Hindi News »Rajasthan »Itawah» प्रदेश के हर किसान का 50 हजार का कर्जा माफ करे सरकार, समस्याओं का निस्तारण हो

प्रदेश के हर किसान का 50 हजार का कर्जा माफ करे सरकार, समस्याओं का निस्तारण हो

इटावा| प्रदेश के किसानों की समस्याओं को लेकर विधानसभा घेराव के लिए जयपुर कूच कर रहे प्रदेश के किसानों की गिरफ्तारी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 22, 2018, 05:10 AM IST

इटावा| प्रदेश के किसानों की समस्याओं को लेकर विधानसभा घेराव के लिए जयपुर कूच कर रहे प्रदेश के किसानों की गिरफ्तारी के विरोध में अखिल भारतीय किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को रैली निकालते हुए अंबेडकर सर्किल पर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का पुतला फूंका।

सचिव मुकट जंगम व कमल बागड़ी ने बताया कि इसके विरोध में किसान सभा इटावा के कार्यकर्ताओं द्वारा बुधवार दोपहर को गेंता रोड से अंबेडकर सर्किल तक रैली निकाली व अंबेडकर चौराहें पर प्रदर्शन किया। इस दौरान किसान नेताओं ने सरकार को चेतावनी देते हुये कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा 13सितंबर के समझोते के तहत हर किसान का 50 हजार का कर्ज माफ करने का वादा पूरा नही किया गया और गिरफ्तार किए गए किसानो को रिहा नहीं किया तो किसान सभा द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा। कमल बागड़ी, लक्ष्मीनारायण मीणा, फजर मोहम्मद, नगेंद्र नायक, कालूलाल बैरवा, अमोलक चंद मौजूद थे।

इटावा. मुख्यमंत्री का पुतला फूंकते किसान सभा के कार्यकर्ता ।

जनप्रतिनिधियों व किसानों पर दर्ज मामले वापस लिए जाएं

इटावा. पंचायत समिति इटावा की प्रधान सरोज मीणा, उपजिला प्रमुख मनोज शर्मा आदि ने बुधवार को कोटा जिला कलक्टर को ज्ञापन भेजकर किसानों की मांगों को लेकर जनप्रतिनिधियों व किसानों पर पुलिस द्वारा दर्ज किए मामले को वापस लेने की मांग की है। उन्होंने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि जनतंत्र में किसानों की वाजिब मांग करना भी वाजिब नहीं हैं किसान पानी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन किसानों की मांगों को अनसुना कर प्रशासन झूठा मुकदमा दर्ज कर जनप्रतिनिधियों व किसानों को परेशान कर रही हैं उन्होंने कहा कि अगर झूठे मुकदमों को वापस नहीं लिया गया तो पीपल्दा क्षेत्र के किसान इसके विरोध में जेल भरो आंदोलन करेंगे।

शिक्षक संघ ने भी की गिरफ्तारी की निंदा

इटावा. राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत ने अपनी जायज मांगो को लेकर आंदोलनरत राज्य के किसान नेताओं को गिरफ्तार करने पर कड़ी आलोचना करते हुए इसे सरकार की बौखलाहट बताया। जिला मंत्री अशोक लोदवाल ने बताया कि शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे किसान नेताओं की गिरफ्तारी से सरकार का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है। नौजवानों मजदूरों, शिक्षकों तथा कर्मचारियों के साथ सरकार द्वारा किये जा रहे सलूक से स्पष्ट हो गया है कि यह सरकार जन विरोधी है। शिक्षक नेताओ ने किसान नेता अमराराम, पेमाराम, हेतराम बेनीवाल सहित गिरफ्तार किए गए सभी किसान नेताओ को अविलंब रिहा करने किसानो का कर्ज माफ करने व फसलों का उचित मूल्य भुगतान कराने की व्यवस्था करने की मांग की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itawah

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×