• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • व्याख्याता ने तकनीक के सहारे तैयार किया मिनी रोबोट, सेंसर पहचान लेगा व्यक्ति की हलचल, बज उठेगा सायरन, अंधेरे में दिखाएगा रास्ता
--Advertisement--

व्याख्याता ने तकनीक के सहारे तैयार किया मिनी रोबोट, सेंसर पहचान लेगा व्यक्ति की हलचल, बज उठेगा सायरन, अंधेरे में दिखाएगा रास्ता

रात्रि को घर की लाइट जाने या कमरे की लाइट बंद होने पर हम अपनी हलचल से ही रास्ता देख सकते हैं। सुनने में यह अजीब सा...

Danik Bhaskar | Jun 15, 2018, 04:00 AM IST
रात्रि को घर की लाइट जाने या कमरे की लाइट बंद होने पर हम अपनी हलचल से ही रास्ता देख सकते हैं। सुनने में यह अजीब सा लगता है परंतु कस्बे के एक युवा अध्यापक एवं इंजीनियर ने अपने जुनून व टैक्नोलॉजी से एक मिनी रोबोट तैयार कर यह संभव कर दिखाया है।

प्रकाश मॉडल सीनियर सेकंडरी स्कूल पीलीबंगा के भौतिक विज्ञान के व्याख्याता अनितपाल सिंह ने यह रोबोट तैयार किया है। इस रोबोट की मदद से घर के दरवाजे पर आने वाले व्यक्ति की आहट से उसके आगमन का भी पता लगाया जा सकता है। व्याख्याता ने मामूली खर्चे में माइक्रो चिप, सेंसर और एलईडी के ही उपयोग से यह डिवाइस तैयार किया है। शनिवार को अनितपाल सिंह ने विद्यालय में बच्चों को इस रोबोट का अवलोकन करवाते हुए उन्हें इसका प्रयोग कर इसके उपयोग व इसे बनाने की विधि के बारे में बताया। सिंह इस डिवाइसेज का व्यवसायिक तौर पर भी निर्माण करवाकर आमजन को दैनिक जीवन में काम आने वाली सस्ती तकनीक के उपकरण उपलब्ध करवाना चाहते हैं।

वर्ष 2015 से अब तक अनितपाल सिंह इस प्रकार के कई डिवाइस बना चुके हैं जो व्यक्ति की दैनिक जीवन में काम आ सकते हैं। अब तक अनितपाल सिंह सेंसर बेस्ड सिक्युरिटी सिस्टम, घरेलू उपकरणों पर नियंत्रण करने के लिए मोबाइल एप व लेजर सिक्युरिटी सिस्टम डिवाइस बना चुके हैं। अनितपाल सिंह ने बताया कि भविष्य में उनकी योजना विद्यालय के छात्रों के साथ मिलकर कुछ अन्य डिवाइसेज को बनाने की है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार के डिवाइस बनाने का उनका मूल उद्देश्य भौतिक विज्ञान के छात्रों में रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाले उपकरणों की टैक्नोलॉजी के प्रति रुझान पैदा करना है।

पीलीबंगा के भौतिक विज्ञान के व्याख्याता अनितपालसिंह का प्रयोग

रोबोट ऐसे करता है काम

युवा इंजीनियर अनितपाल सिंह द्वारा बनाया गया यह रोबोट सेंसर सिस्टम पर आधारित है। रात को कमरे की लाइट बंद होने या अचानक से लाइट चले जाने पर प्रकाश में आए बदलाव से इसमें लगा सेंसर व्यक्ति की हलचल पहचान लेता है, जिससे इसमें लगी लाइट ऑन हो जाती है। जिससे घर वाले सचेत हो सकते हैं।