Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» एक दिन के लिए स्थगित हुई बीबीएमबी की बैठक, सिंचाई पानी मिलने की उम्मीद कम क्योंकि बांधों का जलस्तर कम

एक दिन के लिए स्थगित हुई बीबीएमबी की बैठक, सिंचाई पानी मिलने की उम्मीद कम क्योंकि बांधों का जलस्तर कम

आईजीएनपी सिंचित क्षेत्र में खरीफ की फसलों पर सिंचाई का संकट लगातार गहरा रहा है। प्रदेश के हिस्से का पानी तय करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 29, 2018, 03:55 AM IST

आईजीएनपी सिंचित क्षेत्र में खरीफ की फसलों पर सिंचाई का संकट लगातार गहरा रहा है। प्रदेश के हिस्से का पानी तय करने के लिए सोमवार को होने वाली बीबीएमबी की बैठक एक दिन के लिए स्थगित की गई है। अब यह बैठक मंगलवार को होगी लेकिन अधिकारियों से मिल रही जानकारी के मुताबिक अभी सिंचाई के लिए पानी मिलना बेहद मुश्किल है। बांधों के नीचे जलस्तर और कम आवक के कारण सिंचाई पानी मिलने की संभावना कम नजर आती है। हालांकि जलसंसाधन विभाग की ओर से सिंचाई लायक पानी उपलब्ध करवाने की मांग रखी गई है।

इस साल खरीफ सीजन में किसानों को अभी तक सिंचाई पानी नहीं मिला है। इस साल नहरों में दस मई से लगातार पेयजल ही चलाया जा रहा है। आईजीएनपी मुख्य नहर की रि-लाइनिंग के दौरान ली गई बंदी के बाद सिंचाई के लिए पानी मिलने की उम्मीद थी लेकिन बांधों में कम आवक के कारण पेयजल ही मिल रहा है। यही वजह है कि इस साल नरमा-कपास का बिजाई का रकबा कम रहने की आशंका जताई जा रही है। गौरतलब है कि क्षेत्र में नरमा-कपास की पछेती बिजाई भी अधिकतम 30 मई तक ही होती है। इस सप्ताह के अंत तक हुई बिजाई के आंकड़े कृषि विभाग के पास मंगलवार तक उपलब्ध होंगे लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि पिछले साल के मुकाबले रकबा काफी कम रह सकता है।

मुख्य अिभयंता केएल जाखड़ के बताया कि बांधों का कम जलस्तर और कमजोर आवक चिंता का विषय बनी हुई है। बीबीएमबी की तकनीकी समिति की बैठक को एक दिन स्थगित किया गया है। अब मंगलवार को बैठक होगी। इसमें सिंचाई लायक पानी की मांग रखेंगे लेकिन फिलहाल इसकी संभावना कम ही नजर आती है।

आज होने वाली बैठक में पानी पर चर्चा, इस साल खरीफ बुवाई के लिए नहीं मिला पर्याप्त पानी

पौंग का जलस्तर पिछले साल 1294 फीट, अब 1286

मौसम के अप्रत्याशित रूख के चलते अभी तक बांधों में पानी की आवक बेहद कम रही है। इस कारण जलस्तर भी बेहद कम है। जलसंसाधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार रणजीतसागर बांध का लेवल पिछले साल के 513.61 के मुकाबले 499.03 मीटर ही है। पौंग का जलस्तर 1294.55 फीट के मुकाबले 1286.90 फीट और भाखड़ा बांध का 1547.20 के मुकाबले 1494.40 फीट ही रहा। इससे भी अधिक चिंता बांधों में पानी की आवक को लेकर है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक 28 मई को रणजीतसागर बांध में 6474, भाखड़ा में 9887 और पौंग में मात्र 1010 क्यूसेक पानी की ही आवक हो रही थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×