इटावाह

--Advertisement--

खेतों में नौलाइयां जलाई तो किसान के खिलाफ होगी कार्रवाई

इटावा| उपखंड क्षेत्र में खेतों में किसानों खड़े डंठलों को जलाने का सिलसिला बेरोकटोक जारी है। गर्मी का मौसम ऊपर से...

Dainik Bhaskar

Apr 22, 2018, 02:50 AM IST
खेतों में नौलाइयां जलाई तो किसान के खिलाफ होगी कार्रवाई
इटावा| उपखंड क्षेत्र में खेतों में किसानों खड़े डंठलों को जलाने का सिलसिला बेरोकटोक जारी है। गर्मी का मौसम ऊपर से तेज हवा कहीं भीषण आगजनी की घटना को अंजाम नहीं दे दे। इन दिनों किसानों द्वारा खेतों में खड़ी नौलाइयाें को जलाया जा रहा है। अभी खेतों में तो कोई फसलें जलने योग्य नहीं है किंतु कई खेतों के आसपास मकान बने होने से कोई गंभीर हादसा घट सकता है । इसके लिए प्रशासन को सावचेत होने की जरूरत है। वहीं प्रशासन भी नौलाइयों को जलाने पर सख्त हो चुका है। अब खेतों में नौलाइयां जलाने पर किसान के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्र में बुधवार रात को भी मुंगेना, डोरली क्षेत्र के खेतों में अचानक नौलाइयों में आग लग गई। इसको बुझाने में ग्रामीणों व कोटा से आई दमकलों को आठ से दस घंटे लगे तब जाकर नौलाइयों की आग पर काबू पाया जा सका। क्षेत्र में इन दिनों आए दिन खेतों में नौलाइयां जलाई जा रही है, ताकि खेत को हांककर उपजाऊ बनाया जा सके। क्षेत्र में जागरूकता व अंकुश के अभाव में आज भी क्षेत्र में खेतों में खड़े डंठलों को जलाने का सिलसिला जारी है। इटावा कृषि पर्यवेक्षक विजय मीणा, बुद्घिप्रकाश मीणा ने बताया कि नोलाईयों को जलाने से किसान को कोई फायदा नहीं मिलता। किसान स्वयं का नुकसान कर रहा है । वर्तमान में नोलाईयेां से भूसा बनाने की मशीनें आ चुकी है । इससे किसान नोलाईयों का भूसा बनवा कर उसके दाम हासिल कर सकता है। नोलाईयों को जलाने से आगजनी के साथ ही खेतों में रहने वाले मित्र कीट मर जाते है जिससे खेत बंजर होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसा ही चलता रहा तो आने वाले सालों में खेतों के उत्पादन की क्षमता में कमी देखी जा सकती है।

इटावा तहसीलदार मोहनलाल प्रतिहार ने बताया कि नौलाईयों में आग लगाने से किसान स्वयं के साथ पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचा रहा है। आग लगने से प्रदूषण फैलने के साथ ही सैकंडों वृक्ष आग की भेंट चढ़ जाते है और दूसरे ग्रामीणों व किसानों को भी नुकसान पहुंचाते है । पीपल्दा तहसीलदार मोहनलाल प्रतिहार ने बताया कि फसल कटने के बाद किसानों द्वारा खेतों में बची हुई नौलाइयों में आग लगा दी जाती है, जिससे आगजनी का खतरा बढ़ जाता हैं व पूर्व में भी क्षेत्र में ऐसी कई घटनाओं से नुकसान हो चुका हैं। इसको लेकर राज्य सरकार द्वारा विशेष दिशा निर्देश जारी किए गए हैं जिसमें अब खेतों में आग लगाने पर पुलिस व प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी।

इटावा. क्षेत्र के एक खेत में जलती नौलाइयां।

X
खेतों में नौलाइयां जलाई तो किसान के खिलाफ होगी कार्रवाई
Click to listen..