• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती
--Advertisement--

न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती

धोखे से जमीन हड़पने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग लेकर ब्राह्मण परिवार डीएसपी कार्यालय पर रविवार को...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 03:45 AM IST
न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती
धोखे से जमीन हड़पने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग लेकर ब्राह्मण परिवार डीएसपी कार्यालय पर रविवार को 9वें दिन भी धरने पर बैठा रहा। वहीं धरने पर बैठे पीड़ित बुजुर्ग भूपेंद्र कुमार शर्मा की तबीयत रविवार को बिगड़ गई। बताया जा रहा है कि उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ है। ऐसे में अब वह श्रीगंगानगर के एक निजी अस्पताल में आईसीयू में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं। हैरानी है कि प्रशासन औैर पुलिस इसे लेकर गंभीर नहीं है। जब वह पहले दिन धरने पर बैठे तो उनका स्वास्थ्य दुरुस्त था पर अब आंदोलन की यह लड़ाई उनके जीवन पर भारी पड़ गई। आज वह बुजुर्ग अपने हक और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के लिए जीवन और मृत्यु के बीच है।

बेटा और परिजन बोले-अब तक न्याय नहीं दिलवाया, पुलिस पर भरोसा किया जो टूट गया

पीड़ित के बेटे राकेश शर्मा और परिजन अनिल शर्मा ने बताया 9 दिन से धरने पर बैठे हैं पर पुलिस ने अब तक न्याय नहीं दिलवाया। पहले भी 10 दिन धरना लगाया। डीएसपी देवानंद के पांच दिन के भरोसे पर धरना उठा लिया पर पुलिस ने भरोसा तोड़ा है। गृह मंत्री गुलाब सिंह कटारिया से भी जयपुर में मिले पर सुनवाई नहीं हुई। धरने पर कमलादेवी, राकेश, पुत्रवधू विजयश्री, पौत्री आरुषि, पौत्र शुभम के अलावा रिश्तेदार मांगीलाल, कौशल्यादेवी, विक्की तथा श्रीगंगानगर शहीद भगतसिंह युवा संघर्ष समिति अध्यक्ष अनिल शर्मा बैठे। डॉ. अजय मिश्रा ने बताया कि मरीज की हालत गंभीर बनी हुई हैं। फिलहाल इलाज किया जा रहा है।

संगरिया. अस्पताल में उपचाराधीन बुजुर्ग।

संगरिया. डीएसपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठा परिवार।

ये हैं आरोप: ब्राह्मण परिवार का आरोप है कि चक 6 सीडीआर स्थित जमीन को धरने पर बैठे बुजुर्ग भूपेंद्र कुमार के भाई आत्माराम, भतीजे कमल ने पूर्व एसडीएम व अन्य लोगों से मिलकर षड़यंत्रपूर्वक फर्जी हस्ताक्षरों से अपने नाम करवा ली। शिकायत के बाद मामला दर्ज हुआ पर एफएसएल रिपोर्ट जोधपुर जांच के लिए नहीं भेजी गई। परिवार सहित धरना देने पर पुलिस ने एक जने को पकड़ा जबकि शेष आरोपी खुले घूम रहे हैं। पुलिस महानिदेशक, मुख्यमंत्री व अन्य उच्चाधिकारियों को ज्ञापन भेजे हैं, जिसमें एक वकील, राजस्व अधिकरी व अन्य के खिलाफ कानूनी कार्रवाई, गिरफ्तारी, सतर्कता टीम से जांच तथा हस्ताक्षर एफएसएल के लिए भेजने की मांग की गई है।

डीएसपी बोले: एक गिरफ्तार किया है, दूसरे पर स्टे है : डीएसपी बोले: उधर, डीएसपी देवानंद ने बताया कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा चुका है। दूसरे की गिरफ्तारी पर सोमवार तक हाईकोर्ट से स्टे है।

न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती
X
न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती
न्याय के लिए बैठा था धरने पर, अब जीवन की लड़ाई लड़ रहा बुजुर्ग को ब्रेन हेमरेज, श्रीगंगानगर के निजी अस्पताल में भर्ती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..