Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागू करने की मांग महारैली को लेकर किसानों से जनसंपर्क किया

स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागू करने की मांग महारैली को लेकर किसानों से जनसंपर्क किया

किसान शोषण प्रतिरोध आंदोलन के तहत कस्बे के कृषक विश्राम गृह के पास प्रस्तावित किसान महारैली को लेकर किसान सभा के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 28, 2018, 03:00 AM IST

  • स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागू करने की मांग महारैली को लेकर किसानों से जनसंपर्क किया
    +1और स्लाइड देखें
    किसान शोषण प्रतिरोध आंदोलन के तहत कस्बे के कृषक विश्राम गृह के पास प्रस्तावित किसान महारैली को लेकर किसान सभा के नेताओं द्वारा जनसंपर्क कर किसानों को रैली में पहुंचने की अपील की जा रही है। माकपा के मनीराम मेघवाल ने बताया कि किसान आंदोलन की मुख्य मांगों में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने, फसल उत्पादन की लागत मूल्य की डेढ़ गुणा राशि देने सहित कई मांगें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को मनीराम मेघवाल, मेवाराम कालवा, सुशील बौद्ध, बग्गा सिंह गिल, कमला मेघवाल, मनोहरलाल, रमेश कुमार, अनिल चौधरी, शफी मोहम्मद, कृष्ण भाटी, कृष्ण लुगरिया, गणेश शीला व मनीराम सारड़ीवाल द्वारा क्षेत्र के विभिन्न गांवों में बैठकें कर आंदोलन की रूपरेखा तैयार की गई।

    रावतसर| नहरों में आए प्रदूषित पानी रोकने की मांग, जन चेतना मंच ने पीएम व सीएम को भेजा ज्ञापन

    रावतसर| नहरबंदी के बाद पीएचईडी के खालों में आने वाला पेयजल क्षेत्र के लिए बीमारियों का सबब है। पानी अब भी प्रदूषित आ रहा है। हालांकि जलदाय विभाग पेयजल को शुद्ध कर शहर मे सप्लाई कर रहा है मगर पानी में घुले हुए खतरनाक रसायनिक तत्वों को समाप्त कर पाना मुमकिन नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में पीएचईडी अधिकारियों ने कहा कि पानी को पूर्णतः स्वच्छ कर ही शहर में सप्लाई दी जा रही है। इस संबंध में जन चेतना मंच ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री व लोकायुक्त को ज्ञापन भेजकर शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने की मांग करते हुए आम जनजीवन से खिलवाड़ तुरंत प्रभाव से रोके जाने की मांग की है।

    पीलीबंगा

    इधर...ढाबां में ग्रामीणों से गांव बंद आंदोलन में सहयोग करने का आह्वान

    संगरिया| पूरे भारत के किसान संगठनों के आह्वान पर रविवार को उपतहसील ढाबां में विक्रम सिंह कलहरि के नेतृत्व में किसानों व ग्रामीणों ने गांव बंद आंदोलन का सहयोग करने को कहा। उन्होंने कहा कि 1 से 10 जून तक गांव को बंद किया जाएगा। कोई भी किसान अपनी फसल दूध सब्जी यहां तक कि सुई जितनी चीज भी लेने के लिए बाजारों में नहीं जाएगा और ना ही इन चीजों को बाजार में भेजेगा। उन्होंने बताया कि तहसील की 26 ग्राम पंचायतों में ही नहीं हनुमानगढ़ जिले के किसानों से भी संपर्क किया जाएगा और 1 जून से गांव बंद को सफल बनाने का प्रयास किए जाएंगे। इस बात को लेकर के रेस्ट हाउस संगरिया में सोमवार को 11 बजे जागरुक किसानों के साथ एक सभा की जाएगी। सभा के बाद नारेबाजी करते हुए सरकार के खिलाफ रोष जताया जाएगा और उपखंड अधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा जाएगा।

  • स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागू करने की मांग महारैली को लेकर किसानों से जनसंपर्क किया
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×