• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Hanumangarh
  • Bhadra News rajasthan news mama bhanja made fdi of account holders of pundusar gram seva cooperative society embezzlement of 2630 lakh will be investigated again

मामा-भांजा ने पांडूसर ग्राम सेवा सहकारी समिति के खाताधारकों की एफडीअार कर किया 26.30 लाख का गबन, दोबारा होगी जांच

Hanumangarh News - भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़ ग्राम पंचायत पांडूसर की ग्राम सेवा सहकारी समिति में 26 लाख 30 हजार रुपए का गबन करने का...

Bhaskar News Network

Oct 05, 2019, 07:55 AM IST
Bhadra News - rajasthan news mama bhanja made fdi of account holders of pundusar gram seva cooperative society embezzlement of 2630 lakh will be investigated again
भास्कर संवाददाता| हनुमानगढ़

ग्राम पंचायत पांडूसर की ग्राम सेवा सहकारी समिति में 26 लाख 30 हजार रुपए का गबन करने का मामला उजागर हुअा है। यह गबन हनुमानगढ़ केंद्रीय सहकारी बैंक की अाेर करवाई गई प्राथमिक जांच में उजागर हुअा है। ग्रामीणाें व बैंक अधिकारियाें के अनुसार गबन राशि अाैर बढ़ने का अनुमान है। इससे बैंक प्रबंधन के हाथ-पांव फूल गए हैं। पीड़ित ग्रामीणाें ने शुक्रवार काे कलेक्टर व बैंक के प्रबंध िनदेशक काे ज्ञापन देकर एफडीअार के नाम पर वसूली गई राशि वापिस दिलाने की गुहार लगाई। ग्राम सेवा सहकारी समिति के व्यवस्थापक बृजलाल पुत्र रामजस धानक व सहायक व्यवस्थापक मक्खन िसंह पुत्र गणेशाराम धानक रिश्ते में मामा-भांजा है। उन्हाेंने वर्ष 2015 में फसली ऋण लेने वाले काश्तकाराें की 5 हजार से 60 हजार रुपए की एक वर्ष के लिए एफडीअार कर दी। अवधि पूरी हाेने पर काश्तकाराें ने एफडीअार की राशि देने के लिए अावेदन किया ताे व्यवस्थापक व सहायक व्यवस्थापक टालमटाेल करने लगे। करीब चार वर्ष बीतने के बाद भी राशि नहीं िमली ताे ग्रामीणाें ने कलेक्टर व हनुमानगढ़ केंद्रीय सहकारी बैंक के अधिकारियाें काे जानकारी दी। बैंक प्रबंधन की अाेर से जांच करवाने पर 35 ऋणी काश्तकाराें से एफडीअार पेटे 70.89 लाख रुपए वसूलने अाैर बैंक में 44.50 लाख रुपए जमा हाेने की जानकारी िमली। शेष 26.30 लाख रुपए का गबन करना पाया गया। बैंक अधिकारियाें ने इसकी खुईयां पुलिस थाने में एफअाईअार दर्ज करवाई गई है। हालांकि ग्रामीण बड़ा घाेटाला हाेने की बात कह रहे हैं। उनका कहना है कि बैंक की अाेर से की गई जांच में 35 किसानाें से वसूली गई राशि का गबन करना बताया गया है, जबकि 67 किसानाें के साथ धाेखाधड़ी हुई है।

एेसे िकया गबन... ऋण स्वीकृत हाेते ही एफडीअार के लिए वसूल लेते राशि, किसानों ने कलेक्टर व एमडी से राशि लाैटाने की लगाई गुहार

व्यवस्थापक व सहायक व्यवस्थापक ग्राम सेवा सहकारी समिति से फसली ऋण लेने वाले िकसानाें काे एफडीअार के लिए बाध्य करते। अगर िकसी किसान का 70 हजार रुपए ऋण स्वीकृत हुअा ताे उसकी 40 हजार रुपए की एफडीअार बनाकर फर्जी दस्तावेज दे देते। ऋण राशि के अनुसार ही किसानाें की फर्जी एफडीअार बनाई जाती। एफडीअार की अवधि पूरी हाेने पर किसानाें ने मामा-भांजा से बात की ताे टालमटाेल करने लगे। किसान हंसराज ने बताया कि उसकी 40 हजार रुपए की एफडीअार की गई। एक वर्ष बाद 43 हजार 200 रुपए िमलने थे, लेकिन अब पता चला कि व्यवस्थापक व सहायक व्यवस्थापक ने ही राशि का गबन कर लिया।

गांव पांडूसर के पीड़ित किसानाें ने शुक्रवार काे जिला परिषद सदस्य मंगेज चाैधरी के नेतृत्व में कलेक्टर व एचकेएसबी के प्रबंध निदेशक से िमलकर गबन के अाराेपियाें के िखलाफ कार्रवाई करने व उनकी राशि लाैटाने की गुहार लगाई। किसानाें ने बताया िक वे व्यवस्थापक से िमलते हैं ताे कहा जाता है कि राशि लाैटा दूंगा, लेकिन चार वर्ष बीतने के बाद उन्हें न्याय नहीं िमल रहा। इस दाैरान किसानाें के प्रतिनिधि मंडल ने मंगेज चाैधरी के नेतृत्व एमडी अमीलाल सहारण से वार्ता की। किसानाें ने गबन राशि वापस िदलवाने, वर्ष 2016 के बीमा क्लेम व फसली ऋण माफी की जांच करवाने की मांग की। इस दाैरान एमडी ने 15 दिवस में पुन: जांच करवाने की बात कही। इस माैके पर भारतीय किसान सभा के तहसील सचिव सुरेश स्वामी, एडवाेकेट रघुवीर वर्मा, भादरराम स्वामी, लादूसिंह राजपूत, रामरख कड़वासरा, रूपाराम कड़वासरा, मनाेहर सिंह राजपूत, हंसराज कस्वां अादि माैजूद थे।

इधर...जनाणा गांव में अवैध रूप से बिना मंजूरी लगाया ईंट भट्ठा, कार्रवाई के बाद शिकायतकर्ता को धमकी

भादरा| जनाणा गांव में अवैध रूप से बिना मंजूरी ईंट भट्ठा शुरू करने वाले घोड़ेला ईंट उद्याेग के संचालक शिवदत्तराम ने अपने रसूख का हवाला देते हुए शिकायतकर्ता ग्राम विकास सुधार सेवा समिति के अध्यक्ष भजनराम ढाका को धमकी दी है। समिति ने भादरा तहसीलदार को एक ज्ञापन सौंपते हुए मामले में कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन में कहा गया है कि जनाणा गांव में चक 2-एमआरएन में शिवदत्त पुत्र दयाराम कुम्हार द्वारा कृषि भूमि में अवैध रूप से ईंट भट्ठा का संचालन किया जा रहा है। समिति ने 20 सितम्बर को खनिज विभाग को शिकायत की थी। जांच के लिए पहुंची टीम ने भट्ठे काे संचालित पाया। इस पर भट्ठा बंद करने के साथ इस पर जुर्माना भी लगाया गया। सूचना के बाद पहुंचे भादरा तहसीलदार जीतूसिंह मीणा ने संचालकों को भट्ठा से सामान उठाने और कुर्की के निर्देश दिए थे। इससे पूर्व हलका पटवारी ने भी इस कृषि भूमि का समपरिवर्तित करवाये बिना मुनं 37, किला नं 10,1,20, मुनं 38 किला नं 6,15 में 1,493 हैक्टर खातेदारी भूमि में अवैध रूप से श्रीराम ईंट उद्याेग के नाम भट्ठा संचालन की रिपाेर्ट दी थी। तत्पश्चात तहसीलदार भादरा ने उपखंड अधिकारी भादरा के समक्ष धारा 177 आरटी एक्ट का आवेदन पत्र पेश किया। जिस पर एसडीएम भादरा ने 5 फरवरी 2018 को इस कृषि भमि को सिवायचक घोषित कर दिया था। इस प्रकार भट्ठा संचालक राजस्व चोरी करते हुए अवैध रूप से लम्बे समय सरकार का चूना लगा रहा है। शिकायतकर्ता समिति अध्यक्ष भजनलाल को शिवदत्त राम ने अपने साथी हरियाणा के विनोद ढाका, अनिल साहू के साथ मिलकर हरियाणा और पंजाब में झूठे मुकदमों में फंसाने की धमकी दी है। समिति अध्यक्ष का कहना है कि प्रशासन और खनिज विभाग के रोकने के बावजूद ईंट भट्ठा संचालक ने पुन: कार्य शुरू कर दिया है। इस संदर्भ में कार्यवाहक उपखण्ड अधिकारी ने बताया कि इसकी जांच करवाई जाएगी।



X
Bhadra News - rajasthan news mama bhanja made fdi of account holders of pundusar gram seva cooperative society embezzlement of 2630 lakh will be investigated again
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना