Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» पालना गृह में बच्ची छोड़ने का मामला: पुलिस व अस्पताल से रिपोर्ट मांगी

पालना गृह में बच्ची छोड़ने का मामला: पुलिस व अस्पताल से रिपोर्ट मांगी

दो साल तक मां के आंचल में लिपटी रही बच्ची जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में मां के दुलार का इंतजार कर रही है। इस बीच...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 06, 2018, 04:05 AM IST

पालना गृह में बच्ची छोड़ने का मामला: पुलिस व अस्पताल से रिपोर्ट मांगी
दो साल तक मां के आंचल में लिपटी रही बच्ची जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में मां के दुलार का इंतजार कर रही है। इस बीच केयर टेकर और नर्सिंग स्टाफ उसकी देखभाल कर रहा है। केयर टेकर उसका डायपर बदलने से लेकर दूध पिलाने और सुलाने का काम कर रही है। इस बीच बाल कल्याण समिति ने पुलिस प्रशासन को पत्र लिखकर जांच कराकर यह सुनिश्चित करने को कहा है कि कोई व्यक्ति बच्ची का अपहरण कर या चुराकर तो पालना गृह में नहीं छोड़ गया। वहीं अस्पताल प्रशासन को पत्र लिखकर बच्ची के बेहतर उपचार को लेकर रिपोर्ट मांगी है। खास बात है कि पालना गृह में सोमवार सुबह छोड़ी गई बच्ची को लेकर कानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं की गई है। दो साल की बच्ची होने के कारण इसको लेकर कई तरह की पेचीदगियों ने अधिकारियों को मुश्किल में डाल दिया है। पालना गृह में छोड़ा गई बच्ची दो साल की होने के कारण पुलिस रोजनामचे में रिपोर्ट में दर्ज करना आवश्यक है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बच्चे को माता-पिता की मर्जी के बिना चुराकर या अपहरण कर तो नहीं छोड़ा गया है। इसके बावजूद पुलिस थाना के रोजनामचा में बच्ची की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। पुलिस का कहना है कि बच्ची के पालना गृह मिलने की सूचना मिलते ही क्यूएसटी जारी कर जिलेभर के थानों को सूचित कर दिया गया था। पालना स्थल की गाइडलाइन में नवजात शिशु का स्पष्ट उल्लेख होने के बावजूद एक साल के बच्चे को लेकर भी नवजात शिशु की तरह प्रक्रिया अपनाई जा रही है। सोमवार शाम को बाल कल्याण समिति सदस्य देवकीनंदन चौधरी व राजेंद्रसिंह शेखावत ने जिला अस्पताल पहुंचकर भर्ती बच्ची के बारे में जानकारी ली।

बाल कल्याण समिति सदस्य देवकीनंदन चौधरी का कहना है कि पालना गृह में छोड़ी गई बच्ची को लेकर अस्पताल और पुलिस प्रशासन से रिपोर्ट मांगी गई है। बच्ची का बेहतर उपचार और देखभाल कहां हो सकती है इसको लेकर डॉक्टर्स की राय मांगी है।

पालना गृह में दो साल की बच्ची को दो दिन पहले छोड़ गए थे परिजन, केयर टेकर कर रहीं बच्ची की देखभाल

जिला अस्पताल में बच्चे को संभालती केयरटेकर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×