौराहे पर दूध विक्रेता संघ सदस्यों ने दूध सड़क पर बिखेर दिया। गांवों से पिकअप डालों में दूध लाने वाले ने भी दूध की सप्लाई बंद रखी। किसानों ने मानकसर चौक, बड़ोपल, 28 पीबीएन, श्योपुरा व थर्मल के रास्तों पर नाके लगाए। सूरतगढ़ में अभिभाषक संघ राजस्व ने किसानों के गांव बंद का समर्थन करते हुए काम बंद रखा।

घड़साना. कस्बे में शुक्रवार को सब्जी व फल की बिक्री करने से रोकने पर तनाव हो गया। बाद में दोनों पक्षों ने सहमति से दो दिन फल व सब्जी की बिक्री पर सहमति बनी। दूध की सप्लाई बंद रही।

सादुलशहर

रायसिंहनगर/ रावलामंडी/अनूपगढ़/रामसिंहपुर जैतसर. रावला व अनूपगढ़ कस्बे में गांव बंद का असर नहीं दिखा। सब्जी सामान्य भाव पर बिकी। डेयरी वालों किसानों की हड़ताल को समर्थन दिया। अनूपगढ़ में सब्जी के भावों में कुछ तेजी रही। नई रणनीति के अनुसार शनिवार को गांव 22 ए, 17ए, घड़साना रोड सहित शहर में प्रवेश करने वाली सड़कों पर किसान नाके लगाएंगे।

रामसिंहपुर कस्बे में सब्जी व फल की दुकानें बंद रही। रायसिंहनगर में दूध की कमी का असर दोपहर में नजर आया। विधायक सोना देवी बावरी सहित अन्य संगठन किसानों के समर्थन में नजर आए। जैतसर के पास गांव फरीदसर में किसानों ने बस स्टैंड के निकट घरों से एकत्रित दूध राहगीरों को मुफ्त में पिलाया।

गजसिंहपुर. लुहारा, हरनौली, ख्यालीवाला, थांदेवाला, संगराना,कंवरपुरा, काकूसिंहवाला,13 से 22 आरबी किसानों ने नाके लगाए। गंगानगर, रायसिंहनगर मंडियों से सब्जी लाकर बेचने का प्रयास कर रहे सब्जी विक्रेताओं व किसानों में एक दो बार झड़प हुई।

बींझबायला/रिड़मलसर. किसानों ने झुंड बनाकर सरकार विरोधी नारे लगाए। उधर, 22 जीबी तिराहा मोड़ पर अनूपगढ़ से सूरतगढ़ बाइपास पर गांवों से सब्जी-दूध शहर में नहीं जाने दिया।

X
कहीं दूध बिखेरा तो कहीं लोगों को पिलाया, पदमपुर केसरीसिंहपुर में तनाव, पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..