Hindi News »Rajasthan »Itawah» 15 साल से कॉलेज का इंतजार कर रहे इटावावासियों को बजट ने किया निराश

15 साल से कॉलेज का इंतजार कर रहे इटावावासियों को बजट ने किया निराश

राज्य के वार्षिक बजट में पीपल्दा विधानसभा के इटावा नगर को कॉलेज की सौगात नहीं मिलने से विद्यार्थियों व क्षेत्र के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 14, 2018, 02:30 AM IST

राज्य के वार्षिक बजट में पीपल्दा विधानसभा के इटावा नगर को कॉलेज की सौगात नहीं मिलने से विद्यार्थियों व क्षेत्र के लोगों को निराशा हाथ लगी हैं। वहीं 15 वर्षों से लगातार क्षेत्र के लोग इटावा में कॉलेज खोलने की मांग करते आ रहे है।

मुख्यमंत्री ने बजट में इटावा को कॉलेज की सौगात नहीं देकर सांगोद विधानसभा क्षेत्र के कनवास कस्बे में कॉलेज खोलने की घोषणा की है जो इस क्षेत्र के विद्यार्थियों के हितों के साथ कुठाराघात हैं। वर्तमान में सांगोद नगर में राजकीय कॉलेज है। वहां से कनवास केवल 22 किलोमीटर दूर है जबकि पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में कही भी कॉलेज नहीं हैं।

पीपल्दा विधानसभा में इटावा व सुल्तानपुर बड़े कस्बे हैं। जहां पर करीब 100 सरकारी व निजी स्कूल सीनियर स्तर तक संचालित हैं। इनमें करीब चार हजार विधार्थी अध्ययन करते है। लेकिन 12 वीं परीक्षा उर्त्तीण करने के बाद क्षेत्र के विद्यार्थियों को इटावा से 80 किमी दूर कोटा उच्च शिक्षा के लिए जाना पड़ता है। इससे विद्यार्थियों व उनके परिजनों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है । हालांकि इटावा में तीन निजी कॉलेज जिनमें एक गर्ल्स कॉलेज भी है । इनमें 1500 विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं । लेकिन निर्धन परिवार के लोग इन कॉलेजों की फीस चुकाने में असमर्थ होने के चलते प्राइवेट विधार्थी के रूप में कॉलेज की परीक्षा देने को मजबूर हैं।

क्षेत्र के लोगों ने कहा कि सरकार के इस कार्यकाल का अंतिम बजट होने के चलते मुख्यमंत्री से क्षेत्र के लोगों को काफी आशा थी कि इस बार इटावा को कॉलेज की सौगात जरूर मिलेगी। लेकिन बजट घोषणा के बाद कॉलेज खोलने की घोषणा में इटावा की अनदेखी करने से क्षेत्र के लोग निराश हैं। इस बारे में पीपल्दा विधायक विद्याशंकर नंदवाना ने बताया कि मुख्यमंत्री को पीपल्दा विधानसभा में राजकीय कॉलेज खोलने को लेकर अवगत करवाते आ रहे हैं। भविष्य में भी मुख्यमंत्री से पीपल्दा विधानसभा में कॉलेज खोलने के लिए लगातार प्रयास किए जाते रहेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itawah

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×