• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • स्कूल संचालक का आरोप-पूर्व मंत्री ने तुड़वाया सारा सामान, हमें जान का खतरा
--Advertisement--

स्कूल संचालक का आरोप-पूर्व मंत्री ने तुड़वाया सारा सामान, हमें जान का खतरा

पूर्व मंत्री शशिदत्ता की ओर से स्कूल संचालक को किराए पर दिए गए मकान काे लेकर हुए घटनाक्रम के बाद शुरू हुआ विवाद...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 03:05 AM IST
पूर्व मंत्री शशिदत्ता की ओर से स्कूल संचालक को किराए पर दिए गए मकान काे लेकर हुए घटनाक्रम के बाद शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को स्कूल संचालक विजयसिंह चौहान ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूर्व मंत्री शशिदत्ता व उनके परिजनों पर गंभीर आरोप लगाए। इस मौके पर पीसीसी महासचिव मनीष धारणियां, समाजसेवी सुमन चावला, पार्षद राजेश मदान, कांग्रेस नेता सौरभ राठौड़ व पूर्व पार्षद अनिल खीचड़ भी मौजूद रहे। चौहान ने कहा कि उनके पास 31 दिसंबर 2018 तक किराए का करार था लेकिन बीच में ही मकान खाली करने का दबाव बनाया जाने लगा। स्कूल में बच्चों के करीब 350 बच्चों के एडमिशन होने के कारण एकाएक मकान खाली करना संभव नहीं था। इसके बाद मामले को लेकर मौजिज लोगों के बीच बैठकर बात भी हुई लेकिन सात जून को एकाएक ही गुंडागर्दी करते हुए पूरे स्कूल का सामान तहसनहस कर दिया गया। चौहान ने आरोप लगाया कि तोड़फोड़ करने वाले लोग उनके स्कूल में लगे कंप्यूटर और हिसाब-किताब की बहियां आदि भी गाड़ी में लादकर ले गए। चौहान ने यह भी कहा कि उन्होंने आईपीएस पंकज चौधरी को किसी तरह की धमकी नहीं दी। मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उनके मुंह से कुछ गलत निकल गया तो उसके लिए क्षमा मांगता हूं। उन्होंने अपने परिवार को जान का खतरा भी बताया। खास बात यह है कि विजयसिंह चौहान ने 31 दिसंबर तक मकान किराए का कांट्रेक्ट की बात तो कही गई लेकिन इसके दस्तावेज उनके पास नहीं थे। चौहान ने कहा कि कांट्रेक्ट के पेपर्स भी स्कूल में ही रखे थे जो जरूरी कागजात के साथ ही चले गए।उधर, पूर्व मंत्री शशिदत्ता का कहना है कि किराए का कांट्रेक्ट दिसंबर 2017 में ही खत्म हो चुका था।

स्कूल संचालक ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूर्व मंत्री व उनके परिजनों पर लगाए आरोप