• Hindi News
  • Rajasthan
  • Hanumangarh
  • Rawatsar News rajasthan news teacher conference former mp said desire system will stop policy for transfer of teachers will be made

शिक्षक सम्मेलन; पूर्व सांसद ने कहा-डिज़ायर प्रथा बंद होगी, शिक्षकों के स्थानांतरण की बनेगी नीति

Hanumangarh News - पूर्व सांसद भरतराम मेघवाल ने कहा है कि राज्य सरकार नई स्थानातंरण नीति बनाने जा रही है। इसके प्रावधानों में डिजायर...

Sep 22, 2019, 11:46 AM IST
पूर्व सांसद भरतराम मेघवाल ने कहा है कि राज्य सरकार नई स्थानातंरण नीति बनाने जा रही है। इसके प्रावधानों में डिजायर प्रथा को पूर्णतः बंद किया गया है। इसका सीधा लाभ शिक्षकों को अवश्य मिलेगा। मेघवाल ने शिक्षकों की जायज मांगो को पूर्ण करने के लिए मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत मिलकर अवगत करवाने का भरोसा दिलाया। वे राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के तत्वावधान में शनिवार को जिला शैक्षिक सम्मेलन के समापन समारोह में संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन के दूसरे दिन वक्ताओं ने सत्तारूढ़ राजनीतिक दलों द्वारा किए जा रहे शिक्षा के राजनीतिकरण व निजीकरण में शिक्षक की भूमिका पर व्याख्यान दिया। शिक्षकों की विभिन्न मांगों व संगठन की मजबूती को लेकर खुली चर्चा हुई, जिसमें पुरानी पेंशन योजना लागू करने के लिए प्रदेश स्तर पर आंदोलन करने का निर्णय लिया गया। साथ ही समस्त मांगों का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को प्रेषित किया गया। सम्मेलन में जिला कार्यकारिणी का गठन करते हुऐ महावीर सुथार को जिला सभाध्यक्ष, रामलुभाया तिन्ना को जिलाध्यक्ष, जगदीशप्रसाद को उपाध्यक्ष, ओमप्रकाश नांदेवाल को जिलामंत्री, हंसराम महेरिया को कोषाध्यक्ष, संतोष सुथार को कार्यालय मंत्री, कृष्ण कुमार को संगठन मंत्री, विनोद लहरी को संयुक्त मंत्री तथा हरलाल वर्मा, महावीर नेण, सुरेन्द्र गिला व सुशील पारीक को भी उत्तरदायित्व दिया गया। इसके अलावा संघ की उपशाखा नोहर के वार्षिक चुनाव हुए। इसमें गौरीशंकर सहु को उपशाखा अध्यक्ष चुना गया। इसके अलावा मंत्री भागीरथ अमरोया, संरक्षक जुगलाल खाती, सभाध्यक्ष हनुमान प्रसाद ज्याणी, उप सभाध्यक्ष हनुमान लदोईया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष रजनीश शर्मा, रामजीलाल सुथार, संतलाल ज्याणी, उपाध्यक्ष ख्यालीराम शर्मा, दलीप भोजक, दारासिंह जांगिड़, महिला मंत्री विमला सैनी, संयुक्त मंत्री ओमप्रकाश खटोतिया, कोषाध्यक्ष रमेश कुमार शर्मा, प्रतिनिधि प्राध्यापक पंकज शर्मा को नियुक्त किया गया।

रावतसर

हनुमानगढ़। राजस्थान शिक्षा सेवा प्राध्यापक संघ रेसला का दो दिवसीय जिला स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन शनिवार को संपन्न हुआ। इस दौरान माध्यमिक शिक्षा में स्टाफिंग पैटर्न लागू कर छात्र संख्या के अनुपात में अतिरिक्त व्याख्याताओं के पद सृजित करने, जिले के विद्यालयों में कम से कम 20 प्रतिशत विज्ञान संकाय, व्याख्याता प्रधानाध्यापक समकक्ष पद हैं इसीलिए विभिन्न भर्ती परीक्षाओं व बोर्ड परीक्षाओं में कैडर अनुरूप दायित्व सौंपने, व्याख्याताओं को बीएलओ पर सुपरवाइजर नहीं लगाने, ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी में पारदर्शी प्रक्रिया अपनाने, वाणिज्य संकाय में लेखाशास्त्र विषय में सीबीएसई की तर्ज पर प्रायोगिक परीक्षा का प्रावधान, व्याख्याता-प्रधानाध्यापक समकक्ष पद से प्रधानाचार्य में पदोन्नति संख्यात्मक अनुपात में होने, पुरानी पेंशन लागू करने, प्रधानाचार्य पद पर पदोन्नति में कैडर कंट्रोल 1998 से लागू करने सहित विभिन्न प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार एवं प्रदेश कार्यकारिणी को भिजवाए गए। इस मौके पर संघ जिलाध्यक्ष हरलाल ढाका, जिला मंत्री गुरतेज सिंह, प्रदेश वरिष्ठ महिला उपाध्यक्ष रेखा भादू, प्रदेश संगठन मंत्री विक्रम खीचड़, जिला संगठन मंत्री तरुण अरोड़ा, विजयपाल स्वामी, नरेश महाजन, मनोज सिंघल, प्रदीप गोयल, नरेंद्र सुथार ने संबोधित किया।

पीलीबंगा. राजस्थान शिक्षक संघ (अंबेडकर) के 2 दिवसीय जिला स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन का समापन शनिवार को लग्न पैलेस में हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि विधायक धर्मेंद्र मोची व विशिष्ट अतिथि सीबीईओ हनुमानगढ़ सुखमहेंद्र सिंह, एक्सईएन सिंचाई विभाग हनुमानगढ़ लखपतराय मेहरड़ा, संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष त्रिलोकीनाथ माहोर, संगठन मंत्री श्रीराम रांगेरा, प्रदेश मंत्री धनराज लोहिया व संघ के जिलाध्यक्ष मनसुखजीत सिंह थे अध्यक्षता पालिकाध्यक्ष राजकुमार फंडा ने की। अतिथियों ने डाॅ.भीमराव अंबेडकर के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। संघ पदाधिकारियों ने अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया। राजस्थान शिक्षक संघ अंबेडकर के तहसील अध्यक्ष सुभाष चंद्र बारोलिया ने कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला। प्रदेश उपाध्यक्ष त्रिलोकीनाथ माहोर ने कुक कम हैल्पर्स के मानदेय को ऊंट के मुंह में जीरा के समान बताते हुए कुक कम हैल्पर्स के मानदेय को 10,000 रुपए करने की मांग की। बीएल पारस ने सामाजिक चेतना एवं सामाजिक उत्थान के लिए शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही। मुख्यातिथि विधायक धर्मेंद्र मोची ने कहा कि संगठन में ही शक्ति है। उन्होंने समाज को शिक्षित करने पर बल देते हुए सभी अभिभावकों को अपने विशेषकर बेटियों को शिक्षा दिलाने पर बल दिया। सीबीईओ सुखमहेंद्र सिंह ने सभी वर्गों की एससी/एसटी, ओबीसी व अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को छात्रवृति दिलाने की सरल विधि पर प्रकाश डाला। पालिकाध्यक्ष राजकुमार पुंडा ने डाॅ.भीमराव अंबेडकर की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उनके दिखाए हुए मार्गों पर चलने का आह्वान किया। राजेंद्र मांडिया ने एनपीएस को बंद कर ओपीएस को लागू करने की बात कही। एसीबीईओ पूर्णराम देव ने शिक्षक समस्याओं पर विचार रखते हुए उनके समाधान पर विस्तृत जानकारी दी। प्रधानाचार्य आत्मप्रकाश बालान, लखपतराय मेहरड़ा, लालचंद गुडेसर, पूर्ण राम लाखोटिया, मोहनलाल जिनागल, सत्यदेव राठौड़ व रसूल खान आदि ने भी संबोधित किया। मंच संचालन मुकेश कुमार कायथ व सूरजप्रकाश डाबला ने संयुक्त रूप से किया। अंत में संघ द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

भादरा. आर्य समज भवन भादरा में आयोजित राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ हनुमानगढ़ के जिला स्तरीय सम्मेलन के दुसरे दिन शनिवार को शिक्षकों की विभिन्न समस्याओ एवं छात्र-शिक्षण विषय पर चर्चा की गई। जिला मंत्री सोम सैन ने जिलेभर से आए शिक्षकों की समस्याओं व राजस्थान सरकार द्वारा घोषणा-पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने पर रोष व्यक्त किया गया। भादरा तहसील अध्यक्ष संतलाल सिंवर व मंत्री अशेाक कुमार ने पुरानी पेंशन लागू करने, कुक कम हेल्पर का मानदेय बढ़ाने, शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त करने, वेतन विसंगतियों को दूर करने, विद्यालय में सफाई के लिए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नियुक्ति करने का आग्रह किया। द्वितीय स्तर में जिला इकाई की चुनाव प्रक्रिया में चुनाव अधिकारी रिछपाल व चुनाव पर्यवेक्षक रामस्वरूप ढिल ने नई इकाई के चुनाव के लिए आवेदन आमंत्रित किए। जिला अध्यक्ष हंसराज बिसू व जिला मंत्री सोमसैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पवन सोनी, कोषाध्यक्ष बलजीत सिंह को चुना गया। उपाध्यक्ष जयप्रकाश गोदारा, ओमप्रकाश सुड्डा, विनोद यादव, सतीश सैनी, रूपराम टाक, सुरेन्द्र गोदारा, ओम कालवा कार्यालय मंत्री देवराज, राजपालसिंह को सहमंत्री बनाया गया।

नोहर| राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय): राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) के यहां रामा मैरिज पैलेस में आयोजित दो दिवसीय जिला स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन के दूसरे शनिवार को खुले मंच पर शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं पर विचार-विर्मश किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष कमलेश विश्नोई ने की। इस अवसर पर जिला मंत्री भारत भूषण ने राज्य स्तरीय मांग पत्र पर चर्चा की। प्रदेश प्रतिनिधि बालकिशन भाटी ने बताया कि शिक्षकों की स्थाई स्थानांतरण नीति बनाई जाए, स्टाफिंग पैटर्न में पदों की व्यवस्था सही तरीके से की जाए ,एक मुश्त बजट जारी करने,चुनाव कार्य हेतु बीएलओं के कार्य के लिए राज्य भर में अलग से भर्ती की जाए,नई अंशदायी पेंशन योजना के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू करने, शाला दर्पण कार्य करने के लिए कम्प्यूटर शिक्षक विद्यालय में नियुक्त करने, बालसभाओं का आयोजन विद्यालय प्रागंण में करवाने, बार-बार एक ही कर्मचारी का प्रोबेशन पीरियड न बढ़ाने, शिक्षकों को गैर शैक्षिक कार्यो से पूर्णतया मुक्त रखने, नि: शुल्क पाठ्य पुस्तके मई में एक साथ उपलब्ध करवाने, खेल बजट की अलग से व्यवस्था करने के प्रस्ताव पारित किये गये। इस मौके पर हरीश चंद्र शर्मा, चंद्रशेखर पूनिया, विनोद बैनीवाल, राजेश जोशी, देवीलाल सिधु, संजय गुप्ता दयाराम भाम्भू, महेंद्र मिश्रा, राजेश चोधरी आदि ने विचार रखे। जिला स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन शुक्रवार को उद्घाटन हुआ था। जिसमें सांस्कृतिक मूल्यों को बचाने के लिए शिक्षक की महत्ती भूमिका पर व्याख्यान हुआ। उद्घाटन समारोह में विधायक अमित चाचाण, पूर्व विधायक अभिषेक मटोरिया, पंचायत समिति प्रधान अमरसिंह पूनिया, महंत रामनाथ अवधूत, सीबीईओं कृष्ण कुमार सहु, एसीबीईओ दलीप पारीक, जिलाध्यक्ष कमलेश बिश्रोई, कांग्रेसी नेता सोहन ढि़ल अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

पीलीबंगा

हनुमानगढ़

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना