Hindi News »Rajasthan »Hanumangarh» 281 करोड़ के सीवरेज थर्ड फेज प्रोजेक्ट के तहत काम शुरू, पेयजल के लिए 503 व सीवरेज की 135 किमी एरिया में बिछेगी नई पाइपलाइन

281 करोड़ के सीवरेज थर्ड फेज प्रोजेक्ट के तहत काम शुरू, पेयजल के लिए 503 व सीवरेज की 135 किमी एरिया में बिछेगी नई पाइपलाइन

शहर में सीवरेज के थर्ड फेज के तहत सीवरेज-पेयजल की नई पाइपलाइन बिछाने के लिए 281 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट के तहत...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 04:45 AM IST

281 करोड़ के सीवरेज थर्ड फेज प्रोजेक्ट के तहत काम शुरू, पेयजल के लिए 503 व सीवरेज की 135 किमी एरिया में बिछेगी नई पाइपलाइन
शहर में सीवरेज के थर्ड फेज के तहत सीवरेज-पेयजल की नई पाइपलाइन बिछाने के लिए 281 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट के तहत पाइपलाइन बिछाने का काम शुक्रवार को शुरू हो गया। खुंजा एरिया में सरकारी स्कूल के पास पाइपलाइन बिछाने के लिए खुदाई का काम शुरू किया गया। इसको लेकर गत नवंबर माह में नगरपरिषद और आरयूआईडीपी के बीच एमओयू हुआ था। खास बात है कि शहर में सेकंड फेज का काम पिछले डेढ़ साल से अधर में हैं जिसे अधिकारी अब जून के प्रथम सप्ताह में शुरू कराने का दावा कर रहे हैं। अधिकारियों के मुताबिक प्रोजेक्ट के तहत शहर की सभी पेयजल पाइप लाइन बदली जाएंगी। इसके लिए शहर में 503 किलोमीटर एरिया में पेयजल पाइपलाइन बिछाई जाएगी। वहीं सीवरेज पाइपलाइन 135 किलोमीटर एरिया में बिछाई जाएगी। यह सभी सभी कार्य अनुबंधित कंपनी को 24 माह यानि 26 मई 2020 तक पूरा करने का टारगेट दिया गया है। अधिकारियों का दावा है कि यह प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद शहर में कहीं भी पेयजल की किल्लत नहीं होगी। लीकेज की समस्या भी दूर होगी। अधिकारियों की मानें तो शहर के शत-प्रतिशत घरों में नए मीटर के साथ जल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसमें मीटर तक की पाइपलाइन का खर्च उपभोक्ता से नहीं वसूला जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक इस प्रोजेक्ट से शहर की करीब दो लाख 80 हजार आबादी को फायदा होगा। इस मौके पर एक्सईएन भरत कुमार टेपन, सामाजिक सुरक्षा विशेषज्ञ संतराम सहारण, एसीईओ इंदिरा चौहान, प्रोजेक्ट डायरेक्टर विवेक गौतम, डीसीएम व्यापुरी, विकास सैनी, एडवोकेट मोहम्मद मुश्ताक जोईया आदि मौजूद थे।

शहर में पानी का 758 लाख का स्टोरेज टैंक बनेंगे, 15 दिन नहीं आएगा संकट

टाउन व जंक्शन में 40 हजार पेयजल मीटर लगने से शहर के नागरिक अत्यधिक बिल आने की आशंका के चलते पानी की बचत करेंगे। इसका फायदा भविष्य में दिखेगा। संगरिया बाइपास पर आरयूआईडीपी नहर के पानी का 758 लाख का स्टोरेज टैंक का निर्माण किया जाएगा। इसमें 15 दिन तक का पानी स्टोरेज किया जा सकेगा। अधिकारियों ने दावा कि प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद 12 मीटर दबाव के साथ लगातार 24 घंटे सभी घरों का पेयजल उपलब्ध होगा। इस तरह से बिना मोटर के चार मंजिला ऊंचाई तक पानी पहुंचेगा। इस सिस्टम से 135 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन के सर्विस लेवल जलापूर्ति हो सकेगी।

तोड़ी जाने वाली सड़कें आरयूआईडीपी ही बनाएगी : प्रोजेक्ट के तहत तोड़ी जाने वाली सड़कें आरयूआईडीपी की ओर से ही बनाई जाएंगी। इसमें चार मीटर तक की सड़क पूरी बनाई जाएगी। वहीं चार मीटर से अधिक चौड़ाई की सड़क में जितनी तोड़ी जाएगी उतनी बनाई जाएगी। सीसी की जगह सीसी और डामर रोड की जगह डामर रोड का पुर्ननिर्माण किया जाएगा।

24 माह में पूरा होगा थर्ड फेज का काम : आरयूआईडीपी एक्सईएन भरत कुमार टेपन ने बताया कि थर्ड फेज के तहत पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया गया है। यह काम 24 माह में पूरा हो गया। वहीं सेकंड फेज के तहत टाउन में ठेकेदार फर्म की ओर से छोड़े गए मिसिंग लिंक का काम जून के प्रथम सप्ताह में शुरू कराया जाएगा।

नई खुंजा में सीवरेज के तीसरे चरण के काम का शिलान्यास करते अधिकारी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hanumangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×