Hindi News »Rajasthan »Itawah» विद्यालयों को पीपीपी मोड पर देने का विरोध

विद्यालयों को पीपीपी मोड पर देने का विरोध

शिक्षा समन्वय समिति इटावा के आह्वान पर निजीकरण एवं पीपीपी के नाम पर विद्यालयों को बेचने के खिलाफ कार्यक्रम के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:25 AM IST

शिक्षा समन्वय समिति इटावा के आह्वान पर निजीकरण एवं पीपीपी के नाम पर विद्यालयों को बेचने के खिलाफ कार्यक्रम के अनुसार समिति ने बुधवार को प्रदर्शन कर उपखंड अधिकारी इटावा संजीव कुमार शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। समिति के संयोजक बाबूलाल बलवानी ने बताया कि सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों को पीपीपी मोड पर देने की नीति का घोर विरोध किया। सरकारी स्कूलों का निजीकरण करना सरकार की जनविरोधी नीति को दर्शाता है। इसका खामियाजा सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। आंदोलन की राज्यभर में तैयारी शुरू हो गई है। कार्यक्रमों में शिक्षक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ ही छात्रों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों, अभिभावकों के प्रतिनिधि तथा प्रबुद्ध नागरिकों व जनप्रतिनिधियों ने सक्रिय सहभागिता निभाई। प्रदर्शन के समय शिक्षक संघ शेखावत के अध्यक्ष धनराज मीणा, मंत्री शमीउल्लाह खान, मोहनलाल बैरवा, सूरजमल बैरवा, शमा परवीन, राजेश मेहरा, सत्यनारायण कोली, दिनेश सेन, हेमराज बैरवा, महावीर मीणा, प्रेमचंद मीणा आदि शिक्षक मोजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itawah

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×