• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • सखी सेंटर निर्माण के लिए मोर्चरी के सामने दी जगह, महिला विभाग ने जताई आपति, डीडीसी के ऊपर मांगा स्थान, इस सप्ताह केंद्रीय टीम आएगी
--Advertisement--

सखी सेंटर निर्माण के लिए मोर्चरी के सामने दी जगह, महिला विभाग ने जताई आपति, डीडीसी के ऊपर मांगा स्थान, इस सप्ताह केंद्रीय टीम आएगी

कलेक्टर दिनेशचंद जैन ने मंगलवार को जिला अस्पताल स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर का जायजा लिया। इस बीच महिला अधिकारिता...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 03:50 AM IST
कलेक्टर दिनेशचंद जैन ने मंगलवार को जिला अस्पताल स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर का जायजा लिया। इस बीच महिला अधिकारिता विभाग की ओर से सेंटर के लिए खुद की बिल्डिंग निर्माण के लिए मोर्चरी के सामने की बजाए दूसरी जगह दिलाने का आग्रह किया। विकल्प के तौर पर दवा वितरण हॉल के ऊपर जगह होना बताई गई। इस पर कलेक्टर ने पीएमओ को निर्देशित करते हुए समस्या हल करने के निर्देश दिए। सुबह करीब 11 बजे कलेक्टर दिनेशचंद जैन जिला अस्पताल पहुंचे और सखी वन स्टॉप सेंटर का अवलोकन किया।

इस मौके पर महिला अधिकारिता अधिकारी शकुंतला चौधरी ने कहा कि केंद्रीय गाइडलाइन के मुताबिक सखी सेंटर के लिए भवन निर्माण प्रस्तावित है लेकिन अस्पताल प्रशासन की ओर से जगह मोर्चरी के सामने उपलब्ध कराई जा रही है जोकि उत्पीड़ित महिलाओं के सेंटर के मद्देनजर सही नहीं हैं। ऐसे में वर्तमान अस्थाई जगह पर सेंटर संचालित है। 14 जून को विद्या विश्वनाथन के नेतृत्व में केंद्रीय कंसल्टेंट टीम का निरीक्षण प्रस्तावित है। उन्होंने अस्पताल प्रशासन से दूसरी जगह उपलब्ध कराने का आग्रह किया। इसके लिए कलेक्टर ने कहा कि दवा वितरण हॉल के ऊपर बिल्डिंग का निर्माण हो सकता है या नहीं इसके लिए पीडब्ल्यूडी को पत्र लिखने के निर्देश दिए। इस मौके पर पीएमओ डॉ.दीपक मित्र सैनी, डॉ.नजेंद्रसिंह शेखावत आदि मौजूद थे।

कलेक्टर ने ब्लड बैंक का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। ब्लड कंपोनेट सेपरेशन यूनिट संचालन को लेकर जानकारी ली। पीएमओ ने अवगत कराया कि ब्लड कंपोनेट सेपरेशन यूनिट लाइसेंस के लिए आवेदन किया जा चुका है। लाइसेंस जारी होने के बाद प्रथम तल पर यूनिट संचालन शुरू करने के साथ ही ब्लड भी वहां पर लिया जा सकेगा। तत्कालीन पीएमओ डॉ. नजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा कि बारिश के समय अस्पताल की छत से पानी टपकता है। छतों में सीलन आने के साथ रंगरोगन खराब हो गया है। वहीं ड्रेनेज सिस्टम की समस्या से अवगत कराया। एनएचएम अधिकारियों को पत्र लिखने के बाद भी ध्यान नहीं दिया जा रहा। इस पर कलेक्टर ने एनएचएम एक्सईएन चुरु एंव जिला प्रभारी सचिव से वार्ता कर समस्या हल कराने की बात कही।

हनुमानगढ़. जिला अस्पताल का निरीक्षण करते कलेक्टर।