एसडीएम को ज्ञापन देेने पहुंुचे एसएफआई कार्यकर्ता लेने से इनकार किया तो दीवार पर चिपका दिया

Hanumangarh News - भास्कर संवाददाता | नोहर एसएफआई कार्यकर्ता इस घटना के विरोध स्वरूप ज्ञापन देने के लिए नर्बदा देवी राजकीय...

Dec 04, 2019, 11:22 AM IST
भास्कर संवाददाता | नोहर

एसएफआई कार्यकर्ता इस घटना के विरोध स्वरूप ज्ञापन देने के लिए नर्बदा देवी राजकीय महाविद्यालय से नारेबाजी करते हुए उपखण्ड कार्यालय पंहुचे। उपखण्ड अधिकारी द्वारा ज्ञापन नहीं लेने से नाराज एसएफआई कार्यकर्ताओं ने उपखण्ड कार्यालय के आगे जमकर नारेबाजी की व ज्ञापन की प्रति दीवार पर चस्पां की। छात्र संघ अध्यक्ष अजय सहू ने बताया कि लोकतात्रिक प्रणाली में ज्ञापन न लेना हिटलरशाही दिखाता है। इस मौके पर अरविन्द कुमारी, सुमित्रा, स्मेस्ता, सोमपाल, सुप्रिया, प्रियंका, विनोद मीणा, विकास न्यौल, अनील श्योराण, पार्वती, पूजा लखोटिया, माया भाकर, राजीव, रविन्द्र, महासचिव अजय कस्वां आदि उपस्थित थे। ज्ञापन देने भारी संख्या में छात्राएं भी पहुंची।

भादरा| एसएफआई ने मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर हैदराबाद में डॉ. प्रियंका रेडी, टोंक में 6 साल की मासूम बच्ची व चूरू के सरदारशहर की 4 साल की बच्ची के साथ रेप व हत्या की घटना को अंजाम देने वाले दोषी दरिंदों को फांसी की सजा देने की मांग की। इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने भा दरा के राजकीय महाविद्यालय में आमसभा कर दो मिनट का मौन धारण करते हुए रेप पीडि़तों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर अध्यक्ष कवि लांबा, उपाध्यक्ष अभिजीत पूनिया, सयुंक्त सचिव सुभाष भूकर, छात्र संघ अध्यक्ष संदीप पुनियां, मुकेश स्वामी, छात्रसंघ पदाधिकारी रवि मील, रोहताश पूनिया, शुभम, अंकित कुमार, प्रवीण, मनदीप गोदारा, ओमप्रकाश, रामकिशन बेनीवाल, सोनू खान, नवीन कुमार, अशोक, सुरेश आदि मौजूद थे।

परलीका| हैदराबाद में डॉ. प्रियंका रेडी के साथ हुए दुष्कर्म एवं निर्मम हत्या के मामले में आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग को लेकर गांव की सरिया धर्मशाला में संचालित आदर्श लाइब्रेरी में गांव के नवयुवकों ने तथा युवा एकता मंच के सदस्यों ने मिलकर कैंडल मार्च किया। डॉ. प्रियंका रेड्डी को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। इसमें गांव के नौजवान युवाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। उन्हाेंने कहा कि दिन-प्रतिदिन महिलाओं के साथ बलात्कार और हत्या जैसी घटनाएं बढ़ रही है। इसलिए सरकार को तुरंत इस विषय में ठोस कदम उठाकर दोषियों को सरेआम फांसी की सजा देनी चाहिए, ताकि ये घटनाएं कम हो सके। इस अवसर पर युवा एकता मंच परलीका के अध्यक्ष सुनील बेनीवाल, राकेश भारती, तपेन्द्र सहारण, राहुल कस्वां, दयानंद, प्रवीण, सलीम, अजय कुमार, पवन, अक्षय आदि के साथ-साथ बड़ी संख्या में बच्चे व युवा मौजूद थे।

परलीका

भादरा

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना