10 साल बीते, नहीं सही हुआ निनानिया वितरिका का बैड लेवल,किसान परेशान

Hanumangarh News - इस क्षेत्र की जीवनदायिनी कहलाने वाली निनानिया वितरिका का बैड लैवल सही न होने के कारण किसानों को पर्याप्त मात्रा...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:20 AM IST
Fefana News - rajasthan news 10 years passed not right bad level of ninania distributor farmer troubled
इस क्षेत्र की जीवनदायिनी कहलाने वाली निनानिया वितरिका का बैड लैवल सही न होने के कारण किसानों को पर्याप्त मात्रा में सिंचाई पानी नहीं मिल रहा। किसानों का कहना है कि फेफाना हैड से निनानिया वितरिका के मोघा संख्या एक से लेकर मोघा 14 (रतनपुरा हैड) तक नहर का बैड लेवल सही नहीं है। इस कारण किसानों को निर्धारित पानी नहीं मिल रहा है। क्षेत्र के किसान नहर का बैड लेवल सही करवाने की मांग पिछले दस साल से लगातार प्रधान, विधायक, सांसद, सिंचाई मत्री काे ज्ञापन देकर कई बार कर चुके हैं, परंतु नतीजा ढाक के तीन पात ही रहा। किसानों ने बताया कि नहर में मोघे डेढ़ सौ क्यूसेक पर लगे हुए हैं। नहर में 150 क्यूसेक से कम पानी आने से इन 14 मोघों में प्रवाहित नहीं होता। इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ता है। किसानों का कहना है कि एक महीने में एक या दो सप्ताह पानी आता है। हरियाणा क्षेत्र में राजस्थान के हिस्से का पानी चोरी होने के कारण इस नहर में लगभग 200 क्यूसेक पानी ही पहुंच पाता है, जो मोघों के समांतर होने के कारण खालों में कम प्रवाहित होता है। ये मांग हर आंदोलन में प्रमुख होने के बावजूद सुनवाई नहीं हो रही।

विभाग का मानना, मोघे सही नहीं, रिपोर्ट भेजी है

रकबा अधिक, पानी कम : निनानिया वितरिका के चक 6 केएनएन के किसानों को ज्यादा परेशानी है। इस चक में सिंचित भूमि ज्यादा होने के कारण विभाग ने मात्र 6 मिनट से कम प्रति बीघा के हिसाब से पानी आरक्षित कर रखा है। किसान अमरसिंह खीचड़, बुधराम वर्मा, ओमप्रकाश मेहरड़ा, कालूराम गरूवा, सीताराम निमीवाल इत्यादि का कहना है कि प्रति बीघा बारी कम होने के कारण कृषि भूमि सिंचित नहीं होती। इसलिए विभाग से मोघा नीचा करवाने की मांग की जा रही है।

चौथे दिन भी नहीं बढ़ा पानी : निनानिया वितरिका में पिछले चार दिन से पानी की आवक न बढ़ने से किसानों को पानी से वंचित रहना पड़ रहा है। मंगलवार को विभाग द्वारा वितरिका में 100 क्यूसेक पानी छोड़कर अगले छह घंटे बाद बंद कर दिया गया था। उसके बाद पुन: 125 क्यूसेक से मात्रा बढ़ नहीं रही।

सिंचाई विभाग के एक्सईएन शिवचरण ने बताया कि निनानिया वितरिका के चक छह केएनएन सहित कई अन्य मोघे सही नहीं हैं। इनकी रिपोर्ट भिजवाई गई है। स्वीकृति के बाद इन्हें नीचे कर किसानों को राहत प्रदान की जाएगी।

इधर...वाटरवर्क्स में सफाई न होने के कारण दूषित हो रहा पेयजल

चारणवासी| गांव जसाना के हेड वाटर वर्क्स से जुड़े गांवों के लोगों को शुद्व पेयजल मुहैया करवाने के लिए पूर्व सरकार की योजना के तहत जीर्णोद्धार करवाया गया था। जल स्राेताें के निर्माण के बाद वाटर वर्क्स प्रांगण को साफ-सफाई का इंतजार है। ग्रामीण रमेश बेनिवाल, अशोक कुमार, रामस्वरूप पांडर, रवीश, नरेश कुमार, प्रविंद्र इत्यादि ने बताया कि वाटर वर्क्स प्रांगण घास-फूस से भरा हुआ है। घास-फूस के कारण जल भण्डारण की डिग्गियों का पानी दूषित हो रहा है। आंधी व बरसात के दौरान घास-फूस की गंदगी पानी के साथ जल स्रोतों में जा रही है। ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत से मनरेगा के तहत हेड वाटर वर्क्स प्रांगण की साफ-सफाई करवाने की मांग की है।

Fefana News - rajasthan news 10 years passed not right bad level of ninania distributor farmer troubled
X
Fefana News - rajasthan news 10 years passed not right bad level of ninania distributor farmer troubled
Fefana News - rajasthan news 10 years passed not right bad level of ninania distributor farmer troubled
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना