• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • आईटीआई व डिप्लोमा बेरोजगार मोर्चा ने रोष मार्च निकाला, तहसील पर प्रदर्शन
--Advertisement--

आईटीआई व डिप्लोमा बेरोजगार मोर्चा ने रोष मार्च निकाला, तहसील पर प्रदर्शन

आईटीआई व डिप्लोमा बेरोजगार मोर्चा ने गुरुवार को एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया। मोर्चा का आरोप है कि सरकार...

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 03:55 AM IST
आईटीआई व डिप्लोमा बेरोजगार मोर्चा ने गुरुवार को एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया। मोर्चा का आरोप है कि सरकार ठेका प्रथा लागू कर डिप्लोमाधारी बेरोजगार युवकों की अनदेखी कर रही है। आंदोलित युवा श्रीसीमेंट, थर्मल व अन्य सरकारी उपक्रमों में आईटीआई व डिप्लोमाधारियों का कोटा तय करने व नौकरी में प्राथमिकता की मांग कर रहे थे। इससे पहले आईटीआई व डिप्लोमा स्टूडेंट्स सुबह 10 बजे इंदिरा सर्कल पर एकत्रित हुए। यहां से रोष मार्च निकालते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। जहां प्रदर्शन कर सभा की। सभा में मोर्चा संयोजक ओम राजपुरोहित व राकेश बिश्नोई ने संबोधित किया। मांग पूरी नहीं हुई तो स्टूडेंट्स 2 जुलाई को एसडीएम दफ्तर पर धरना-प्रदर्शन करेंगे।

तहसील में प्रवेश से रोका तो पुलिस के साथ हुई झड़प

आंदोलित युवकों को पुलिस ने तहसील कार्यालय में जबरन प्रवेश करने से रोका। इस पर पुलिस पर स्टूडेंट्स के बीच 10 मिनट तक धक्का-मुक्की चलती रही। बाद में मोर्चा ने मांग का तहसीलदार मंगतूराम को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा। सीएम को भेजे ज्ञापन में कहा है कि श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में 25 हजार आईटीआर्इ व डिप्लोमा स्टूडेंट्स बेरोजगार हैं। थर्मल में वर्ष 1997-98 में तकनीकी कर्मचारियों की भर्ती हुई थी। श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ के स्टूडेंट्स को प्राथमिकता के आधार पर रोजगार दिया गया था। वर्ष 1998 के बाद पावर प्लांट में राजस्थान व अन्य प्रदेशों के स्टूडेंट्स को रोजगार दिया जाने लगा जो क्षेत्र के युवाओं के साथ अन्याय है।

उद्योगों का प्रदूषण यहां के लोग झेल रहे, इसलिए मांग

इंटक प्रदेश संगठनमंत्री श्यामसुंदर शर्मा, मोर्चा के जयवर्धन सिंह, भवानी चौधरी, सुशील कनौजिया, रामनिवास ओझा, सत्यनारायण जोशी, भारतभूषण उपाध्याय, यूथ कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष गगनदीप विडिंग, सत्यप्रकाश सिहाग, राजू जाट, विजय मुदगल(लड्‌डू) राधेश्याम उपाध्याय, महेंद्र कुमार आदि छात्र शामिल थे। युवाओं का कहना है कि क्षेत्र के लोग थर्मल का धुंआ, राखी व अन्य प्रदूषण की मार झेल रहे हैं। ऐसे में स्थानीय युवाओं को औद्योगिक इकाइयों में रोजगार के लिए प्राथमिकता मिलनी ही चाहिए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..