Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» किसान ने नंदीशाला को एक साल के लिए दे दी अपनी 12 बीघा जमीन, हरे चारे की होगी व्यवस्था

किसान ने नंदीशाला को एक साल के लिए दे दी अपनी 12 बीघा जमीन, हरे चारे की होगी व्यवस्था

चक 34 एमएमके के किसान मुखराम पुत्र मलूराम ने यहां की श्याम नंदीशाला को अपनी 12 बीघा जमीन काश्त के लिए एक वर्ष के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 03:45 AM IST

चक 34 एमएमके के किसान मुखराम पुत्र मलूराम ने यहां की श्याम नंदीशाला को अपनी 12 बीघा जमीन काश्त के लिए एक वर्ष के लिए दान स्वरूप दी है। एक वर्ष में जमीन में जितनी उपज होगी उससे नंदीशाला में पशुओं के लिए हरे चारा की व्यवस्था होगी। सबसे बड़ी बात यह है कि इस किसान के पास 12 बीघा जमीन ही है। उसे भी किसान ने नंदीशाला को काश्त के लिए दान दे दी। किसान मुखराम के अनुसार उसका बेटा प्रोपर्टी डीलर के धंधे से जुड़ा हुआ है। उससे घर का गुजारा हो रहा है। उसकी इच्छा थी कि वह जमीन ऐसी गोशाला अथवा नंदीशाला को दे जहां इसकी जरूरत हो। उसी के चलते सिहागान की नंदीशाला को जमीन एक वर्ष के लिए काश्त करने के लिए दे दी ताकि इससे नंदीशाला को सहयोग मिले। मुखराम ने नंदीशाला के सदस्य प्रभुदयाल धतरवाल, अध्यक्ष रामस्वरूप गेदर, रजीराम गेदर, रामजी मोटसरा को इसके एक वर्षीय ठेके की लीज सौंपी।

रघुवीर सहारण ने किया प्रेरित, तब की सकारात्मक पहल

नंदीशाला से जुड़े रघुवीर सहारण ने मुखराम को प्रेरित किया। सरकारी अनुदान नहीं मिलने के चलते बजट के अभाव में नंदीशाला में हरे चारे की व्यवस्था में परेशानी हो रही थी। मौके पर नंदीशाला में तीन सौ से ऊपर नंदी है। जिनकी देखभाल में इस जमीन से होने वाली आमदन वरदान साबित होगी। रघुवीर सहारण इसलिए प्रेरणास्रोत साबित हुए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×