• Hindi News
  • Rajasthan
  • Hanumangarh
  • पानी के ऑक्सीजन लेवल व रंग में हुआ सुधार, पीएचईडी ने वाटरवर्क्स में शुरू किया भंडारण, अब सुधरेगी सप्लाई
--Advertisement--

पानी के ऑक्सीजन लेवल व रंग में हुआ सुधार, पीएचईडी ने वाटरवर्क्स में शुरू किया भंडारण, अब सुधरेगी सप्लाई

आईजीएनपी में पानी का रंग बदलने के साथ ही ऑक्सीजन लेवल में भी सुधार हुआ है। शनिवार को लिए गए सैंपल की जांच रिपोर्ट...

Dainik Bhaskar

May 27, 2018, 04:00 AM IST
पानी के ऑक्सीजन लेवल व रंग में हुआ सुधार, पीएचईडी ने वाटरवर्क्स में शुरू किया भंडारण, अब सुधरेगी सप्लाई
आईजीएनपी में पानी का रंग बदलने के साथ ही ऑक्सीजन लेवल में भी सुधार हुआ है। शनिवार को लिए गए सैंपल की जांच रिपोर्ट सही आने पर पीएचईडी ने हैड वाटरवर्क्स में पेयजल का भंडारण शुरू कर दिया। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि नहरी पानी की पूरी तरह से मॉनिटरिंग की जा रही है। इसके लिए दिन में दो से तीन बार सैंपल लिए जा रहे हैं। अगर पानी का रंग फिर बदलता है तो तुरंत ही भंडारण बंद किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। पीएचईडी की टीम ने शनिवार को लोहगढ़ हैड, संगरिया, मसीतांवाली हैड और हनुमानगढ़ में नहरी पानी के सैंपल लिए। जांच के बाद अधिकारियों ने कहा कि ऑक्सीजन लेवल और रंग में सुधार होने के साथ ही पेयजल भंडारण योग्य है। इसके बाद एसई पीएचईडी ने देर शाम को पेयजल भंडारण शुरू किए जाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इससे पहले नहरी पानी के सैंपल की जंक्शन स्थित पीएचईडी की लैब में जांच के बाद टीम के सदस्य अधिकारी कलेक्टर से मिले और उनको वस्तुस्थिति से अवगत कराया।

एसई बोले-जांच रिपोर्ट सही आने पर भंडारण कराया शुरू, मॉनिटरिंग जारी रहेगी

पीएचईडी के एसई अमरचंद गहलोत का कहना है कि टीम ने नहरी पानी के सैंपल लेकर जांच की है। जांच रिपोर्ट सही आने पर पेयजल भंडारण शुरू करा दिया गया है। एहतियात के तौर पर रोजाना सुबह-शाम नहर से पानी के सैंपल लेकर जांच कराई जा रही है। पानी में दोबारा किसी तरह की आशंका होने पर तुरंत भंडारण बंद करने के लिए निर्देशित किया है। पीएचईडी की टीम लगातार इसकी मॉनिटरिंग कर रही है।

आॅक्सीजन की मात्रा कम होने से बंद किया था भंडारण

गत 16 मई को पंजाब में व्यास नदी में शुगर मिल का शीरा और अन्य प्रदूषण तत्व मिलने के बाद राजस्थान की नहरों में आ गया था। पानी में प्रदूषित तत्व मिलने के बाद घुलनशील ऑक्सीजन की मात्रा बेहद कम हो गई थी। इसी कारण जलीय जंतु ऑक्सीजन के अभाव में मरने लगे थे। नहरों में काले पानी के साथ मृत सांप व मछलियां आ रहे थे। जहरीले पानी से आमजन के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ने के मद्देनजर पीएचईडी ने गत 20 मई को नहरी पानी के वाटरवर्क्स में भंडारण पर रोक लगा दी थी।

X
पानी के ऑक्सीजन लेवल व रंग में हुआ सुधार, पीएचईडी ने वाटरवर्क्स में शुरू किया भंडारण, अब सुधरेगी सप्लाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..