--Advertisement--

मावठ से रबी फसलों को फायदा, नमी से फैल सकता है गेहूं में रोग, सतर्क रहे

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:00 AM IST

Hanumangarh News - जिले भर में शनिवार रात कहीं तेज तो कहीं रिमझिम बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे। क्योंकि यह मावठ किसानों के लिए...

Hanumangarh News - rajasthan news rabi crops benefit from soil can spread from moisture disease in wheat be cautious
जिले भर में शनिवार रात कहीं तेज तो कहीं रिमझिम बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे। क्योंकि यह मावठ किसानों के लिए किसी अमृत से कम नहीं है। पानी की कमी से भी जूझ रहे किसानों के लिए इस मावठ ने अमृत सामान काम किया है। वहीं सर्दी से फसलों की पैदावार बढ़ने का अनुमान है। वहीं कृषि विभाग ने किसानों को नमी से बचाव की सलाह भी दी है। हनुमानगढ़ में मौसम विभाग नहीं होने के कारण मौसम साइट से ली गई जानकारी के हिसाब से जिले में आने वाले दिनों में तापमान 5 से 22 डिग्री रहेगा। धूप के साथ बादल और बूंदाबांदी भी हो सकती है। वेबसाइट के अनुसार अगर ऐसा ही मौसम रहा तो मावठ के आसार बन सकते हैं। फिलहाल रबी की फसल को सिंचाई के लिए पानी की जरूरत है अगर मावठ आती है तो किसानों के लिए फायदेमंद होगी।

कृषि उपनिदेशक जयनारायण बेनीवाल ने बताया कि जिले में रात में हुई मावठ सभी रबी फसलों के लिए फायदेमंद हैं। इसे एक बारी जितना सिंचाई पानी मिलेगा। हालांकि नमी होने के कारण गेहूं में किसी तरह का रोग आ सकता है। इसलिए किसान सतर्क रहते हुए निरीक्षण आदि समय-समय पर करें।

जिले में बिजाई का गणित

रबी के सीजन में क्षेत्र के किसानों ने गेहूं, सरसों, चना जौ आदि फसलें बो रखी हैं। कृषि उपनिदेशक कार्यालय के अनुसार जिले में गेहूं करीब 2,50,000 हैक्टेयर, सरसों 1,15,000 हैक्टेयर, चना 1,25,000 हैक्टेयर और जौ 16,000 हैक्टेयर में बुवाई हुई है। वहीं सरसों और गेहूं पकाव और बढ़वार की स्थिति में है। ऐसे में यह मावठ काफी हद तक फायदा पहुंचाएगी।

किसानों के मुताबिक मावठ होने पर खेत को लगभग एक बारी पानी जितना लाभ पहुंचा है। सिंचाई पर होने वाला एक टाइम का खर्चा भी बचता है।

भास्कर नॉलेज: किसान हफ्ते में दो बार अपनी फसल का निरीक्षण जरूर करें, येलो रस्ट का हो सकता है खतरा

मावठ एक तरफ जहां फसलों के लिए फायदेमंद हैं। वहीं कृषि विभाग की माने तो मावठ की वजह से वातावरण में नमी भी बढ़ गई है। ऐसे में गेहूं की फसल में येलो रस्ट आने की संभावना भी बढ़ गई है। किसानों को चाहिए की वह हफ्ते में दो बार अपनी फसल का निरीक्षण जरूर करें। गेहूं की एचडी 2851 वैरायटी काफी संवेदनशील होती है। इसीलिए इसके पौधे पर जरूर ध्यान देना चाहिए।

X
Hanumangarh News - rajasthan news rabi crops benefit from soil can spread from moisture disease in wheat be cautious
Astrology

Recommended

Click to listen..