• Home
  • Rajasthan News
  • Hanumangarh News
  • जंक्शन स्टेशन पर स्वच्छता सर्वेक्षण; शुरुआती फीडबैक पर संतोष जताया तो क्वार्टरों के पास गंदगी पर नाराजगी
--Advertisement--

जंक्शन स्टेशन पर स्वच्छता सर्वेक्षण; शुरुआती फीडबैक पर संतोष जताया तो क्वार्टरों के पास गंदगी पर नाराजगी

जंक्शन रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए क्वालिटी कौंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीम शुक्रवार को यहां...

Danik Bhaskar | May 26, 2018, 04:45 AM IST
जंक्शन रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए क्वालिटी कौंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीम शुक्रवार को यहां पहुंची। पहले दिन स्टेशन पर सफाई व्यवस्था का जायजा लेते हुए यात्रियों से फीडबैक लिया। शुरुआती सिटीजन फीडबैक में टीम ने सफाई व्यवस्था पर संतोष जताया। टीम यहां पर शनिवार को भी सर्वेक्षण कर रेलवे मंत्रालय को ऑनलाइन रिपोर्ट भेजेगी। सुबह साढ़े दस बजे क्यूसीआई टीम में शामिल दीपक कुमार और सौरभ पांडे ने स्टेशन पर पहुंचकर सर्वेक्षण शुरू किया। टीम के अधिकारी स्टेशन के तीनों प्लेटफार्म पहुंचे, इसके बाद रेलवे ट्रैक, वेटिंग रूम, शौचालय, वेटिंग रूम पहुंचे। जहां उन्होंने यात्रियों से स्टेशन की सफाई को लेकर भी चर्चा की और उनके सुझाव भी लिए। स्टेशन पर ही पेयजल व्यवस्था, एंट्री गेट, मेन गेट, पार्किंग एरिया सहित अन्य जगह पहुंचकर भी जायजा लिया। इसकी वास्तविक स्थिति की फोटो खींचकर उसे मोबाइल से ऑनलाइन रेल मंत्रालय को भेजे। इससे पहले रेलवे बाउंड्री में किरयाना एसो. के अध्यक्ष अशोक व्यास, जनरल मर्चेंट्स एसो. अध्यक्ष विजय बलाडिया सहित अन्य व्यापारियों और यात्रियों से टीम के सदस्यों ने स्वच्छता को लेकर सवाल किए। शुरुआती फीडबैक में नागरिकों ने स्टेशन पर सफाई व्यवस्था पर संतोष जताया।

टीम सदस्यों ने यात्रियों को स्टेशन को साफ-सुथरा रखने के लिए प्रेरित किया। टीम ने रेलवे के क्षतिग्रस्त क्वार्टरों की तरफ गंदगी व मलबा होने पर नाराजगी जताई। इस दौरान बीकानेर रेल मंडल के डीएन राजू माथुर, एसीएम जितेंद्र शर्मा, स्टेशन अधीक्षक मदनसिंह आदि मौजूद थे।

रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को समस्या बताते जंक्शन के व्यापारी।

300 यात्रियों से 22 सवाल पूछकर लिया जाएगा स्टेशन की सफाई का फीडबैक : शुक्रवार को शुरू हुआ यह दो दिवसीय सर्वेक्षण शनिवार को पूरा होगा। सर्वेक्षण में 300 यात्रियों से 22 तरह के सवाल पूछकर स्टेशन की सफाई का फीडबैक लिया जाएगा। रेल मंत्रालय की ओर से ए और ए वन श्रेणी के देश के 407 रेलवे स्टेशनों पर सफाई सर्वेक्षण कराया जा रहा है। सर्वे पूरा होने बाद स्टेशनों की रैंकिंग तय होगी, जिसमें करीब तीन महीने का समय लगेगा।

ऐसे होगा अंकों का निर्धारण : क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया की टीम 1000 स्वच्छता अंकों की तुलना में स्टेशनों को मिले अंकों के आधार पर रैंकिंग जारी करती है। इसमें 33 प्रतिशत अंक सफाई, 33 प्रतिशत अंक पैसेंजर फीड बैक और शेष अंक क्वालिटी कंट्रोल के दिए जाते हैं।