वनवास में जिन 17 स्थानों पर रुके थे श्रीराम वहां बनेगा कॉरिडोर

Hanumangarh News - जाने-माने इतिहासकार और पुरातत्वशास्त्री अनुसंधानकर्ता डॉ. रामअवतार ने श्रीराम और सीता के जीवन की घटनाओं से जुड़े...

Nov 10, 2019, 07:26 AM IST
जाने-माने इतिहासकार और पुरातत्वशास्त्री अनुसंधानकर्ता डॉ. रामअवतार ने श्रीराम और सीता के जीवन की घटनाओं से जुड़े ऐसे 200 से भी अधिक स्थानों का पता लगाया है जहां श्रीराम और सीताजी वनवास के दौरान रुके थे। इन स्मारकों को कॉरिडोर के रूप में विकसित किए जाने की योजना है। अयोध्या से रामेश्वरम तक पर्यटन का नया नक्शा तैयार किया जा रहा है। अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार राम वन गमन पथ योजना इस तरह है-


















30 साल पहले पैरों केे पंजों से लिया था माप, तब बना मॉडल

दिव्य भास्कर नेटवर्क|अहमदाबाद

अयोध्या में भव्य राम मंदिर का मॉडल तैयार करने वाले गुजरात के चंद्रकांतभाई सोमपुरा का कहना है कि- राम मंदिर निर्माण कार्य एक बार आरंभ होने के ढाई से तीन साल में भव्य मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा। मॉडल तैयार करने में 03 महीने का समय लगा था। हमने दो मॉडल तैयार किए थे। ये दोनों ही मॉडल एक ही साल इलाहबाद में हुए कुंभ मेले में धर्म संसद में प्रदर्शित किए गए थे। मौजूदा मॉडल को तमाम संतों ने सर्वसहमति से स्वीकार किया था। चंद्रकांतभाई सोमपुरा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का फैसला आने के बाद यह बात कही।

सोमपुरा ने बताया- अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में हर दिन आरती-पूजा होती है। लेकिन अंदर कोई चीज-वस्तु साथ में नहीं ले जा सकते। साल 1989 में मैं पहली बार राम मंदिर का मॉडल (डिजाइन) तैयार करने से पहले राम मंदिर के दर्शन को पहुंचा था। मैं मंदिर में करीब 20 मिनट तक रहा। पैरों के पंजों से पैमाइश की इकाई बना कर नाप लिया था। मंदिर का प्लान बनाया था। सोमपुरा ने बताया कि भगवान राम का भव्य मंदिर 270 फुट लंबा, 145 फुट चौड़ा और 141 फुट ऊंचा होगा। 250 स्तंभ होंगे। सभी स्तंभ पर अलग-अलग देवी देवताओं की प्रतिमाएं उकेरी हुई होंगी। गर्भगृह के ऊपर मुख्य शिखर होगा। इसके अलावा आगे के हिस्से में एक गूढ मंडप और एक नृत्य मंडप (शामरणी) होगा। उल्लेखनीय है कि सोमपुरा के दादा ने सोमनाथ मंदिर का डिजाइन तैयार किया था। अयोध्या में मंदिर मॉडल के दर्शन रोज सुबह 7 से शाम 7 बजे तक होते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना