साैलर पंप लगाने पर सरकार देगी 60% अनुदान, 12 तक किसानों काे जमा करवानी हाेगी मूल पत्रावली

Hanumangarh News - डिग्गी व ट्यूबवैल पर साैर ऊर्जा पंप संयंत्र लगाने वाले किसानों काे सरकार 60 प्रतिशत अनुदान देगी। 40 प्रतिशत राशि...

Dec 04, 2019, 09:35 AM IST
Hanumangarh News - rajasthan news the government will give 60 grant on the installation of sailor pump farmers will have to submit original paper till 12
डिग्गी व ट्यूबवैल पर साैर ऊर्जा पंप संयंत्र लगाने वाले किसानों काे सरकार 60 प्रतिशत अनुदान देगी। 40 प्रतिशत राशि काश्तकारों काे स्वयं खर्च करनी पड़ेगी। हालांकि किसान 30 प्रतिशत राशि का बैंक से ऋण ले सकते हैं। यह लाभ सामान्य श्रेणी में 31 अगस्त 2018 व अनुसूचित जाति-जनजाति की श्रेणी में 15 नवंबर 2019 तक ऑनलाइन आवेदन कर चुके किसानों काे ही मिलेगा। आवेदकों काे मूल पत्रावली 12 दिसंबर तक उद्यान विभाग कार्यालय में जमा करवानी हाेगी। विभाग की अाेर से पात्रता शर्ते पूरी करने वाले किसानों की सूची तैयार कर सरकार काे िभजवाई जाएगी। इसके बाद काश्तकार अनुबंधित कंपनी से साैलर पंप खरीद कर खेताें में स्थापित कर सकेंगे। सरकार िबजली की खपत घटाने के लिए किसानों काे प्राेत्साहित कर रही है। अधिकाधिक साैलर पंप स्थापित हाेने से जहां कृषि कनेक्शनाें के लिए आवेदकों की संख्या कम हाेगी, वहीं िवद्युत खर्च में भी कमी अाएगी। कृषि के लिए कई वर्षाें से आवेदन करने वाले काश्तकारों काे अभी तक विद्युत कनेक्शन नहीं िमल पा रहे हैं। एेसे में सरकार का प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा किसानों काे साैलर पंप लगाने के लिए प्रेरित किया जाए। इसलिए केंद्र व राज्य सरकार की अाेर से 60 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। उद्यान विभाग के अधिकारियाें के अनुसार 31 अगस्त 2018 तक सामान्य श्रेणी में आवेदन करने वाले सभी किसानों काे याेजना का लाभ दिया जाएगा। आवेदकों से मूल पत्रावली 12 दिसंबर तक मांगी गई है।

अब तक िजले में 2930 साैलर पंपाें की हाे चुकी स्थापना

केंद्र व राज्य सरकार द्वारा याेजना शुरू करने के बाद अब तक िजले में 2930 किसान साैलर पंपाें की स्थापना कर चुके हैं। वर्ष 2018-19 में िजले में 609 किसानों ने संयंत्र स्थापित िकए। सबसे अधिक 200 साैर ऊर्जा पंप संयंत्राें की स्थापना संगरिया तहसील क्षेत्र में हुई। भादरा में मात्र 14 किसानों ने ही साैलर पंप लगाए। इसके अलावा हनुमानगढ़ में 102, पीलीबंगा में 93, टिब्बी में 16, रावतसर में 77 व नाेहर तहसील क्षेत्र में 107 किसानों ने साैर ऊर्जा पंप संयंत्राें की स्थापना की। िवभागीय अधिकारियाें के अनुसार साैलर पंप का खर्च बिजली कनेक्शन की अपेक्षा कम अाता है। साथ ही अावश्कता अनुसार काश्तकार कभी भी अपने खेताें में िसंचाई कर सकते हैं।

साैर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने के ये होंगे किसानों को तीन बड़े लाभ




गत वर्ष की तुलना में इस बार साैर ऊर्जा पंप की दर घटने का अनुमान

इस बार साैर उर्जा पंप संयंत्राें की दर घटने का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि अभी तक राज्य सरकार ने दरें िनर्धारित नहीं की है। जानकारी के अनुसार कई कंपनियाें ने सरकार से अनुबंध के लिए कम राशि के टेंडर भरे हैं। एेसे में गत वर्ष की तुलना में दरें 30 प्रतिशत तक कम हाेने की उम्मीद है। गत वर्ष 3 एचपी साैर ऊर्जा पंप लगाने वाले किसानों काे 1 लाख 5 हजार रुपए व 5 एचपी के पंप संयंत्र लगाने वाले काश्तकारों काे 1 लाख 40 हजार रुपए खर्च करने पड़े थे। शेष राशि सरकार की अाेर से अनुदान के रूप दी गई थी।

ये 5 पात्रता पूरी करने वाले किसानों काे मिलेगा लाभ

राज्य सरकार की अाेर से साैर ऊर्जा पंप संयंत्र स्थापना करने वाले किसानों के लिए पांच पात्रता िनर्धारित की गई है। 3, 5 व 7.5 एचपी तक के साैर ऊर्जा संयंत्र के लिए किसान के पास क्रमश: 0.4, 0.75 व 1 हैक्टेयर भूमि हाेनी चाहिए। संबंधित किसान के खेत में डिग्गी या ट॰यूबवैल हाेना जरूरी है। ट॰यूबवैल की गहराई 100 मीटर अावश्यक है। कृषि कनेक्शन नहीं लेने वाले काश्तकारों काे ही इस याेजना का लाभ िदया जाएगा। कृषि िवद्युत कनेक्शन ले चुके काश्तकारों के आवेदन स्वीकार नहीं िकए जाएंगे। इसके अलावा जिन किसानों का कृषि कनेक्शन स्वीकृत हाे चुका है अाैर वे स्वयं की सहमति से िवद्युत कनेक्शन आवेदन काे समर्पित कर देंगे उनकाे भी पात्र माना जाएगा।

पात्रता पूरी करने वाले किसानों काे मिलेगा याेजना का लाभ


X
Hanumangarh News - rajasthan news the government will give 60 grant on the installation of sailor pump farmers will have to submit original paper till 12
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना