• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • स्वास्थ्य विभाग का फरमान, 29 तक ज्वाइन नहीं किया तो करेंगे नई भर्ती
--Advertisement--

स्वास्थ्य विभाग का फरमान, 29 तक ज्वाइन नहीं किया तो करेंगे नई भर्ती

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) में लगे संविदाकर्मियों को वापस ज्वाइन करने के लिए स्वास्थ्य विभाग दबाव बना...

Dainik Bhaskar

May 29, 2018, 03:55 AM IST
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) में लगे संविदाकर्मियों को वापस ज्वाइन करने के लिए स्वास्थ्य विभाग दबाव बना रहा है। विभाग ने एक आदेश जारी किया है कि अगर संविदाकर्मी 29 मई शाम पांच बजे तक ड्यूटी ज्वाइन कर लें, नहीं तो नई भर्ती निकाली जाएगी। इससे संविदाकर्मियों में हड़कंप मचा हुआ है। कर्मचारियों का कहना है कि विभाग उन लोगों पर दबाव बनाने के लिए ऐसा कर रहा है। जबकि उन लोगों को स्थाई करण करने के मुद्दे पर कोई बात नहीं कर रहा है। उल्लेखनीय है कि संविदाकर्मियों ने विभिन्न मांगों को लेकर 26 फरवरी से सामूहिक अवकाश लेकर हड़ताल पर हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग में काम नहीं हो पा रहा है।

काम क्लर्क का, वेतन चपरासी का भी नहीं: वैसे संविदा कर्मियों से काम तो क्लर्क का लिया जा रहा है लेकिन वेतन चपरासी का भी नहीं दिया जा रहा है। खास बात यह है कि उन्हें नरेगा श्रमिकों से भी कम वेतन मिल रहा है। जबकि उनसे दस से 12 घंटे काम लिया जा रहा है। स्थिति यह है कि ठेके पर काम करने वाले कर्मचारियों की पगार में तो कई सालों से एक पैसा भी नहीं बढ़ा है। इससे कर्मियों को काफी परेशानी हो रही है।

वेतन बढ़ाने की जा रही है मांग


सरकार का आया है आदेश


दस प्रतिशत की होनी थी वेतन में वृद्धि

वर्तमान में संविदाकर्मियों को करीब 12 हजार रुपए वेतन मिल रहा है। जबकि वित्तीय विभाग ने संविदाकर्मियों का हर साल दस फीसदी वेतन बढ़ाने की सिफारिश की थी लेकिन इस पर अभी तक कोई अमल नहीं किया गया। संविदाकर्मियों का कहना है कि नियुक्ति के समय प्रतिवर्ष दस प्रतिशत वेतन बढ़ाने की बात कही गई थी लेकिन दस साल से उसी मानदेय पर काम करवाया जा रहा है जबकि महंगाई चार गुना बढ़ गई है। संविदा कर्मियों ने वेतन में वृद्धि करने की मांग को लेकर प्रमुख वित्त सचिव जयपुर को ज्ञापन भी प्रेषित किया है। नियुक्ति के समय दस प्रतिशत वेतन बढ़ाने की बात कही गई थी लेकिन इस पर अभी तक कोई अमल नहीं किया गया।

ये हैं तीन मुख्य मांगे

1.एनआरएचएम में कार्यरत समस्त संविदाकर्मियों को स्थाई किया जाए।

2.संविदाकर्मियों पर दर्ज मामले वापस लिया जाए।

3.गत वर्ष आंदोलन के दौरान हुए समझाता को लागू किया जाए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..