Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग

सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग

भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़ किसान आंदोलन का असर दूसरे दिन ही शहरी क्षेत्र में नजर आने लगा है। शनिवार को गंगमूल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 03, 2018, 03:55 AM IST

  • सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग
    +2और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़

    किसान आंदोलन का असर दूसरे दिन ही शहरी क्षेत्र में नजर आने लगा है। शनिवार को गंगमूल डेयरी के 34 साल के इतिहास में शायद ऐसा पहला दिन था, जब दोनों समय एक लीटर दूध भी नहीं पहुंचा। सामान्य: गंगमूल डेयरी में हर रोज 135000 लीटर दूध की आवक होती है। दूध नहीं आने के कारण अधिकांश सरस बूथ पर भी दूध के पैकेट नहीं मिले। शहर की करीब-करीब सभी प्राइवेट डेयरियों पर दूध उपलब्ध नहीं था। इससे लोगों की परेशानी बढ़ती जा रही है। शनिवार को मार्किट में सब्जी तो नजर आई लेकिन किसानों ने शहर में जुलूस निकालकर सब्जी व्यापारियों से आंदोलन में सहयोग की मांग की। ऐसे में माना जा रहा है कि रविवार से सब्जियों की भी किल्लत नजर आने लगेगी। शनिवार को ही सब्जियों के भाव 20-25 प्रतिशत तक बढ़ गए। इसके अलावा फलों की आपूर्ति पहले से ही बंद है। इस सबके बीच प्रशासन लीपापोती में जुटा हुआ है। प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक सरस डेयरी से मिल्क पाउडर उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया है ताकि दूध की किल्लत महसूस न हो। हकीकत यह है कि मिल्क पाउडर का इस्तेमाल काफी कम लोग करते हैं। ऐसे हालात में मिल्क पाउडर की उपलब्धता से लोगों की समस्या हल होती नहीं दिख रही है। किसान संगठनों की ओर से भी पहले की घोषणाओं के अनुसार आसपास के गांवों में दूध या सब्जी की स्टॉलें नहीं लगाई हैं। इससे रविवार के बाद लोगों को दूध के साथ-साथ सब्जी की किल्लत का भी सामना करना पड़ सकता है।

    गोशाला ने भी दूध आपूर्ति नहीं करने का आश्वासन दिया : ट्रैक्टर रैली लेकर निकले किसानों ने जंक्शन स्थित श्री गोशाला समिति के पदाधिकारियों से भी वार्ता की। गोशाला समिति के अध्यक्ष इंद्र हिसारिया ने किसान आंदोलन के समर्थन में दस जून तक दूध की सप्लाई ना करने का समर्थन पत्र किसान नेताओं को सौंपा।

    जिला मुख्यालय पर किसानों ने निकाली रैली, रविवार से सब्जियों की किल्लत होने की भी आशंका

    हनुमानगढ़. डेयरी में प्रशासन से वार्ता करते किसान नेता एवं गांव मक्कासर में सब्जी वाले रोककर उसकी सब्जी वहीं बेचने लगे किसान। (संबंधित समाचार पेज 13 पर भी)

    आमजन को साथ जोड़ने के उद्देश्य से किसानों की ओर से शनिवार को जिला मुख्यालय पर ट्रैक्टर रैली निकाली गई। रैली हनुमानगढ़ बाजार से धान मंडी होती हुई गंगमूल डेयरी पर संपन्न हुई। कांग्रेस नेता डॉ. सौरभ राठौड़, रामप्रताप भांभू, सुनील नैन आदि ने किसानों को संपूर्ण कर्ज मुक्त करने और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग की। वक्ताओं ने कहा कि 50 हजार की कर्ज माफी पर्याप्त नहीं है। इसकी बजाय किसानों का पूरा कर्ज माफ होना चाहिए। इस मौके पर बनवारीलाल राहड़, रणधीर सिंह, कुलदीप नरूका, शाहरुख खान, बलदेवराज सुथार आदि मौजूद रहे। किसानों ने गंगमूल डेयरी के एमडी को ज्ञापन सौंपकर गांवों से दूध की कलेक्शन रोकने की मांग की। वार्ता के दौरान तहसीलदार सुभाष कड़वासरा, डीवाईएसपी वीरेंद्र जाखड़ व जंक्शन सीआई राजेश सिहाग भी मौजूद रहे।

    गोशाला कर्मी से हाथापाई दूध के कैन लेकर भागे

    किसान आंदोलन की आड़ में शरारती तत्व भी अराजकता फैलाने के उद्देश्य से सक्रिय हो रहे हैं। शनिवार देर शाम को कुछ युवकों ने जंक्शन में शिव कुटिया के पास खुंजा गोशाला से दूध ले जाने वाले कर्मचारी को रोक लिया। जानकारी के मुताबिक युवकों ने गोशाला कर्मचारी से हाथापाई की और दूध के कैन लेकर भाग गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पूछताछ भी की।

    टाउन-जंक्शन में 10 जगहों पर

    उपलब्ध रहेगा ड्राई मिल्क

    दूध की उपलब्धता को देखते हुए प्रशासन ने जंक्शन और टाउन में दस जगहों पर ड्राई मिल्क की व्यवस्था की है। जानकारी अनुसार कलेक्टर के निर्देश पर डेयरी एमडी ने जंक्शन और टाउन के 10 उपभोक्ता होलसेल भंडारों पर यह सुविधा उपलब्ध करवाई है। उन्होंने बताया कि इन दस जगहों पर ड्राई मिल्क उपलब्ध रहेगा। इसमें भारत एजेंसी, मंगवाना एजेंसी, सुभाष गोयल, अग्रवाल डेयरी, पंजाब स्वीट हाऊस, रवि टिब्बी रोड, आत्मा राम सरस एजेंसी टाउन, गुरुनानक स्वीट टाउन, दलीप एजेंसी, गौतम डेयरी टाउन शामिल है। प्रशासन की ओर से सप्लाई देने के लिए आ रहे वाहनों को जबरन राेकने की स्थिति में कार्रवाई की बात कही गई है जबकि हकीकत यह है कि सब्जी व फलों से भरे वाहनों को रास्ते में रोका जा रहा है। सब्जी व्यापारी राजकुमार ननकानी ने बताया कि मक्कासर के पास आमों से भरा वाहन रोक लिया गया और बाद में इसकी एवज में कुछ राशि दे दी गई। हालांकि सप्लायर को करीब 10-12 हजार रुपए का नुकसान हो गया।

    शनिवार को डेयरी में एक लीटर भी दूध नहीं पहुंचा। मिल्क पाउडर उपलब्ध करवाकर स्थिति को नियंत्रित किया जाएगा। रविवार को गंगमूल डेयरी के बाहर स्थित बूथ पर दूध के पैकेट मिलेंगे। अभी डेयरी के पास 70000 लीटर दूध का स्टॉक है। पीके गोयल, एमडी, गंगमूल डेयरी

    डेयरी प्रबंधन को दूध की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। डेयरी ने मिल्क पाउडर उपलब्ध करवाने की बात कही है। किसी भी वाहन को जबरन रोकने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन स्थिति पर नजर बनाए हुए है। दिनेशचंद जैन, कलेक्टर

    शुक्रवार रात को कुछ सब्जियां मंडी में पहुंची थी। अब किसानों ने मंडी में आकर व्यापारियों से वार्ता की है। सब्जी नहीं बेचने के लिए कहा गया है। इसके अलावा जगह-जगह वाहन भी रोके जा रहे हैं। रविवार को मंडी में सब्जी उपलब्ध होने की उम्मीद कम है। राजकुमार नानकानी, सब्जी व्यापारी

    भास्कर देर रात 12:30 बजे; असामाजिक तत्वों ने 40 कैरेट दूध से भरी जीप पर बोला धावा, सड़क पर बिखेरा

    हनुमानगढ़| शनिवार रात 12:30 बजे जंक्शन अरोड़वंश धर्मशाला के पास 40 कैरेट दूध से भरी जीप पर असामाजिक तत्व युवकों ने धावा बोल दिया। जीप में से कैरेट निकाल निकाल कर सारा दूध सड़क पर बिखेर दिया यह जीप सरस डेयरी से आ रही थी, जो जंक्शन में एक दुकान पर जानी थी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची जंक्शन पुलिस, तब तक असामाजिक तत्व युवक फरार हो चुके थे सूत्रों के अनुसार यह युवक समीपवर्ती गांव से ही हैं। इसके बाद दुकानदारों ने मौके पर पहुंचकर रोष जताया और खाली कैरेट इकट्ठे कर सड़क को साफ किया। समाचार लिखे जाने तक पुलिस मौके पर मौजूद थी। स्वीट्स कॉर्नर के संचालक महावीर व प्रेम शर्मा ने बताया कि इससे करीब 25 से ₹30000 का नुकसान हुआ है।

    अरोड़वंश धर्मशाला के पास सड़क पर बिखेरे गए दूध के कैरेट।

  • सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग
    +2और स्लाइड देखें
  • सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Hanumangarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सप्लाई नहीं अाने से सब्जियों के दाम 25% तक बढ़े, गंगमूल को 34 साल में पहली बार नहीं मिला दूध, भटकते रहे लोग
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×