मेरी बॉडी का पोस्टमार्टम मत करना, सारा कुछ छोटी बहन को देना

Hanumangarh News - जंक्शन में शनिवार को अपने बहनोई के घर में एक अधेड़ ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली। मृतक ने आत्महत्या करने से पहले एक...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:30 AM IST
Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
जंक्शन में शनिवार को अपने बहनोई के घर में एक अधेड़ ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली। मृतक ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा, जिसमें आत्महत्या का कारण अकेलापन बताया।

जानकारी अनुसार नारायणचंद राठी पुत्र मोतीलाल राठी निवासी सेक्टर 12 ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए बताया कि उसका साला महावीर प्रसाद करवा (50) पुत्र भानमल महेश्वरी निवासी सरदारशहर कुछ समय पहले उनके पास हनुमानगढ़ आ गया था। वह अकेला था। उसके परिवर में हमारे अलावा कोई नहीं था। महावीर मेरे हाउसिंग बोर्ड स्थित खाली पड़े घर में अकेला ही रहने लगा। शुक्रवार सुबह दूधवाला घर आया तो महावीर प्रसाद बाहर नहीं आया। शाम को फिर दूध वाले ने आवाज लगाई लेकिन घर से कोई आवाज नहीं आई। इसकी सूचना दूधवाले ने पड़ोसियों को दी। पड़ोसियों ने मकान में जाकर देखा तो महावीर प्रसाद कमरे में पंखे से फंदा बना झूल रहा था। पुलिस ने रिपोर्ट के अाधार पर मर्ग दर्ज कर ली।

मेरे मरने के बाद किसी को तंग न किया जाए


मैं अकेलेपन की वजह से अपनी जिंदगी से पूरी तरह से बिखर और टूट चुका हूं। इसी वजह से मैं अपनी मर्जी से अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं। इसमें न तो किसी का हाथ है और न ही किसी का दबाव है। मेरे मरने के बाद किसी को भी परेशान और तंग नहीं किया जाए। मेरे साथ में किसी का भी कोई लेनदेन नहीं है। सिर्फ दूधवाले का चालू माह का हिसाब बाकी है। मेरी आिखरी इच्छा है कि मेरे मरने के बाद मेरा सारा सामान मेरी छोटी बहन सूरज महेश्वरी (सोमानी) जो खाजूवाला में रहती है उसको दे दिया जाए और मेरे मरने के बाद मेरी बॉडी का पोस्टमार्टम नहीं किया जाए। आपका आभारी रहूंगा।

महावीर प्रसाद

पुलिस बोली- मृतक का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया है। मृतक के पास से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें अपनी मर्जी से आत्महत्या करने की बात लिखी गई है। साथ में यह भी बताया गया है कि मेरा किसी से लेनदेन नहीं है। अरविंद भारद्वाज, जंक्शन थाना प्रभारी, हनुमानगढ़

भास्कर अपील...एक कोशिश बचा सकती है किसी की जान

1. यह एहसास करिए कि आप अकेले नहीं हैं: किसी दोस्त या परिजन की ओर हाथ बढा़एं और उससे अपनी भावनाओं के संबंध में बात करें। जब आप किसी से अपनी भावनाओं के बारे में बताते हैं तो उनसे भी पूछिए कि क्या उन्हें भी वैसा महसूस होता है। किसी की ओर बढ़ना और उससे साझेदारी, आपको यह समझने में मदद करेगी कि आप अकेले नहीं हैं।

2. भावनाओं और विचारों का हिसाब रखने के लिए एक डायरी रखनी शुरू करिए: : डायरी से आपको अपनी भावनाओं को समझने में सहायता मिलेगी और यह तनाव कम करने की भी एक अच्छा उपाय है। रोज 20 मिनट लिखने की आदत डालिए। लिखना शुरू करने के लिए आप कैसा महसूस कर रहे हैं या आप क्या सोच रहे हैं या आप किसी अवलंब का भी प्रयोग कर सकते हैं।

3. कुछ गतिविधियों में शामिल हो जाइए: नए मित्र बनाने के लिए आपको बाहर निकलना और गतिविधियों में शामिल होना होगा। किसी खेलों के संगठन में शामिल हो जाइए, कुछ नया सीखे या अपने लोगों में स्वयंसेवा करने लगिए।

महावीरप्रसाद

(सुसाइड नोट)

Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
X
Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
Hanumangarh News - rajasthan news do not post my body do all the little sister
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना