पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Hanumangarh News Plan To Develop Parking Spaces In The City Bhuji Nauta Crossroads

शहर में पार्किंग स्थल विकसित करने का प्लान भूली नप चौराहों व सड़क पर ही वाहन खड़े होने से आवाजाही दूभर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में मुख्य बाजार में वाहनों के बेतरतीब तरीके से खड़े होने के कारण आमजन को होने वाली परेशानी से राहत दिलाने का प्लान ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। पार्किंग स्थल विकसित करने का प्लान नगरपरिषद भूल गई है। यही कारण है कि अभी भी सड़कों पर चौराहों के पास ही वाहन खड़े किए जा रहे हैं। इससे नागरिकों की आवाजाही प्रभावित हो रही है। अधिकारियों का कहना है कि पार्किंग की समस्या चुनाव के बाद ही हल हो सकेगी। चुनाव के बाद पार्किंग स्थल विकसित करने के लिए नए सिरे से प्रयास किए जाएंगे। गौरतलब है कि टाउन में पुरानी तहसील की जगह पर पार्किंग स्थल विकसित करने के लिए कलेक्टर ने मंजूरी दे दी थी। इसके तहत परिषद ने तहसील की जर्जर बिल्डिंग का मलबा नीलामी करने के लिए टेंडर लगाए जोकि सिरे नहीं चढ़ पाए।

अभी यह समस्या...दो साल पहले बाजार में वन-वे लागू किया था, पार्किंग स्थल न होने से व्यवस्था नहीं हो पाई
टाउन में प्राकृतिक चिकित्सालय के पास चौक पर, राजीव चौक पर एवं इंदिरा व सुभाष चौक के पास वाहनों की बाजार में ही पार्किंग कराई जा रही है। करीब दो साल पहले परिषद प्रशासन और ट्रैफिक पुलिस ने बाजार में वन-वे लागू किया गया था लेकिन पार्किंग स्थल नहीं होने वन-वे व्यवस्था पूरी तरह से लागू नहीं हो पाई। पार्किंग स्थल विकसित होने से यह व्यवस्था सुचारू हो सकती है। मुख्य बाजार में वर्तमान में चौक-चौराहों के पास सड़कों पर वाहन खड़े रहने से नागरिकों को आवाजाही में परेशानी होती है। इस समस्या से राहत मिल सकेगी।

समस्या के यह दो बड़े कारण
1.शहर में नई बनी मार्केट व कांप्लेक्स में पार्किंग नहीं बनाई गई। नगरपरिषद की ओर से भी पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित किए बिना ही व्यवसायिक निर्माण को मंजूरी देने से समस्या बढ़ी है।

2. शहर में कई आवासीय भवन व्यवसायिक में बदल गए हैं। हैरानी की बात है कि आवासीय भवनों की निर्माण स्वीकृति लेकर व्यवसायिक निर्माण कर लिया गया लेकिन जिम्मेदार अफसरों ने कोई एक्शन नहीं लिया।

पार्किंग स्थल विकसित हो तो स्थाई रूप से हल हो समस्या
दुकानदार कन्हैया सिंधी का कहना है कि पार्किंग स्थल विकसित किए जाने के बाद ही समस्या स्थाई रूप से हल हो सकती है। परिषद को इस पर ध्यान देना चाहिए ताकि दुकानदारों का रोजगार प्रभावित नहीं हो और आमजन की समस्या भी हल हो सके। बार-बार जाम लगने से शहरवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

आयुक्त बोले- चुनाव बाद हल करने का प्रयास
नगरपरिषद आयुक्त राजेंद्र स्वामी का कहना है कि पार्किंग स्थल विकसित किए जाने का प्लान प्रक्रिया में हैं। विधानसभा चुनाव के बाद इस प्लान पर काम शुरू किया जाएगा। समस्या हल करने के हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।

नागरिक बोले- समस्या हल नहीं होने से रोजगार प्रभावित
दुकानदार पवन शर्मा का कहना है कि पार्किंग की समस्या हल नहीं होने से रोजगार प्रभावित हो रहा है। दुकानों के सामने जाम लगने से ग्राहक नहीं आते हैं। वहीं अस्थाई पार्किंग दूर होने से लोग बाजार में आने से कतराते हैं। उन्होंने कहा कि बार-बार जाम लगने से शहरवासियों को परेशानी हो रही है।

खबरें और भी हैं...