• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • लापता युवक की तलाश की मांग, ग्रामीणों ने थाना घेरा तो पुलिस हुई सक्रिय, बुआ के घर पर मिला, एक आरोपी पकड़ा
--Advertisement--

लापता युवक की तलाश की मांग, ग्रामीणों ने थाना घेरा तो पुलिस हुई सक्रिय, बुआ के घर पर मिला, एक आरोपी पकड़ा

कालीबंगा पंचायत से बुधवार रात खेत में काम कर रहे एक युवक का अपहरण कर उसे जातिसूचक गालियां देते हुए मारपीट करने के...

Danik Bhaskar | Jun 08, 2018, 03:50 AM IST
कालीबंगा पंचायत से बुधवार रात खेत में काम कर रहे एक युवक का अपहरण कर उसे जातिसूचक गालियां देते हुए मारपीट करने के विरोध में गुरुवार को आक्रोशित ग्रामीणों ने पीड़ित युवक के परिजनों के साथ आरोपियों की गिरफ्तारी एवं लापता युवक का पता लगाने की मांग की। इस दौरान माकपा, सीटू व दलित शोषण मुक्ति मंच सहित विभिन्न राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ थाने का घेराव कर वहां धरना प्रदर्शन किया। ऐसे में स्थिति एक बार तनावपूर्ण बन गई। बाद में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गोलूवाला थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक पुलिस टीम लापता युवक नेतराम पुत्र मालाराम निवासी कालीबंगा के परिजनों के साथ उसकी तलाश के लिए भेजी। जबकि दूसरी टीम को घटना के आरोपी गोवंश प्रेमियों की तलाश में भेजा गया। पुलिस को नेतराम रावतसर थाना क्षेत्र के चक 34000 आरडी में अपनी बुआ के घर शाम 4 बजे 16 घंटे बाद मिला। जहां से पुलिस ने उसे थाने लाकर उससे पूछताछ कर सरकारी अस्पताल में उसका मेडिकल मुआयना करवाया। वहीं पुलिस ने घटना के आरोपी अरविंद पुत्र राधाकृष्ण सुथार व दौलतराम पुत्र बद्रीप्रसाद जाट निवासी कालीबंगा में से अरविंद को राउंडअप कर लिया। इसके बाद आक्रोशित प्रदर्शनकारी शांत हुए।

युवक बोला;मुझे मारपीट कर थाने में ले गए, पुलिस ने वापस भेज दिया, वहां से बुआ से घर चल गया

पीड़ित नेतराम ने पुलिस के अधिकारियों को बताया कि उक्त दोनों आरोपी युवक स्वयं को गोरक्षक बताते हुए उस पर खेत की रखवाली के दौरान गोवंश के साथ मारपीट करने का आरोप लगाते हुए मारपीट के बाद थाने लाए थे परंतु मौके पर मौजूद डीओ द्वारा उसे गोभक्तों के साथ ही वापस भेज दिया। जिसके बाद वे लोग उसे चौहिलांवाली गांव के पास बंद पड़े एक पेट्रोल पंप के नजदीक फेंक गए। जहां से बदहवास हालात में वह पूरी रात पैदल चलकर सुबह 10 बजे चक 34000 आरडी अपनी बुआ के घर पहुंच गया।

आरोप-सारे कपड़े उतारकर घसीटते हुए कार में डाला: घटना को लेकर पुलिस ने पीड़ित पक्ष की रिपोर्ट पर दो नामजद आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। बिशनलाल पुत्र जगराम मेघवाल निवासी कालीबंगा ने रिपोर्ट दी कि बुधवार रात्रि 10 बजे वह अपने ताऊ के लड़के नेतराम के साथ चक 3 पीबीएन में अपने खेत की रखवाली करने गया था। वहां कार में सवार होकर अरविंद व दौलतराम आ गए और उन दोनों पर गोवंश के साथ मारपीट करने का आरोप लगाते हुए उन्हें जातिसूचक गालियां देते हुए कार से लोहे की पाइप लेकर नेतराम को पीटने लगे। शोरशराबा सुन रामू पुत्र भागीरथ वहां आया तो अरविंद व दौलतराम ने बिशनलाल व रामू को जान से मारने की धमकी देते हुए नेतराम के सारे कपड़े उतारकर उसे घसीटते हुए कार में डाल लिया।

पुलिस अधिकारियों ने पहुंच हालात काबू किए : : इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर आरोपियों के विरुद्ध जान बूझकर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तारी नहीं होने तक धरना प्रदर्शन जारी रखने की चेतावनी दी। मामला संवेदनशील होता देख सूचना मिलते ही एएसपी भादरा नरेंद्र मीणा, एएसपी हनुमानगढ़ हरिराम चौधरी, डीवाईएसपी रावतसर जय सिंह दहिया, नोहर थाना प्रभारी रणवीर साईं, गोलूवाला थाना प्रभारी हरबंस सिंह व पुलिस लाइन हनुमानगढ़ के आरआई राहुल यादव के नेतृत्व में पीलीबंगा थाने पहुंची पुलिस टीम ने मोर्चा संभाल कर हालात को कुछ काबू में किया।

पीलीबंगा. थाने के समक्ष प्रदर्शन करते लोग।