• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • पालना गृह में आए बच्चे जयपुर रेफर, एक का जेके लोन तो दूसरे का एसएमएस में होगा उपचार
--Advertisement--

पालना गृह में आए बच्चे जयपुर रेफर, एक का जेके लोन तो दूसरे का एसएमएस में होगा उपचार

हनुमानगढ़| जिला अस्पताल में पालना गृह में छोड़े गए दोनों बच्चों को उपचार के लिए गुरुवार को जयपुर रेफर कर दिया गया।...

Danik Bhaskar | Jun 15, 2018, 03:55 AM IST
हनुमानगढ़| जिला अस्पताल में पालना गृह में छोड़े गए दोनों बच्चों को उपचार के लिए गुरुवार को जयपुर रेफर कर दिया गया। बाल कल्याण समिति के निर्देश पर अस्पताल प्रशासन ने एंबुलेंस गाड़ी में केयर टेकर और नर्सिंग स्टाफ के साथ दोनों बच्चों को जयपुर रवाना किया। अज्ञात परिजन बच्चों को अनचाहे नवजात शिशु को आश्रय के उद्देश्य से बनाए गए पालना गृह में बीमारी की हालत में छोड़ गए थे। आशंका है कि परिजन बीमारी का इलाज करने में असमर्थता के चलते बच्चे पालना गृह में छोड़ गए। पीएमओ डॉ. दीपकमित्र सैनी ने बताया कि चार जून को पालना गृह में छोड़ी गई दो साल की बच्ची को सेरेब्रल पाल्सी रोग से ग्रसित होने के कारण जेके लोन अस्पताल जयपुर रेफर किया गया है। वहीं नौ जून को पालना गृह में छोड़े गए छह माह के बच्चे को हृदय वाल्व खराब होने एवं जन्मजात मोतियाबिंद होने के कारण एसएमएस अस्पताल में रेफर किया गया है। बाल कल्याण समिति सदस्य देवकीनंदन चौधरी ने बताया कि इस संबंध में जयपुर बाल कल्याण समिति से समन्वय स्थापित कर सूचित कर दिया गया है। जयपुर में उपचार और बच्चों की देखभाल चाइल्ड लाइन और बाल कल्याण समिति की ओर से किया जाएगा। गौरतलब है कि हनुमानगढ़ जिला अस्पताल में अब तक ऐसे तीन मामले सामने आ चुके हैं जिनमें परिजन बीमार बच्चे को पालना गृह में छोड़ गए जबकि पालना गृह अनचाहे नवजात शिशुओं को लोग झाड़ियों में नहीं फेंके इसलिए बनाया गया था। ऐसे में पालना गृह में बीमार बच्चों को डालकर दुरुपयोग किया जाने लगा है।