Hindi News »Rajasthan »Itawah» मरम्मत के अभाव में कालीसिंध पर बना एनीकट टूटने के कगार पर

मरम्मत के अभाव में कालीसिंध पर बना एनीकट टूटने के कगार पर

इटावा. सरकार जल संग्रहण व पानी को बचाने के लिए करोड़ों रुपए की योजनाएं बनाकर कार्य कर रही है। लेकिन प्रशासन की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 18, 2018, 03:05 AM IST

इटावा. सरकार जल संग्रहण व पानी को बचाने के लिए करोड़ों रुपए की योजनाएं बनाकर कार्य कर रही है। लेकिन प्रशासन की अनदेखी के चलते कोटा जिले के इटावा उपखंड क्षेत्र में ढ़ीपरी व बड़ौद के यहां कालीसिंध नदी पर बना एनिकट लंबे समय अरसे से मरम्मत नहींं होने के कारण जर्जर व क्षतिग्रस्त हो गया है।

प्रशासन ने इस एनिकट की सार संभाल तक नही ली है। इसके चलते मरम्मत के अभाव में अब एनिकट टूटने के कगार पर खड़ा है। इससे कालीसिंध नदी में हर वर्ष संग्रहण होने वाला लाखों गैलन पानी व्यर्थ बह जाता है। तथा इससे जहां भूमिगत जल स्तर में भी गिरावट आती है। इस एनिकट को बचाने को लेकर सरकार व प्रशासन प्रयासरत नजर नहीं आ रहे है। इसके चलते इससे जुड़े सैकड़ों गांवों के लोग भी इसको लेकर चिंतित है।

कालीसिंध नदी में ढ़ीपरी के यहां नई पुलिया निर्मित हो गई थी। इसके बाद पूर्व सरकार ने इस नदी में पुरानी पुलिया के मोखों को बंद कर इसको एनिकट बना दिया। इसके बनने के बाद से सीसवाली, बड़ौद व ढ़ीपरी कालीसिंध सहित इनसे सैकड़ों गांवों में पानी का भूमिगत स्तर काफी नीचे था। इस एनिकट बनने के बाद अब भूमिगत जल स्तर बढ़ने से लोगों को काफी राहत मिली है। लेकिन जल्द ही क्षतिग्रस्त एनिकट की मरम्मत नहीं हुई तो यह पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो जाएगा।

इटावा. कालीसिंध नदी के जर्जर एनीकट से बहता पानी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itawah

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×