--Advertisement--

कस्बे के वार्ड 3 स्

Hanumangarh News - घर में घुसे 5 नकाबपोश, हथियार से दंपती को डराकर बंधक बनाया 30 तोले सोना, 2 लाख नकदी व कार लूट ले गए, 10 घंटे बाद मिली गाड़ी...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 04:20 AM IST
कस्बे के वार्ड 3 स्
घर में घुसे 5 नकाबपोश, हथियार से दंपती को डराकर बंधक बनाया 30 तोले सोना, 2 लाख नकदी व कार लूट ले गए, 10 घंटे बाद मिली गाड़ी


कस्बे के वार्ड 3 स्थित बीएसएनएल ऑफिस के पास रविवार रात धारदार हथियारों से लैस नकाबपोश लुटेरे एक आढ़त व्यापारी के घर में घुस गए और कमरे में सो रहे दंपती को बंधक बनाकर लाखों रुपयों के जेवरात, नकदी व कार लूट ले गए। गनीमत यह रही कि इन अज्ञात लुटेरों ने दंपती पर हमला नहीं किया। हालांकि सुबह 12 बजे यानी 10 घंटे बाद सूरतगढ़ रोड पर टोल नाके से थोड़ा पहले कार बरामद हो गई। वारदात को लेकर पुलिस ने लूट के शिकार हुए सुभाषचंद्र भादू पुत्र बलवंत सिंह जाट की रिपोर्ट पर अज्ञात लुटेरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। मौका मुआयना करने सोमवार को सुभाषचंद्र के घर पहुंचे एसपी यादराम फांसल व सीओ रावतसर जय सिंह दहिया ने बताया कि वारदात की गंभीरता को देखते हुए श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले के सभी थानों में सूचना देकर नाकाबंदी करवा दी गई है। इसके अलावा लुटेरों की तलाश के लिए तीन टीमें गठित कर उन्हें अलग-अलग क्षेत्र में रवाना कर दिया गया है। थाना प्रभारी विष्णु खत्री के अनुसार सुभाषचंद्र ने रिपोर्ट दी कि बीते रविवार की रात वह अपनी प|ी माया के साथ घर के बैडरूम में एसी चलाकर सो रहा था। उसके बच्चे बाहर गए हुए थे तभी रात्रि के करीब दो बजे पांच नकाबपोश युवक, जिनमें से चार 20 से 22 वर्ष की उम्र के तथा एक 18 वर्ष तक की उम्र का प्रतीत हो रहा था। उसके बैडरूम में आकर उसके ऊपर बैठ गए और लोहे की पाइप, गंडासी व पाइपरेंच से मारने का भय दिखाते हुए शोर नहीं मचाने का कहकर कमरे में ही पड़ी अलमारी से 30 तौले सोने के जेवरात, जिनमें दो गले के सैट, एक मंगलसूत्र, एक गले की चेन, एक कड़ा व 10 सोने की अंगूठियां शामिल हैं तथा अलमारी में ही पड़े 2 लाख की नकदी व उसकी घर के बाहर पोर्च में खड़ी कार लेकर भाग गए। वारदात के तुरंत बाद सुभाषचंद्र ने किसी तरह स्वयं को खोलकर घर की छत पर जाकर पड़ोसियों को आवाज लगाकर जगाया।

नाकाबंदी करवाई पर लुटेरे पकड़ से बाहर, व्यापारी की रिपोर्ट पर अज्ञात लुटेरों के खिलाफ केस

लाइव| पांच जने थे, पति पर हमला करने एक बढ़ा तो मैं हाथ जोड़ खड़ी हो गई, हिंदी में बात कर रहे थे सभी

मैंने मौत को बेहद करीब से देखा। रात के समय हमारे कमरे की लाइट बंद थी। पूरे घर में सिर्फ हॉल की छोटी लाइट जल रही थी। ऐसे में पांचों युवकों में से दो ने आकर मेरे पति को दबोचा तो उनकी हलचल से मेरी भी आंख खुल गई। घबरा कर उठी तो लुटेरे युवकों में से एक युवक मेरे पति पर किसी भारी लोहे की वस्तु से प्रहार करने के लिए बढ़ा तभी मैं उन सबके आगे हाथ जोड़कर खड़ी हो गई। शुद्ध हिंदी भाषा में बात कर रहे सभी लुटेरों में से तभी एक ने कहा कि इसे मत मार। मैंने लुटेरों को अलमारी की तरफ इशारा कर उसमें सामान होने का कहा। मैं पूरी तरह से सहम चुकी थी। लुटेरों ने कहा कि असली व आर्टिफिशियल ज्वैलरी कहा हैं। डरते हुए बताया तो आर्टिफिशियल ज्वैलरी को छोड़ गए। जाते वक्त लुटेरों को मोबाइल लौटाने की बात कही तो एक ने उसे एक मोबाइल घर के बाहर फेंक जाने का कहा। माया के अनुसार लुटेरे वास्तव में ही एक फोन घर के बाहर फेंक गए परंतु उसमें से सिम कार्ड और बैटरी निकाल ले गए।

(जैसा कि सुभाषचंद्र की प|ी माया देवी ने बताया)

पिछले दरवाजे से घर में घुसे, फिर ग्रिल के नट खोल हॉल में दाखिल हुए

अज्ञात लुटेरों ने बेहद योजनाबद्ध तरीके से वारदात को अंजाम दिया। लुटेरे घर के पिछले दरवाजे, जिस पर रात्रि को ताला नहीं रहता था, को खोलकर घर में घुसे और घर के पोर्च में दाखिल होकर हॉल के दरवाजे के साथ बनी खिड़कियों में लगी लोहे की ग्रिल के नट खोलकर हॉल में दाखिल हो गए और सीधे उस कमरे में जा पहुंचे जहां उक्त दंपती सो रहा था। लुटेरों ने अलमारी से नकदी व जेवरात चुराने के बाद वहीं कमरे में पड़े दुपट्टों व अन्य कपड़ों से सुभाषचंद्र व उसकी प|ी के हाथ पैर व मुंह बांधकर उनके मोबाइल छीन लिए और किसी भी प्रकार की हरकत करने पर जान से मार देने की धमकी दी। इसके बाद लुटेरों ने घर के सभी कमरों व मंदिर का भी सामान बिखेर कर वहां से कीमती सामान चुराने का प्रयास किया परंतु उन्हें वहां कुछ हाथ नहीं लगा। वारदात के बाद हॉल में ही दीवार पर टंगी कार की चाबी को लेकर लुटेरे घर के मुख्य दरवाजे पर लगे ताले को तोड़कर सुभाषचंद्र की कार से ही फरार हो गए।

एफएसएल व एमओबी टीम भी पहुंची : पुलिस सूचना के बाद जिला मुख्यालय स्थित एफएसएल व एमओबी टीम ने भी सुभाषचंद्र के घर पहुंचकर लुटेरों द्वारा घर में पड़े फ्रिज में से पानी पीने के लिए निकाली गई बोतलों व अन्य सामान को बरामद कर उनसे फिंगर प्रिंट लिए। एसपी ने बताया कि इस बरामद सामान को जांच के लिए एफएसएल लैब भेजा जाएगा।

व्यापारी और नागरिक बोले- 48 घंटों में नहीं पकड़ा तो पीलीबंगा बंद करेंगे : वहीं व्यापार मंडल ने भी अध्यक्ष शांतिलाल दफ्तरी, वरिष्ठ व्यवसायी रामेश्वरलाल पेड़ीवाल के नेतृत्व में एसपी को थाने में ज्ञापन सौंपकर आगामी 48 घंटों में लुटेरों को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए गिरफ्तारी नहीं होने पर पीलीबंगा मंडी बंद रखकर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। थाने में एकत्रित हुए व्यापारियों व आम नागरिकों ने पीलीबंगा पुलिस द्वारा रात्रि में समुचित गश्त नहीं करने के विरुद्ध आक्रोश व्यक्त करते हुए एसपी से कस्बे में रात्रि गश्त बढ़ाने की मांग भी की। इस पर एसपी ने आक्रोशित व्यापारियों को लुटेरों की शीघ्र गिरफ्तारी करने व रात्रि गश्त बढ़ाने का आश्वासन देते हुए सभी से अपने अपने मोहल्लों व घरों के आगे सीसीटीवी कैमरे लगाने का आह्वान किया।

कुछ दिन पहले भी हुआ था ऐसा प्रयास, चौकीदारों की वजह से बचा

लुटेरों द्वारा पिछले कई दिनों से कस्बे के वार्ड 3 के घरों की रैकी की जा रही थी। रविवार रात्रि को सुभाषचंद्र के घर में वारदात को अंजाम देने से पूर्व इन लुटेरों द्वारा सुभाषचंद्र के घर से कुछ ही दूरी पर स्थित एक और घर में घुसने का प्रयास किया परंतु घर के बाहर बने पोर्च में सो रहे घर के नौकरों के जाग जाने के कारण ये लोग यहां से चले गए। इसी घर के नौकरों ने बताया कि विगत 6 जून को भी एक बड़ी गाड़ी में सवार 6 युवक रात्रि के करीब 1 बजे मोहल्ले में घूम रहे थे। जिनमें से तीन लोग गाड़ी से बाहर व तीन गाड़ी के अंदर थे।

कस्बे के वार्ड 3 स्
कस्बे के वार्ड 3 स्
X
कस्बे के वार्ड 3 स्
कस्बे के वार्ड 3 स्
कस्बे के वार्ड 3 स्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..