Hindi News »Rajasthan »Itawah» पथ संचलन परंपराओं का निर्वहन नहीं, प्रतिज्ञा को आत्मसात करने का माध्यम है : पृथ्वी सिंह

पथ संचलन परंपराओं का निर्वहन नहीं, प्रतिज्ञा को आत्मसात करने का माध्यम है : पृथ्वी सिंह

नगर में जोलपा मार्ग बड़ा फील्ड ग्राउंड से पथ संचलन शुरू हुआ। पथ संचलन निकलने से पूर्व ही पूरा नगर केसरिया रंग में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 05, 2018, 04:00 AM IST

पथ संचलन परंपराओं का निर्वहन नहीं, प्रतिज्ञा को आत्मसात करने का माध्यम है : पृथ्वी सिंह
नगर में जोलपा मार्ग बड़ा फील्ड ग्राउंड से पथ संचलन शुरू हुआ। पथ संचलन निकलने से पूर्व ही पूरा नगर केसरिया रंग में डूबा था। पथ संचलन में छोटे बच्चों से लेकर बुजुर्गों ने तक उत्साह से भाग लेकर अपने राष्ट्रप्रेम को उजागर किया। विहिप, बजरंगदल, दुर्गावाहिनी सहित कई हिंदू संगठनों के पदाधिकारियों ने पथ संचलन को भव्य बनाने के लिए काफी प्रयास किए। रविवार दोपहर 2 बजे पथ संचलन जोलपा मार्ग बड़ा फील्ड से शुरू घोष वादक के साथ शुरू हुआ, जो नगर के प्रमुख मार्गो से होकर गुजरा।

नगर में वर्ष 2012 में ऐसा पथ संचलन निकला था, 6 वर्ष की लंबी अवधि के बाद ये नजारा 4 फरवरी रविवार को फिर से देखने को यहां मिला। गांधी चौक, गायत्री चौराहा, एचपी गैस एजेन्सी, गांधी चौक, तहसील रोड, गणेशजी की छतरी, कोलियों का बड़, न्यायालय तिराहा, गायत्री चौक, राजकीय चिकित्सालय, पशु चिकित्सालय से होते हुए इसका समापन 3 बजकर 10 मिनट पर बड़ा फील्ड ग्राउंड में पहुंचा। इसके बाद महाराव भीमसिंह स्टेडियम सांगोद में विहिप ब्यावर सहप्रमुख एवं एकल विद्यालय अभियान प्रांत मंत्री पृथ्वी सिंह का उद्बोधन हुआ। गांधी चौराहा पर गांधी चौके के राजा नवयुवक मंडल, बपावर मार्ग पर पार्षद अरविंद चौरसिया, वरिष्ठ भाजपा नेता चन्द्र प्रकाश सोनी सहित कई हिंदू संगठनों से जुड़े पदाधिकारियों व व्यापारियों ने पथ संचलन में शामिल संघ कार्यकर्ताओं पर पुष्पवर्षा कर गर्म जोशी से स्वागत किया। पथ संचलन में पालिकाध्यक्ष देवकीनंदन राठौर, कोटा भूमि विकास बैंक कोटा वाइस चेयरमैन दिलीप गर्ग, पार्षद प्रदीप सोनी, महावीर सुमन ने भी पूरी गणवेश धारण कर भाग लिया। बड़ा फील्ड ग्राउंड में विहिप ब्यावर परियोजना सह प्रमुख के डॉ पृथ्वी सिंह ने कहा कि परंपराओं का निर्वहन करने के लिए हम पथ संचलन नहीं निकालते, प्रतिज्ञाओं को पूरा करने के लिए ये निकाला जाता है। मानव मात्र का कल्याण हो ये हमारी विचारधारा होनी चाहिए, लेकिन कुछ ताकतें इस विचारधारा को मिटाने में लगी हैं, ऐसे राक्षसों से लड़ने के लिए हमें एक जाजम पर आना होगा। मृात भूमि की रक्षा के लिए हमें आगे आना होगा, देश के अंदर परिस्थितियां बदलती जा रही हैं। कश्मीर की घाटी में आतंकवाद पनप रहा है, हमारे सैनिक ऐसी ताकतों से संघर्ष कर उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं, उन्होंने कहा कि समाज को एकजुट होकर ऐसी ताकतों को सृजन शक्ति से जवाब देने के लिए तैयार रहना चाहिए, तभी ये ताकते झुक पाएंगी। हिंदू धर्म की रचना स्वयं भगवान ने की है, इस धर्म की रक्षा हम सभी को करनी है। उन्होंने इस मौके पर आव्हान किया कि 18 फरवरी को बपावरकलां में भव्य पथ संचलन निकला जाएगा। इसमें भी अच्छी संख्या में भाग लेने की अपील की। इस मौके पर आरएसएस के देवीलाल सुमन, लटूरी गोशाला के रामनाथ, प्रधानाचार्य रामकल्याण जैलिया आदि मौजूद थे।

जयघोष के साथ निकला स्वयंसेवकों का पथ संचलन

इटावा .
नगर में आरएसएस खंड इटावा की ओर से रविवार को विशाल उमंग पथ संचलन 2018 का आयोजन हुआ। जिसमें स्वयंसेवकों ने उत्साह से भाग लिया तथा संचलन का जगह जगह नगर वासियों द्वारा पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। तेजाजी स्टेडियम इटावा ग्राउंड में स्वयंसेवकों का एकत्रीकरण हुआ जहां से दोपहर एक बजे भारतमाता की जय के नारों के साथ पथ संचलन प्रारंभ हुआ, जो खातोली रोड, सरोवर नगर, रामलीला मैदान, पुराना बाजार, कोटा रोड, त्यागी नगर, गेता रोड से इटावा नगर के मुख्य चौराहों से गुजरता हुआ इटावा कृषि उपज मंडी प्रांगण पहुंचा संचलन का इटावा नगरवासियों ने पूरे इटावा शहर को भगवा रंग में रंग दिया था और संचलन मार्ग में जगह जगह पुष्प वर्षा कर, रंगोलियां सजाकर व स्वागत गेट सजाकर भारत माता की जय, वंदेमातरम के जयकारों के साथ अभिनंदन किया।

समाज को संगठित होना पड़ेगा

संचलन के बाद आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए रामशंकर शर्मा सामाजिक कार्यकर्ता ढिपरी चंबल ने कहा कि राष्ट्र को परम वैभव पर ले जाने के लिए संपूर्ण हिन्दू समाज को संगठित होना पड़ेगा, समय समय पर इस प्रकार के आयोजन समाज में जागृति पैदा करते हैं। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए विभाग प्रचारक कोटा विकास राज ने स्वयंसेवकों व सभी उपस्थित बंधुओं को मार्गदर्शन के दौरान कहा कि हमारे देश की उन्नति को देखते हुए विदेशी ताकते सामाजिक ताने बाने को ध्वस्त करने में लगी हुई है जिससे हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है। आरएसएस पर जब जब प्रतिबंध लगा तो स्वयंसेवकों की राष्ट्र निष्ठा पर बेबुनियाद लगाए प्रतिबंधों को न्यायालयों द्वारा क्लीन चिट दी गई जब जब संघ को दबाया गया उतना ही संघ अधिक सशक्त बनकर राष्ट्र हित को आगे बढ़ा। लार्डमैकॉले की शिक्षा पद्धति के कारण समाज का पाश्चात्यकरण हो गया है जिसे आज राष्ट्र हित में बदलने की आवश्यकता है। हिन्दू समाज को समृद्ध करने के लिए एक कुआं, एक श्मशान एक मंदिर की परंपरा को अपनाने की आवश्यकता है। इनके अभाव में समाज में समरूपता का अभाव है जो सशक्त हिन्दू समाज के लिए चिंतनीय है। खंड बौद्धिक प्रमुख माणकचंद मीणा ने कार्यकर्ताओं, पुलिस प्रशासन का आभार व्यक्त किया गया। पंथ संचलन के दौरान डीएसपी भोजराज सिंह, थानाधिकारी संजय रॉयल, खातौली थानाधिकारी विष्णु सिंह सहित काफी संख्या में पुलिस बल सुरक्षा व्यवस्था में तैनात रहा। इस अवसर पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष रिंकू सोनी के नेतृत्व में एसटी मण्डल अध्यक्ष मुकुट बिहारी मीना, जिला उपाध्यक्ष शिव मंगल, जिला संयोजक रिंकू आर्य, शुभम् सोनी, पिपल्दा अध्यक्ष होमदत्त कमरोलिया, दिनेश सेन, रामेश्वर गुर्जर आदि ने स्वागत किया इसी तरह नगर पालिका की और से भी संचलन का स्वागत किया गया। इस दौरान संचलन में 573 स्वयंसेवकों ने भाग लिया। वही इस संचलन को देखने के लिए जहां से गुजरा वहां लोगो की भीड़ दिखाई दी।

सांगोद . नगर के मुख्य मार्गों से होकर अनुशासित तरीके से घोष वादन के बीच पथ संचलन निकालते हुए।

इटावा . पथ संचलन में शामिल आरएसएस कार्यकर्ता।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
Web Title: पथ संचलन परंपराओं का निर्वहन नहीं, प्रतिज्ञा को आत्मसात करने का माध्यम है : पृथ्वी सिंह
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Itawah

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×